• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

मिलिट्री कोर्ट ने ब्रिगेडियर के रिटायरमेंट पर लगाई रोक, ये है वजह

|

नई दिल्ली। मिलिट्री कोर्ट ने शनिवार को अहम फैसला देते हुए एक ब्रिगेडियर के रिटायरमेंट पर रोक लगा दी है। ब्रिडगेजियर के प्रमोशन का मामला रक्षा मंत्रालय के पास होने के चलते कोर्ट ने ये स्टे लगाया है। आर्म्ड फोर्स ट्रिब्यूनल (एटीएफ) की बेंच के सामने ब्रिगेडियर केके नंदवानी ने अपने रिटायरमेंट पर रोक को लेकर अपील की थी। जिस पर सुनवाई के बाद ये आदेश आया है।

मिलिट्री कोर्ट ने ब्रिगेडियर के रिटायरमेंट पर लगाई रोक

ब्रिगेडियर केके नंदवानी आर्मी मेडिकल कॉर्प्स में डॉक्टर थे। मेजर जनरल रैंक पर प्रमोशन के लिए प्रमोशन बोर्ड में उनका नाम है। इसी बीच 31 अगस्त को वो रिटायर हो गए। इसको लेकर उन्होंने मिलिट्री कोर्ट में दरख्वास्त दी। इस पर मिलिट्री कोर्ट ने कहा कि जब तक उनके प्रमोशन पर मामला साफ नहीं होता, उनको रिटायर नहीं किया जाएगा। रिटायरमेंट पर रोक रहेगी।

जस्टिस राजेंद्र मेनन ने अपने आदेश में कहा, जब तक प्रमोशन बोर्ड (एएफएमएस) के परिणाम तक आवेदक की सेवानिवृत्ति को प्रभाव नहीं दिया जाना चाहिए। यदि आवेदक को मेजर जनरल के पद पर पदोन्नति के लिए मंजूरी दे दी जाती है और उस तिथि को उसकी पदोन्नति के लिए रिक्ति उपलब्ध है, तो उसे 31 अगस्त, 2020 को मेजर जनरल के पद से रिटायर किया जाना चाहिए।

ये भी पढ़िए-लद्दाख में जवानों से बोले सेना प्रमुख नरवणे, पूरा देश हमारी तरफ देख रहा है, जोश के साथ संयम भी जरूरी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
military court stays army brigadier retirement till def min clears air on his promotion
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X