• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

दो परिवारों के समर्थन से कोविड-19 को पुलिस अधिकारी ने दी मात, कहा- एक खाकी में और एक घर पर

|

पुणे। कोरोना वायरस (कोविड-19) से देश में बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हुए हैं, इनमें कई पुलिस अधिकारी तक शामिल हैं। ऐसे ही एक सब इंस्पेक्टर भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे, जो अब बिल्कुल ठीक हो चुके हैं। जब वह बुधवार को अस्पताल से अपना इलाज करवाकर लौटे तो एक ब्रीफ सेरेमनी के दौरान पुलिस स्टेशन के परिसर में उनपर फूल बरसाए गए। इसके बाद वह 14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन के लिए गए।

कोरोना वैक्सीन: ऑक्सफोर्ड ही नहीं, ये 6 वैक्सीन भी पहुंच चुकी हैं थर्ड फेज के ट्रायल में

coronavirus, maharashtra, pune, police officer, pune police officer, covid19, covid-19, pune police personnel beats coronavirus, police officer beats coronavirus, covid 19 police officer, coronavirus positive police, कोरोना वायरस, महाराष्ट्र, पुणे, पुलिसकर्मी, पुणे पुलिस अधिकारी, कोविड-19, कोविड19, पुणे पुलिस अधिकारी कोरोना वायरस, पुलिस अधिकारी कोविड19, कोविड-19 पुलिस, कोरोना वायरस पुलिस, कोरोना वायरस संक्रंमित पुलिस अधिकारी

33 वर्षीय सब इंस्पेक्टर ने कहा, 'मैंने ये सीखा है कि एक पुलिसकर्मी होने के नाते अगर हम लोगों की सेवा करना चाहते हैं तो हमें अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। मुझे अपने दो परिवारों के समर्थन से ताकत मिली, एक परिवार घर पर और एक परिवार खाकी में।' पीएसआई को 18 मई को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। बुधवार तक महाराष्ट्र के पुणे शहर में कोरोना वायरस से संक्रमित पुलिस कर्मियों की संख्या 33 हो गई है।

इनमें से 20 ठीक हो चुके हैं जबकि दो की मौत हो गई है। पूरे राज्य में वायरस से संक्रमित पुलिस कर्मियों की संख्या 1964 है। इनमें से 849 ठीक हो चुके हैं जबकि 20 की मौत हो गई है। इस सब इंस्पेक्टर ने भी शहर के कई कोरोना वायरस से प्रभावित इलाकों में पेट्रोलिंग की थी।

12 अगस्‍त को रूस से आ रही है पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन, जानिए इसके बारे में सबकुछ

इनका कहना है, 'मुझे 14 मई की शाम थोड़ा बदन दर्द होने लगा। पहले मुझे लगा कि ये बदलते मौसम की वजह से हो रहा होगा। दर्द अगले दिन तक रहा, मैंने बुखार की दवा खाई। मैंने पुलिस मुख्यालय में अपने घर से थोड़ी दूरी पर ही खुद को एक कमरे में आइसोलेट कर लिया। अपने वरिष्ठ अधिकारियों से जानकारी मिलने के बाद मैंने 19 मई को जांच कराने का फैसला लिया। दो दिनों बाद मेरी जांच रिपोर्ट आई और मुझे अस्पताल में भर्ती होने को कहा गया।'

अधिकारी ने आगे कहा, 'सोभाग्य से मुझे लक्षण के तौर पर केवल बदन दर्द था और कोई परेशानी नहीं थी। इसके बाद मेरी पत्नी, दो बच्चे और 15 सहकर्मियों की भी जांच की गई। इन सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई। इलाज के दौरान मुझे मेरे वरिष्ठ अधिकारियों के फोन आए, जो मेरी सेहत के बारे में पूछते रहे। मुझे पता था कि मेरे दोनों परिवार, एक घर पर और एक खाकी में मेरे पीछे खडे़ हैं और इसी से मुझे आत्मविश्वास मिला।'

पुलिस अधिकारी की भर्ती मुंबई में साल 2007 में कांस्टेबल के तौर पर हुई थी। दो साल पहले इन्होंने सब इंस्पेक्टर की परीक्षा को पास कर लिया और 2019 में पुणे पुलिस में शामिल हो गए।

हैदराबाद में कोरोना संक्रमित महिला ने दिया जुड़वां बेटियों को जन्म, दोनों स्वस्थ

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
police personnel beats coronavirus with backing of families one in khaki second at home
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X