• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

दिल्ली: थप्पड़ मारने से नाराज इकलौते बेटे ने सुपारी देकर कराई बिजनेसमैन पिता की हत्या

|

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में केमिकल का कारोबार करने वाले अनिल खेड़ा की हत्या की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है। पुलिस ने इस मामले में एक सनसनीखेज खुलासा किया है। पुलिस का दावा है कि हत्यारा कोई गैर नहीं, बल्कि उनका बेटा है। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने आरोपी बेटे गौरव खेड़ा, उसके बिजनस पार्टनर विशाल गर्ग और एक सुपारी किलर सादिक को इस केस में अरेस्ट कर लिया है। उसने अपने पिता की हत्या के लिए सुपारी दी थी। पांच महीनों तक इस केस की जांच करने बाद दिल्ली पुलिस ने केस को सुलझा लिया है।

हत्या के लिए दी पांच लाख की सुपारी

हत्या के लिए दी पांच लाख की सुपारी

जांच में पता चला है कि आरोपी के पिता उसकी बुरी आदतों से परेशान थे, इस वजह से वह उसे खर्च भी नहीं देते थे। इस कारण उसने पिता की हत्या करा दी। अनिल खेरा की उस वक्त हत्या कर दी गई थी जब वे अपने कारोबार के सिलसिले में एक मीटिंग के बाद बाहर निकले थे। बाइक पर सवार कातिलों ने उन्हें नजदीक से कई गोलियां मारी थीं। एडिशनल कमिश्नर अजीत सिंगला ने बताया कि गौरव ने अपने पिता को मारने के लिए दो लोगों को सुपारी शमशेर और सादिक को दी थी। गौरव ने इन दोनों को 5 लाख रुपए देने का वादा भी किया था।

सुपारी के पैसे पर हुआ झगड़ा, खुला मामला

सुपारी के पैसे पर हुआ झगड़ा, खुला मामला

वहीं उसने अपने दोस्त विशाल गर्ग से वादा किया कि उसके पिता के मरने के बाद वह अपने पिता के केमिकल बिजनेस में से 25 फीसदी उसे देगा। मामला शमशेर और सादिक के बीच हुई अनबन के बाद खुला। हत्या के बदले मिली पांच लाख रुपए की रकम को अकेले शमशेर ने हड़प लिया। सादिक को केवल 50 रुपए दिए। इसी बात को लेकर गौरव और सादिक में झगड़ा चल रहा था। इसकी जानकारी क्राइम ब्रांच को लगी और आरोपी पकड़े गए।

दोस्त ने ही फिरौती के लिए किया अपहरण, पहले हत्या की और फिर परिजनों से मांगे 5 लाख रुपए

पांच महीने बाद हुआ हत्या का खुलासा

पांच महीने बाद हुआ हत्या का खुलासा

पुलिस ने बताया कि, वारदात के बाद घटनास्थल पर सबसे पहले गौरव पहुंचा था। वह दूसरों पर रंजिश का शक जताकर पुलिस को गुमराह किया था। पुलिस ने बताया कि आरोपी बेटे को जुआ खेलने की लत थी। इस चक्कर में उस पर काफी कर्ज चढ़ गया था। बेटे की करतूत को देखते हुए पिता ने उसे पैसे देने बंद कर दिए थे। एक दिन पिता ने बेटे की पिटाई भी की थी। इस बात से खफा आरोपी गौरव ने अपने पिता को मारने की साजिश रच दी।

एमपी में जीत के सर्वे भी बीजेपी नेताओं के चेहरों पर नहीं ला पा रहे मुस्कान, ये है चिंता की असल वजह

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Delhi man gambles away money, hires killers for Rs 5 lakh to kill father
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X