• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

डेब्रीगढ़ में टाइगर रिजर्व परियोजना शुरू करने की योजना बना रही ओडिशा सरकार

डेब्रीगढ़ वन्यजीव अभयारण्य में 100 से अधिक कैमरा ट्रैप लगाए गए हैं और संवेदनशील क्षेत्रों को स्कैन करने के लिए मेटल डिटेक्टरों का उपयोग किया जा रहा है।
Google Oneindia News
बाघ

ओडिशा सरकार संबलपुर जिले के डेब्रीगढ़ वन्यजीव अभयारण्य में टाइगर रिजर्व परियोजना शुरू करने की योजना बना रही है। डेब्रीगढ़ वन्यजीव अभयारण्य मध्य भारत के अचानकमार और छत्तीसगढ़ के उदंती सीतांडी टाइगर रिजर्व से जुड़ा है। इसके अलावा, यह मयूरभंज जिले में सिमिलिपाल राष्ट्रीय उद्यान और क्योंझर जंगलों के माध्यम से सतकोसिया टाइगर रिजर्व से जुड़ा हुआ है। वन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इसी वजह से परियोजना के लिए मंजूरी मिलना आसान है।

एक वन्यजीव कार्यकर्ता ने कहा कि हम इस परियोजना को लेकर आशान्वित हैं, जब एक युवा वयस्क बाघ को लगभग तीन साल बाद 1 दिसंबर की शाम को अभयारण्य के जंगल की सड़कों पर चलते हुए देखा गया था। इससे पहले 2018 में डेब्रीगढ़ में एक बाघ मिला था।

मंडल वन अधिकारी (डीएफओ) अंशु प्रज्ञान दास ने कहा कि देब्रीगढ़ एक स्वस्थ शाकाहारी घनत्व वाले बाघों के लिए एक संभावित निवास स्थान है। दास ने कहा कि हमने बाघ के ट्रैक मूवमेंट पर नजर रखी है। यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम यहां उसके निवास के दौरान उसकी आवाजाही की सुरक्षा और निगरानी करें। डेब्रीगढ़ वन्यजीव अभयारण्य में 100 से अधिक कैमरा ट्रैप लगाए गए हैं और संवेदनशील क्षेत्रों को स्कैन करने के लिए मेटल डिटेक्टरों का उपयोग किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें- CM नवीन पटनायक ने FIH 2023 हॉकी विश्व कप ट्रॉफी का टूर किया शुरु

Comments
English summary
odisha government planning to start tiger reserve project in debrigarh
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X