• search
बिहार न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

मॉनसून की दस्तक से बढ़ी ग्रामीणों में दहशत, मौक़े पर पहुंचे DM उदयन मिश्रा, जानिए पूरा मामला

ग्रामीणों का कहना है कि भीषण बाढ़ की वजह से नर्गद्दा गांव के पास बने डायवर्शन ब्रिज क्षतिग्रस्त हो गया था। जिस वजह से मुख्यालय और जिला मुख्यालय से संपर्क टूट गया है। 2017 में आई प्रलयकारी बाढ़ में पुल ध्वस्त हो गया था।
Google Oneindia News

कटिहार, 2 जुलाई 2021। मॉनसून की दस्तक के बाद बिहार के कई ज़िलों में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। ताज़ा मामला कटिहार ज़िला के बारसोई अनुमंडल का है, जहां महानंदा और रीगा नदी का जल स्तर काफी तेजी से बढ़ रहा है। जल स्तर बढ़ने की वजह से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। अनुमंडल क्षेत्र के कई पंचायतों में बाढ़ का पानी घुस जाने से लोगों में डर का माहौल देखने को मिल रहा है। कई गांवों का प्रखंड मुख्यालय से संपर्क भी टूट गया है। स्थानीय लोग नाव के ज़रिए आवागमन कर रहे हैं।

गांव में घुसा बाढ़ का पानी

गांव में घुसा बाढ़ का पानी

ग्रामीणों का कहना है कि भीषण बाढ़ की वजह से नर्गद्दा गांव के पास बना डायवर्शन ब्रिज क्षतिग्रस्त हो गया था। जिस वजह से मुख्यालय और जिला मुख्यालय से संपर्क टूट गया है। 2017 में आई प्रलयकारी बाढ़ में पुल ध्वस्त हो गया था। इसी वजह से अधिकारियों के द्वारा तत्काल आवागमन के लिए डायवर्ज़न पुल का निर्माण कराया गया था। लगभग पांच साल बीत जाने के बाद भी उक्त स्थान पर पुल का निर्माण नहीं कराया गया है। डायवर्ज़न ध्वस्त होने की वजह से दर्जनों गांवों धनगामा, धपरसिया, चौकी, तेतलिया, चौकी मुकुरिया, बलिहारपुर, शेखपूरा, भर्री, सहित कई गांव के लोगों का आवागमन बाधित हो चुका है।

डीएम उदयन मिश्रा ने लिया मौक़े का जायजा

डीएम उदयन मिश्रा ने लिया मौक़े का जायजा

कटिहार के डीएम उदयन मिश्रा ने कई इलाकों का जायजा लिया। डायवर्ज़न से कटे स्थल का निरीक्षण करते अधिकारियों एवं कर्मियों को सख्त निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि कार्य में लापरवाही और कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसके साथ ही संवेदक और इंजीनियर को 3 दिन का समय दिया है, अगर तय समय पर कार्य पूरा नहीं किया गया तो सख्त कार्रवाई की जाए। वहीं डीएम उदयन मिश्रा ने मौके का जायजा लेते हुए कहा की ध्वस्त डायवर्ज़न की वजह से दर्जनों गांवों के लोगों का आवागमन बाधित हो गया है।

डीएम ने की डायवर्ज़न से दूर रहने की अपील

डीएम ने की डायवर्ज़न से दूर रहने की अपील

उदयन मिश्रा ने कहा कि इस बाबत संबंधित अधिकारी उक्त स्थान पर तत्काल आवागमन के लिए सरकारी नाव और निजी नाव उपलब्ध कराने का निर्देश दे दिया गया है। फिलहाल गांव के लोग सरकारी नाव से आवागमन करेंगे। वहीं उन्होंने कहा कि डायवर्ज़न टूट जाने की वजह से स्थिति काफी खतरनाक है। इसलिए सभी लोग डायवर्ज़न से दूर रहें। ताकि किसी प्रकार की अनहोनी नहीं हो। फिलहाल उक्त डायवर्ज़न निर्माण कार्य का जारी करने के आदेश दे दिए गए हैं।

सरकारी अधिकारी और कर्मचारी रहे मौजूद

सरकारी अधिकारी और कर्मचारी रहे मौजूद

जिलाधिकारी उदयन मिश्रा ने जब मौक़े का जायजा लिया तो वहां पुल निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता भगवान राम कनीय, जवाहर प्रसाद एडीएम. एसडीएम राजेश्वरी पांडे, जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता, ग्रामीण कार्य विभाग के कार्यपालक अभियंता, पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता सुधीर कुमार झा, अंचलाधिकारी कदवा, विजय कुमार यादव कदवा थाना अध्यक्ष, कदवा बीडीओ आदि सहित दर्जनों कर्मी और अधिकारी मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें: कलयुगी मां-बाप करवाते थे बेटी से गंदा काम, युवती का दर्द सुनकर कांप जाएगी रूह

Comments
English summary
mahananda river water entering in villages, DM katihar visited the spot
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X