• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

लोकसभा में गृह मंत्रालय ने बताया, 3 सालों में पुलिस हिरासत में 348 लोगों की मौत, 1189 को झेलनी पड़ी यातना

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 03 अगस्त: गृह मंत्रालय ने मंगलवार को लोकसभा में जानकारी देते हुए बताया कि साल 2018-19 और 2020-21 के बीच पुलिस हिरासत में 348 लोगों की मौत हुई हैं। वहीं इन्हीं तीन सालों के दौरान पुलिस हिरासत में 1189 लोगों को प्रताड़ना झेलनी पड़ी।

home ministry

एक प्रश्न के लिखित जवाब में गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने बताया कि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) से प्राप्त जानकारी के अनुसार 2020-21 में पुलिस हिरासत में 100 मौतें और पुलिस हिरासत में यातना के 236 मामले दर्ज किए गए। ऐसे ही 2019-20 में पुलिस हिरासत में 112 मौतों और यातना के 411 मामले और साल 2018-19 में 136 लोगों की मौत और 542 यातनाओं के मामल सामने आए।

दरअसल, यह सवाल शिवगंगा के सांसद कार्ति चिदंबरम द्वारा पूछा गया, जिसमें बताया कि कोरोना लॉकडाउन को लागू करने में नागरिकों के खिलाफ पुलिस की हिंसा से संबंधित है। इस पर राय ने उत्तर दिया कि भारत के संविधान की सातवीं अनुसूची के अनुसार 'पुलिस' और 'सार्वजनिक व्यवस्था' राज्य के विषय है, जिसमें जांच, पंजीकरण और अपराधों के अभियोजन, अभियुक्तों की सजा, संरक्षण सहित कानून और व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी है।

JNU हिंसा: डेढ़ साल बाद भी कोई गिरफ्तारी नहीं, गृह मंत्रालय ने संसद में दी जानकारीJNU हिंसा: डेढ़ साल बाद भी कोई गिरफ्तारी नहीं, गृह मंत्रालय ने संसद में दी जानकारी

वहीं हिरासत में हुई मौतों और यातनाओं के लिए दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ की गई कार्रवाई का विवरण मांगने वाले उप-प्रश्न के संबंध में गृह मंत्रालय ने दोहराया कि 'पुलिस' और 'सार्वजनिक व्यवस्था' राज्य के विषय हैं, राज्य सरकारों को ऐसे अपराधों से निपटने का अधिकार है, जो कानून के मौजूदा प्रावधानों के अनुसार उनके संज्ञान में आएं। उन्होंने कहा कि कानून के विभिन्न पहलुओं पर पुलिस को संवेदनशील बनाने की कवायद एक सतत प्रक्रिया है।

English summary
home ministry informed 348 died and 1189 tortured in police custody in 3 years
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X