• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

वित्त मंत्रालय ने कहा- सरकार ने नहीं बंद की 2000 के नोटों की छपाई

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। वित्त मंत्रालय ने शनिवार को लोकसभा को बताया कि, उन्होंने 2000 रुपए के करेंसी नोटों की छपाई बंद करने का कोई निर्णय नहीं लिया है। एक लिखित जवाब में, वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि सरकार किसी भी मद की करेंसी नोट के बारे में फैसला लेने से पहले आरबीआई से सलाह लेती है। अनुराग सिंह ठाकुर ने बताया कि वित्त वर्ष 2019-20 और 2020-21 में प्रेस के पास 2000 रुपये के नोट भेजने के लिए कोई मांगपत्र नहीं भेजा गया।

no decision has been taken to discontinue printing of ₹2,000 denomination currency notes

वित्त वर्ष 2019-20 और 2020-21 में प्रेस के पास 2000 रुपये के नोट भेजने के लिए कोई मांगपत्र नहीं भेजा गया था, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि सरकार 2000 रुपये के नोट की प्रींटिंग बंद करने पर विचार कर रही है। वित्त राज्य मंत्री ने यह भी जानकारी दी कि 31 मार्च 2020 तक 2000 रुपये के 27,398 करंसी नोट्स सर्कुलेशन में हैं। 31 मार्च 2019 तक यह आंकड़ा 32,910 करंसी नोट्स का था।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि सिक्योरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (SPMCIL) ने सूचित किया है कि कोविड-19 महामारी के कारण उनके प्रेस पर बैंक नोटों की छपाई भी प्रभावित हुई थी। भारतीय रिजर्व बैंक नोट मुद्रा प्राइवेट लिमिटेड (BRBNMPL) प्रेस में उत्पादन गतिविधियों को 23 मार्च, 2020 से 3 मई, 2020 तक के लिए निलंबित कर दिया गया। प्रेस में बैंक नोटों की छपाई 4 मई, 2020 से फिर से शुरू हो गई।

मुद्रा नोट प्रेस नासिक और बैंक नोट प्रेस, देवास ने क्रमशः 8 जून, 2020 और 1 जून, 2020 से पूर्ण उत्पादन गतिविधियों को फिर से शुरू किया। ठाकुर ने कहा कि लॉकडाउन की अवधि के दौरान, नोट छापने वाले प्रेस ने भारतीय रेलवे ट्रेजरी वैगनों के माध्यम से आरबीआई कार्यालयों / मुद्रा चेस्टों को उनके पास उपलब्ध नोटों के स्टॉक में निर्बाध रूप से आपूर्ति की है। हाल में मीडिया में ऐसी खबरें सामने आई थी कि, सरकार ने इस साल 2000 के नोटों की छपाई नहीं है। जिसके बाद लोगों में कयास लगाए जाने लगे थे कि, सरकार 2000 के नोटों की छपाई बंद कर सकती है।

मुद्दों को सुलझाने के लिए चीन से बात कर सकते हैं, तो पाकिस्तान के साथ क्यों नहीं: फारूक अब्दुल्लामुद्दों को सुलझाने के लिए चीन से बात कर सकते हैं, तो पाकिस्तान के साथ क्यों नहीं: फारूक अब्दुल्ला

Comments
English summary
no decision has been taken to discontinue printing of ₹2,000 denomination currency notes
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X