• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

आखिर ढ़ाई हजार समुद्री जीवों को किसने मारा? बीच पर अचानक पाए गए मृत, कहीं किसी खतरे का अंदेशा तो नहीं

रूस के उत्तरी कॉकस क्षेत्र के अधिकारियों के मुताबिक कैस्पियन सागर के रूसी तट पर अचानक लगभग 2500 मृत सीलें पाई गई हैं। इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर के मुताबिक मृत पाए गए कैस्पियन सील्स सागर में मौजूद एकमात्र स्त
Google Oneindia News
Dead Seals

Caspian Sea Dead Seals: रूस के कैस्पियन समुद्र तट पर अचानक दुर्लभ प्रजाति की ढ़ाई हजार सील (समुद्री जीव) बहकर आईं। ये जीव मरी हुई थी। सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक कैस्पियन समुद्र तट पर लगभग 2,500 मृत सील पाए गए थे। रिपोर्ट के मुताबिक 2008 के बाद से कैस्पियन सागर में पाई जाने वाली एकमात्र पशु प्रजाति कैस्पियन सील को इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर (IUCN) द्वारा लुप्तप्राय जीव के तौर पर लिस्टेड किया गया है। हालांकि इन जीवों के मौत के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है।

बहुत खास है ये मरी हुई सील

बहुत खास है ये मरी हुई सील

इंरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर (IUCN) ने इस कैस्पियन सील को 2008 से ही रेड लिस्‍ट में शामिल किया था। कैस्पियन सील एक मात्र स्तनधारी जीव है, ये सिर्फ कैस्पियन समुद्र में ही पाई जाती है। ये मरी हुई सील रूस के रिपब्लिक ऑफ दागिस्तान में कैस्पियन सागर तट पर बहकर आई थीं। ये जलक्षेत्र दुनिया में जमीन से चारों से घिरा हुआ है। रूस, कजाकिस्तान, अजरबैजान, ईरान और तुर्कमेनिस्तान पांच, ऐसे देश हैं, जो कैस्पियन सागर की सीमा बनाते हैं। कैस्पियन सागर दुनिया का सबसे बड़ा अंतर्देशीय जल निकाय है।

कैसे हुई इन सीलों की मौत?

कैसे हुई इन सीलों की मौत?

दागिस्तान (उत्तरी कॉकस क्षेत्र में स्थित रूस का एक राज्य) के प्राकृतिक संसाधन मंत्रालय ने इन मौतों के लिए "प्राकृतिक कारणों" को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने आशंका व्यक्त की कि कई और मौतें हो सकती हैं। ऐसा लगता है कि ये सील लगभग दो हफ्ते पहले ही मर गई थी। हालांकि मंत्रालय ने कहा है कि कोई हिंसक मौत के निशान नहीं मिले हैं और नाही मछली पकड़ने के जाल के कोई अवशेष मिले हैं।

पहले 700 सील मरी हुई मिली थीं

पहले 700 सील मरी हुई मिली थीं

रूसी प्राकृतिक संसाधन और पर्यावरण मंत्रालय का कहना है कि पहले सागर तट पर 700 मृत सील पाए गए थे, लेकिन यह संख्या बढ़कर 2500 हो गई। रूसी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अधिकारी समुद्री तटों पर और भी सीलों की जांच कर रहे हैं। वहीं कैस्पियन पर्यावरण केंद्र के रिसर्चर अभी भी मृत सीलों के सैंपल की जांच कर रहे हैं। वो पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि इनकी मौत कैसे हुई है।

आखिर क्यों बढ़ती गई मौतों की संख्या

आखिर क्यों बढ़ती गई मौतों की संख्या

इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर (IUCN) के मुताबिक सील के मरने और शिकार होने का एक प्रमुख कारण जलवायु परिवर्तन भी हो सकता है, यही वजह है कि कैस्पियन सील की संख्या प्रभावित हो रही है। इस घटना के बाद दागिस्तान मंत्रालय ने कहा कि क्षेत्र में अभी भी कैस्पियन सील की एक स्थिर आबादी है, जो 270,000 से 300,000 के बीच है। एक सील रिपक्व होने पर वे 1.6 मीटर (5.2 फीट) से अधिक की लंबाई और 100 किलो तक वजनी हो सकता है।

ये भी पढ़ें- '10 साल से ना सैलरी निकाली, ना इलाज कराया', बैंक में 70 लाख जोड़ने वाले करोड़पति स्वीपर की इस बीमारी से मौतये भी पढ़ें- '10 साल से ना सैलरी निकाली, ना इलाज कराया', बैंक में 70 लाख जोड़ने वाले करोड़पति स्वीपर की इस बीमारी से मौत

Comments
English summary
why Over 2500 Dead Seals on Russian coast of the Caspian Sea
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X