• search
दिल्ली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

दिल्ली-गाजीपुर बॉर्डर पर प्रवासी मजदूरों की भारी भीड़, CM योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद यूपी में नहीं दी गई एंट्री

|

दिल्ली। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने औरैया हादसे के बाद सभी जिले के डीएम को पैदल जा रहे प्रवासी मजूदरों के लिए बसों का इंतजाम करने के आदेश दिए हैं। सीएम के निर्देश के बाद दिल्ली-गाजीपुर बॉर्डर पर कई प्रवासी मजदूर को रविवार की सुबह रोक दिए गया। पुलिस उन्हें अपने क्षेत्र में घुसने नहीं दे रही है। इस वजह से बॉर्डर पर काफी भीड़ बढ़ गई है। नाराज फंसे मजदूर बार-बार ट्रैफिक रोकने की कोशिश कर रहे थे। हालांकि ट्रैफिक पुलिस ने उन्हें सड़क से हटाया और यातायात व्यवस्था बहाल की।

Migrant labourers in large numbers gather in Gazipur at Delhi-Uttar Pradesh border
    Lockdown-4: Uttar Pradesh के बॉर्डर पर Migrant Workers का हुजूम, एंट्री पर रोक | वनइंडिया हिंदी

    दरअसल, रविवार को प्रवासी मजदूर अपने-अपने घर-गांव जाने के लिए पैदल, ट्रक-टेम्पों में निकले। इस दौरान उन्हें दिल्ली-उत्तर प्रदेश गाजीपुर बॉर्डर पर पुलिस और जिला प्रशासन के अधिकारियों ने रोक लिया। इस दौरान प्रवासी श्रमिकों को समझाने में पुलिस के पसीने भी छूट रहे हैं। साथ ही साथ भीड़ के चलते जाम जैसे हालात बन गए हैं। हाइवे पर गाड़ियों की लंबी-लंबी कतारें लग गई है।

    इस दौरान गाजीपुर बॉर्डर पर जुटी भीड़ को देखकर ऐसा लग रहा है कि किसी को कोरोना संक्रमण का कोई डर नहीं हैं। लॉकडाउन के नियमों की लोग खुले तौर पर धज्जियां उड़ा रहे हैं। कोई शारीरिक दूरी का पालन नहीं हो रहा है। वहीं, सब-इंस्पेक्टर प्रचंड त्यागी ने बताया कि दिल्ली-यूपी सीमा पर यहां बड़ी भीड़ है। हम उन्हें ट्रेन या बस लेने के लिए कह रहे हैं। बिना वैध पास के किसी भी व्यक्ति को राज्य में प्रवेश करने की अनुमति नहीं है।

    बता दें, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने औरैया हादसे के बाद सभी जिले के जिलाधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि राज्य के सीमा क्षेत्रों में कोई भी प्रवासी कामगार/श्रमिक पैदल, बाइक या ट्रक आदि अवैध और असुरक्षित वाहन से न आने पाए। यदि ऐसा पाया जाए तो लोगों को ला रही अवैध गाड़ियों को तत्काल जब्त करते हुए कानूनी कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा है कि पुलिस पैदल चलने वालों को जागरूक करते हुए उन्हें रोके। उन्होंने इन निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं।

    मुख्यमंत्री योगी शनिवार को एक उच्च स्तरीय बैठक में लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने प्रवासी कामगारों/श्रमिकों से अपील की कि वे स्वयं और अपने परिवार को जोखिम में डालकर पैदल अथवा अवैध और असुरक्षित वाहन से घर के लिए यात्रा न करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार अपने सभी प्रवासी कामगारों/श्रमिकों की सुरक्षित और सम्मानजनक वापसी के लिए युद्ध स्तर पर व्यवस्था सुनिश्चित करा रही है।

    ये भी पढ़ें:- औरैया हादसा: श्रमिकों के खून से सनी थी सड़क, तस्वीरें बयां कर रही हैं मौत का दर्द

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Migrant labourers in large numbers gather in Gazipur at Delhi-Uttar Pradesh border
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X