• search
गुजरात न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

2 शादी और 9 किशोरियों का यौन शोषण करने वाला 5 लाख का इनामी शिक्षक CBI ने हिमाचल से पकड़ा

|

अहमदाबाद। गुजरात में 2 शादियां कर चुके एक शिक्षक ने गुरु शिष्या के रिश्ते को शर्मसार ​किया। उसने 9 किशोरियों को तरह-तरह के झांसा देकर अपने जाल में फंसाया फिर कई का यौन शोषण किया। उसकी करतूतें सामने आने के बाद पुलिस ने उस पर इनाम घोषित कर दिया। जिसके बाद वह कहीं रफ्फूचक्कर हो गया। अब सीबीआई ने उसे हिमाचल प्रदेश से गिरफ्तार किया है।

गुजरात का इनामी दुष्कर्मी शिक्षक

गुजरात का इनामी दुष्कर्मी शिक्षक

संवाददाता ने बताया कि, दुष्कर्मी शिक्षक पर 5 लाख रुपए का इनाम रखा गया था। उसका नाम धवल त्रिवेदी है। जिसने न सिर्फ 2 शादियां की, बल्कि 9 छात्राओं की जिंदगी भी खराब कर दी। उसके कुकर्मों के लिए उसे पहले भी जेल हुई थी। मगर, पेरोल पर बाहर आने के बाद 2018 में वह चोटीला की एक किशोरी को ले भागा।

हिमाचल में चढ़ा अब हत्थे

हिमाचल में चढ़ा अब हत्थे

हाईकोर्ट ने इस मामले को सीबीआई को सौंप दिया था। वहीं, करीब तीन महीने पहले उसके द्वारा अगवा की नाबालिग लड़की अपने घर लौटी, लेकिन धवल त्रिवेदी गायब ही रहा। उस पर लड़कियों को झांसा देकर फंसाने, अपहरण करने एवं यौन शोषण के आरोप हैं। उसने 11वीं कक्षा में पढ़ने वाली दो छात्राओं को अगवा कर लिया था।

लव मैरिज के बावजूद पत्नी पर करता था शक, घोंप दिए चाकू, फिर पकड़े जाने के डर से पी ली फिनाइल

सुनाई गई आजीवन कारावास की सजा

सुनाई गई आजीवन कारावास की सजा

इस मामले में धवल को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। फिर अगस्त 2018 में, वह पैरोल पर जेल से बाहर आया था और फिर चोटिला की नाबालिग लड़की को लेकर गायब हो गया। फिर एक साल पहले, उच्च न्यायालय ने उसे पागल घोषित किया और सीबीआई को तुरंत उसे गिरफ्तार कर के नाबालिग को छुड़ाने का आदेश दिया था।

जज ने कहा था- सीबीआई उसे पकड़े

जज ने कहा था- सीबीआई उसे पकड़े

मामले को सीबीआई को स्थानांतरित करते हुए, न्यायमूर्ति जेबी पारडीवाला और न्यायमूर्ति ए सी राव ने कहा, "यह सीबीआई के लिए एक बहुत ही चुनौतीपूर्ण काम है लेकिन सीबीआई ऐसी चुनौतियों से पार पाने के लिए जानी जाती है। अदालत को उम्मीद है कि सीबीआई अपनी उम्मीदों पर खरी उतरेगी। "

9 किशोरियों को फंसाया, शोषण किया

9 किशोरियों को फंसाया, शोषण किया

दरअसल, जेल से बाहर आते ही धवल त्रिवेदी चोटिला चला गया था। वहां खुद को धर्मेंद्र दवे के रूप में पेश करते हुए, उसने प्रतियोगी परीक्षा की कक्षाएं शुरू कर दी। जिसमें 8-10 छात्र शामिल होने के बाद हप्तेभर में 56 वर्षीय धवल ने एक 18 वर्षीय छात्रा को फँसाया और 12 अगस्त को जेल लौटने से एक दिन पहले ही उसको लेकर फरार हो गया था।

10वीं शिकार ढूंढ रहा था

10वीं शिकार ढूंढ रहा था

वडोदरा के मूल निवासी धवल ने अब तक राजकोट, सूरत और आणंद में 9 छात्राओं के जीवन को बर्बाद कर दिया है। 2014 में, धवल त्रिवेदी ने सीआईडी ​​को बताया था कि वह "माई लाइफ इन 10 वुमन परफेक्ट लेडी" पर एक किताब लिखेगा। चोटिला की लड़की उसका नौवां शिकार थी और वह अपने 10 वें शिकार की तलाश में था। तभी सीआईडी के हत्थे चढ़ गया। बहरहाल, उस पर कानूनी कार्रवाई शुरु कर दी गई है।

पीड़िता के पिता ने कही यह बात

पीड़िता के पिता ने कही यह बात

धवल के पकड़े जाने के बाद एक लड़की के पिता ने कहा, ''मेरी बेटी कई सालों बाद घर लौट पाई थी। उसके मिलने पर हमें तसल्ली मिली। लेकिन उससे भी ज्यादा खुशी इस बात की है कि, इस दरिंदे के पकड़े जाने से अब कई मासूमों की जिंदगी बर्बाद होने से बच गई है। अदालत से मेरी अपील है कि, धवल को ऐसी सजा सुनाए कि, आइंदा कोई भी ऐसा अपराध करना तो दूर उसके बारे में सोच भी ना सके।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
CBI caught a teacher from Himachal Pradesh, who physical assault 9 girl students in gujarat
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X