• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

भारी विरोध के बाद मणिपुर सरकार ने वापस लिया म्यांमार के शरणार्थियों को भोजन-पानी न देने का आदेश

अपने एक आदेश के कारण काफी विरोध झेलने के बाद मणिपुर सरकार ने अपने उस आदेश को वापस ले लिया है जिसमें कहा गया था कि म्यांमार से भारत आने वाले शरणार्थियों का भोजन-पानी रोक दिया जाए।
Google Oneindia News

इम्फाल। अपने एक आदेश के कारण काफी विरोध झेलने के बाद मणिपुर सरकार ने अपने उस आदेश को वापस ले लिया है जिसमें कहा गया था कि म्यांमार से भारत आने वाले शरणार्थियों का भोजन-पानी रोक दिया जाए। सरकार के इस आदेश की जमकर आलोचना हुई जिसकी वजह से सरकार ने इस आदेश को वापस लेने का फैसला किया है।

Recommended Video

    Manipur Govt ने Myanmar से आ रहे Refugees को रोकने का आदेश वापस लिया! | वनइंडिया हिंदी
    Myanmar Refugee

    आपको बता दें कि मणिपुर सरकार ने हाल ही में एक आदेश जारी कर अधिकारियों को आदेश दिए थे कि म्यांमार से आने वाले लोगों को शरण देने और उन्हें भोजन मुहैया कराने वाले लोगों पर पाबंदी लगाई जाए। आदेश के अनुसार गंभीर रूप से घायल शरणार्थियों को मानवीय आधार पर केवल दवाई देने की छूट होगी। इसके अलावा आदेश में यह भी कहा गया था कि म्यांमार से आने वाले शरणार्थियों की आमद पर पाबंदी लगाई जाए। मणिपुर सरकार की इस आदेश को लेकर काफी आलोचना हुई जिसके कारण उसे यह आदेश वापस लेना पड़ा। कई लोगों ने कहा कि यह आदेश देश की मानवीय परंपरा के खिलाफ है। अब सरकार की ओर से 29 मार्च को नई चिट्ठी जारी की गई है, जिसमें लिखा है कि, 'लोगों ने सरकार के आदेश को अलग तरीके से समझ लिया है। सरकार म्यांमार से आने वाले लोगों की हरसंभव मदद कर रही है और उन्हें इलाज के लिए इम्फाल भेजा जा रहा है।'

    यह भी पढ़ें: म्यांमार सैन्य हिंसा: इन लोगों को क्यों कहा जा रहा है 'फ़ॉलेन स्टार्स'?

    आपको बता दें कि पिछले कुछ महीनों ने म्यांमार में राजनीतिक उथल-पुथल चल रही है। वहां की सेना ने तख्ता पलट कर सत्ता अपने हाथों में ले ली है। म्यांमार की जनता सेना के इस फैसले का विरोध कर रही है। इस विरोध प्रदर्शन में अब तक हजारों लोग मारे जा चुके हैं। सेना की बर्बरता से बचने के लिए म्यांमार के लोग पड़ोसी मुल्कों में शरण ले रहे हैं। अब तक मणिपुर में 1 हजार से ज्यादा शरणार्थी आ चुके हैं।

    वहीं, संयुक्त राष्ट्र में म्यांमार के राजदूत ने भारत सरकार म्यांमार से आ रहे लोगों को अपने यहां शरण देने की अपील की है। म्यांमार के लोग देश में दोबारा से लोकतंत्र की बहाली के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं।

    Comments
    English summary
    After criticism, Manipur government withdraws order to not give food and water to refugees from Myanmar
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X