• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

CAA: प्रदर्शनकारियों से पूरी नहीं हो सकी बात, कल फिर शाहीन बाग आएंगे मध्यस्थ

|

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ करीब दो महीने से शाहीन बाग में विरोध प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों से मिलने के लिए बुधवार को मध्यस्थ संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन पहुंची। मिली जानकारी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त मध्यस्थ प्रदर्शनकारियों कर रहे हैं। जानकारी के मुताबिक प्रदर्शनकारी इस बात पर अड़े हैं कि जब तक सरकार सीएए वापस नहीं ले लेगी वे वहां से नहीं हटेंगे। इस बीच साधना रामचंद्रन ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि अच्छी बातचीत रहेगी। हम सब नागरिक हैं एक दूसरे की बात सुनना जरूरी है और सुप्रीम कोर्ट भी यही चाहता है।

मीडिया के सामने बात करने से किया मना

मीडिया के सामने बात करने से किया मना

उधर, संजय हेगड़े ने मीडिया के सामने प्रदर्शनकारियों से बात करने से इनकार कर दिया। मध्यस्थों ने मीडिया को धरना स्थल से हटा दिया है, उन्होंने कहा कि वार्ता के बाद पत्रकारों को भी इस पर जनकारी दी जाएगी। संजय ने शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों से कहा कि, हम आपसे बात करने आए हैं, मीडिया यहां मौजूद नहीं रहेगी। गौरतलब है कि 15 दिसंबर से शुरू हुआ यह विरोध प्रदर्शन खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। शाहीन बाग में हर वर्ग और हर धर्म के लोग विरोध दर्ज कराने के लिए जुटे हैं। शाहीन बाग से विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों को हटाना केंद्र और राज्य सरकार के लिए बड़ी चुनौती बन गया है।

    Shaheen Bagh पहुंचे mediators Sanjay Hegde और Sadhana Ramachandran|वनइंडिया हिंदी

    मीडिया के सामने बात करना चाहते थे प्रदर्शनकारी

    शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने संजय हेगड़े की अपील को अस्वीकार कर दिया है वह मीडिया के सामने बात करना चाहते हैं। वहीं, प्रदर्शनकारियों ने तीसरे वार्ताकार वजाहत हबीबुल्लाह को बुलाए जाने की मांग की। सीएए प्रदर्शनकारियों को सुप्रीम कोर्ट का आदेश समझाते हुए साधना रामचंद्रन ने कोर्ट के हवाले से कहा, आंदोलन करा आपका हक है, जो बरकार रहेगा। सीएए और एनआरसी को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे दी गई है, हम सबकी तरह और भी नागरिक हैं जिनके हक हैं। साधना ने कहा कि, हम सबकी तरह बहुत से लोग इस सड़क का इस्तेमाल करते हैं।

    वर्ताकारों ने समझाया SC का आदेश

    साधना बताती हैं कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि रोड को खाली किया जाए ताकी दुकानदार, डॉक्टर और बच्चे स्कूल जाने के लिए इसका इस्तेमाल कर सकें। आंदोलन आपका अधिकार है लेकिन ध्यान रहे कि दूसरे नागरिकों का हक भी ना छीना जाए। सबका हक बराबर रहना चाहिए। वार्ताकार साधना ने प्रदर्शनकारियों से कहा, हम यहां आपकी परेशानी और बात सुनने आए हैं ताकि हल निकाला जा सके। आपकी हर बात सुनी जाएगी, अच्छी-बुरी सब बात।

    गुरुवार को फिर आएंगे वार्ताकार

    बता दें कि, सुप्रीम कोर्ट ने शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए तीन वार्ताकारों को नियुक्त किया है। इनमें साधना रामचंद्रन, संजय हेगड़े और वजाहत हबीबुल्लाह शामिल है। बुधवार को प्रदर्शनकारियों से बात करने के बाद साधना रामचंद्रन ने कहा बताया कि हमने उनसे मुलाकात की और उनकी बात सुनी। हमने उनसे पूछा कि क्या वे चाहते हैं कि हम कल वापस आएं क्योंकि एक दिन में वार्ता पूरी करना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि हम कल वापस आएं, इसलिए हम कल फिर बात करने आएंगे। भीड़ ज्यादा होने की वजह से बात पूरी नहीं हो सकी।

    महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा बोलीं- नहीं पता पीएम मोदी खुद गुमराह या जानबूझकर देश को बहका रहे

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    CAA Shaheen Bagh Citizenship Amendment Act Supreme court
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X