• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

मलाला युसूफजई ने कश्‍मीर पर किया ट्वीट तो मोहनदास पई बोले, हिंदू लड़कियों पर क्‍यों चुप रहती हो, शर्म करो

|

नई दिल्‍ली। इंफोसिस के पूर्व को-फाउंडर रहे मोहनदास पई ने नोबेल पुरस्‍कार विजेता मलाला युसूफजई को कश्‍मीर पर दिए बयान पर फटकार लगाई है। मलाला ने ट्वीट करके बयान जारी किया था और कहा था कि उन्‍हें कश्‍मीर के हालातों को लेकर चिंता होती है। पई ने मलाला से सवाल किया है कि वह पाकिस्‍तान में हिंदु लड़कियों के साथ हो रहे बर्ताव पर चुप क्‍यों रहती हैं। मलाला को हालांकि ट्विटर पर उनके बयान के बाद खासी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।

'दोहरा चरित्र शर्मनाक है आपका'

पई न‍े ट्वीट करते हुए मलाला से कड़े शब्‍दों में सवाल किया और लिखा, ,'क्‍या दोहरा चरित्र है, शर्मनाक। मलाला, तुम कभी भी पाकिस्‍तान की उन हिंदू लड़कियों के लिए क्‍यों नहीं आगे आई, जिनका अपहरण हो जाता है, ब्‍लात्‍कार होता और जबरन धर्मांतरण से गुजरना पड़ता है। लेकिन अब ऐसी टिप्‍पणियां कर रही है।' पई ने इसके बाद मलाला को भारत के बारे में बात न करने की सलाह भी दी। उन्‍होंने लिखा, 'प्‍लीज भारत के बारे में बात न करे, आपके चुनिंदा एकतरफा और दोहरे मानदंडों के बारे में हर कोई जानता है।'

कश्‍मीर पर क्‍या बोली थीं मलाला

कश्‍मीर पर क्‍या बोली थीं मलाला

नोबेल पुरस्कार विजेता और पाकिस्तानी कार्यकर्ता मलाला यूसुफजई ने कश्मीर को लेकर बयान जारी किया था। उन्होंने ट्वीट के साथ एक नोट शेयर किया है, जिसमें कश्मीर के मुद्दे पर अपना पक्ष रखा है। उन्होंने कहा, 'वो कश्मीर के बच्चों और महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं।' कश्मीर के लोग तब से संघर्ष में रह रहे हैं जब मैं एक बच्ची थी, जब मेरे माता-पिता भी बच्चे थे, यही नहीं जब मेरे दादा-दादी युवा थे। करीब सात दशक से कश्मीर के बच्चे हिंसा में पल और बढ़ रहे हैं।'

साउथ एशिया को बताया अपना घर

मलाला ने आगे लिखा था, ' मुझे कश्मीर की चिंता है क्योंकि साउथ एशिया मेरा घर है। एक ऐसा घर जहां 1.8 बिलियन लोग रहते हैं, जिनमें कश्मीरी भी शामिल हैं। हम अलग-अलग संस्कृति, धर्म, भाषा, खानपान और परंपराओं को मानते हैं। मैं मानती हूं कि हम सब इस दुनिया में एक-दूसरे से मिले तोहफों की कद्र कर सकते हैं, एक-दूसरे से बहुत अलग होते हुए भी इस विश्व के लिए कुछ कर सकते हैं।'

आपको तटस्‍थ रहना चाहिए

आपको तटस्‍थ रहना चाहिए

एक यूजर ने लिखा, 'मलाला अगर आप नोबेल पुरस्‍कार विजेता हैं तो फिर आपको तटस्‍थ रहना चाहिए।' इस यूजर के मुताबिक मलाला को ग्राउंड रियल्‍टी देखनी चाहिए और इस तरह से प्रतिक्रिया देकर वह खुद को एक लूजर साबित कर रही हैं। मलाला पहले भी कश्‍मीर का जिक्र कर चुकी हैं और हर बार उन्‍हें आलोचना का शिकार होना पड़ता है।

English summary
Infosys former co-founder Mohandas Pai has slammed Malala Yusufzai for talking about Kashmir and article 370.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X