• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सोनू सूद के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला, BMC ने दाखिल किया था हलफनामा

|

मुंबई। Sonu Sood case in bombay high court साल 2020 में बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद पूरी दुनिया के सामने गरीबों के 'मसीहा' के तौर पर उभर कर सामने आए थे। लॉकडाउन में प्रवासी मजदूरों को पहुंचाई गई उनकी मदद के बाद से वर्ल्ड लेवल पर उनकी फैन फॉलोइंग में बहुत तेजी से इजाफा हुआ था, लेकिन इन सबके बीच बृह्नमुंबई नगर निगम (बीएमसी) में उनके खिलाफ चल रहा अवैध निर्माण का मामला उनकी छवि को नुकसान पहुंचा रहा है। दरअसल, इस मामले में ताजा अपडेट ये है कि बॉम्बे हाई कोर्ट ने बीएमसी के हलफनामे के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है।

Sonu sood

सोनू सूद को लेकर बीएमसी का छलका था दर्द

आपको बता दें कि बीएमसी ने बॉम्बे हाई कोर्ट में हलफनामा दायर किया था। इससे पहले बीएमसी ने सोनू सूद को नोटिस भी भेजा था, जिसके खिलाफ सोनू सूद बॉम्बे हाईकोर्ट चले गए थे। इसके बाद बीएमसी ने अपना हलफनामा दाखिल किया, जिसमें बीएमसी ने सोनू सूद आदतन अपराधी बताया था। बीएमसी ने अपने हलफनामे में कहा था कि सोनू सूद ने कोई पहली बार नियम नहीं तोड़ा है, बल्कि इससे भी पहले वो कई बार ऐसा कर चुके हैं। बीएमसी के मुताबिक, सोनू सूद पर दो बार कार्रवाई की जा चुकी है। बीएमसी ने बताया कि सोनू ने जुहू के रिहायशी इमारत में अवैध निर्माण कराया हुआ है, जिसको लेकर उन्हें नोटिस भेजा गया है।

वहीं दूसरी तरफ बीएमसी के नोटिस के बाद सोनू सूद ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार से भी मुलाकात की थी। इस मुलाकात को भी बीएमसी के नोटिस से जोड़कर देखा जा रहा है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Bombay High Court reserves its order in BMC notice to sonu sood
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X