• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बिना हेलमेट कार्यकर्ता के साथ स्कूटी पर पहुंची थीं प्रियंका गांधी, ट्रैफिक पुलिस ने घर भेजा चालान

|

लखनऊ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और उनके कार्यकर्ता को बिना हेलमेट के स्कूटी चलाना महंगा पड़ गया है। उत्तर प्रदेश की ट्रैफिक पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ता के घर बिना हेलमेट के स्कूटी चलाने के जुर्म में 6100 रुपये का चालान भेजा है। बता दें कि शनिवार को नागरिकता कानून के विरोध में गिरफ्तार हुए पूर्व आईपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी के परिवार वालों से मिलने पहुंची थी। इस दौरान उनकों कांग्रेस कार्यकर्ता की स्कूटी पर बैठकर सफर करना पड़ा था।

    CAA PROTEST: बिना हेलमेट पहने Scooty पर बैठी थीं Priyanka Gandhi, Lucknow Police ने काटा चालान
    ट्रैफिक पुलिस ने काटा चालान

    ट्रैफिक पुलिस ने काटा चालान

    गौरतलब है कि, नागरिकता कानून को लेकर उत्तर प्रदेश में हुए विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस की महिला कार्यकर्ता सदफ और पूर्व आईपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी की गिरफ्तारी के बाद प्रियंका गांधी ने राज्य की बीजेपी सरकार पर हमला बोला है। शनिवार को वह सदफ और एसआर दारापुरी के परिवार वालों से मिलने पहुंची कांग्रेस महासचिव को पुलिस ने बीच में ही रोक लिया और आगे जाने से मना कर दिया। रोके जाने के बाद प्रियंका ने कांग्रेस कार्यकर्ता की स्कूटी पर बैठकर कुछ दूरी तक का सफर तय किया।

    प्रियंका गांधी ने पुलिस पर लगाया था ये आरोप

    प्रियंका गांधी ने पुलिस पर लगाया था ये आरोप

    अब रविवार को ट्रैफिक पुलिस ने ड्राइविंग करने के दौरान हेलमेट न पहनने पर स्कूटी चालक के खिलाफ कार्रवाई की है। पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ता के घर 6100 रुपये का चालान भेज दिया है। बता दें कि शनिवार को प्रियंका गांधी ने यूपी पुलिस पर बदतमीजी करने का भी आरोप लगाया था। प्रियंका इस दौरान पुलिस के रवैये से काफी खफा दिखीं। उन्होंने कहा- उप्र पुलिस की ये क्या हरकत है। हम लोगों को कहीं भी आने जाने से रोका जा रहा है। मैं रिटायर्ड पुलिस अधिकारी और अंबेडकरवादी सामाजिक कार्यकर्ता एस आर दारापुरी के घर जा रही थी। उप्र पुलिस ने उन्हें एनआरसी और नागरिकता कानून का शांतिपूर्वक विरोध करने पर घर से उठा लिया है।

    रविवार को प्रियंका गांधी ने साधा निशाना

    प्रियंका गांधी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक पोस्ट शेयर किया है जिसमें उन्होंने कहा कि सदफ पर बेबुनियाद आरोप लगाकर जेल में डाल दिया है। उन्होंने लिखा कि, उप्र सरकार ने अमानवीयता की सारी हदें पार कर दी हैं। कांग्रेस की कार्यकर्ता सदफ जफर साफ-साफ वीडियो में पुलिस से हिंसा फैलाने वाले लोगों को गिरफ्तार करने की बात कह रही हैं। पुलिस ने सदफ पर बेबुनियाद आरोप लगाकर जेल में डाल दिया है। कांग्रेस नेता ने आगे लिखा कि सदफ के दोनों बच्चे अपनी मां की रिहाई का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Priyanka Gandhi reached Scooter without helmet worker traffic police cut 6100 challan
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X