• search
भोपाल न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Nishank Rathore Case: मौत के 21 मिनट..गर्ल फ्रेंड और इंस्टेंट लोन ने और उलझाई गुत्थी

निशांक की इस्टाग्राम आईडी से उसके पिता को ‘सर तन से जुदा...’ वाले मैसेज उसकी मौत से करीब 21 मिनट पहले पहुंचे थे। पिता रमाशंकर राठौर के मोबाइल पर शाम 5 बजकर 44 मिनट पर भेजा गया था।
Google Oneindia News

भोपाल, 28 जुलाई: बीटेक इंजीनियरिंग छात्र निशांक राठौर केस में एक से बढ़कर एक पेंच है, जिसकी अब, एसआईटी की टीम पड़ताल कर रही है। उसकी मौत के पहले करीब 21 मिनिट...कथित गर्ल फ्रेंड फिर अब चाइनीज एप के जरिए लोन लेने की बात ने पूरे मामले में नया ट्विस्ट ला दिया है। 'सिर तन से जुदा...'मैसेज ने जांच टीम को पहले से ही उलझा कर रखा है, अब जांच में एक एंगल और बढ़ गया है।

सिर तन से जुदा...मैसेज फिर 21 मिनिट बाद मौत

सिर तन से जुदा...मैसेज फिर 21 मिनिट बाद मौत

अब तक की जांच में यह बात सामने आई है कि निशांक की इस्टाग्राम आईडी से उसके पिता को 'सर तन से जुदा...' वाले मैसेज उसकी मौत से करीब 21 मिनट पहले पहुंचे थे। पिता रमाशंकर राठौर के मोबाइल पर शाम 5 बजकर 44 मिनट पर भेजा गया था। उसके करीब 21 मिनिट बाद 6 बजकर 5 मिनट पर जीटी एक्सप्रेस की चपेट में आने से मौत का दावा किया जा रहा है।

गर्ल फ्रेंड और दर्जन भर से ज्यादा दोस्तों से पूछताछ

गर्ल फ्रेंड और दर्जन भर से ज्यादा दोस्तों से पूछताछ

मप्र के आगर मालवा सिवनी के रहने वाले बीटेक के छात्र निशांक राठौर की मौत की मिस्ट्री में हर रोज एक नए मोड़ को जन्म दे रही है। मामले की जांच कर पुलिस की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम के लिए भी यह गुत्थी सुलझाना बड़ी चुनौती है। मृतक के दोस्तों के आधार पर निशांक की गर्ल फ्रेंड का पता चला। इसके अलावा उसके साथ पढ़ने वाले और अन्य दोस्तों के बारे में जानकारी जुटाई गई। दर्जन भर से ज्यादा दोस्तों से पुलिस ने कई अहम् सुराग जुटाए। मोबाइल कॉल डिटेल भी निशांक की मौत की वजह का पता लगाने में इस्तेमाल की जा रही है।

जांच टीम के लिए चैलेंज बना ‘चाइनीज़ एप’ !

जांच टीम के लिए चैलेंज बना ‘चाइनीज़ एप’ !

निशांक की सोशल मीडिया की कई आईडी, ईमेल अकाउंट का डीप इन्वेस्टिगेशन जारी है। इस केस की जांच SIT के हवाले होते ही मामले में एक और नया मोड़ आया है। पता चला है कि चाइनीज सर्वर पर चलने वाले कई एप के जरिये निशांक ने 18 से ज्यादा इंस्टेंट लोन लिए थे। जिसमें से कई लोन उसने चुका दिए थे। साइबर फॉरेंसिक जांच में निशांक के सभी सोशल मीडिया अकाउंट और इंटरनेट डाटा की अभी तक की पड़ताल में यह बात भी सामने आई है कि साइबर फ्रॉड से जुड़े कुछ लोग उसे लोन चुकाने तरह-तरह से दबाब बना रहे थे।

गर्ल फ्रेंड के फोटो और पर्सनल जानकारी हेक !

गर्ल फ्रेंड के फोटो और पर्सनल जानकारी हेक !

इंस्टेंट एप्लीकेशन सर्वर को अपडेट करने वाला फ्रॉड गिरोह आजकल इंस्टेंट लोन देने वाली कंपनियों का डाटा आसानी से हासिल कर लेते है। पुलिस जांच में यह भी संदेह जताया जा रहा है कि हो सकता है कि संबंधित फ्रॉड गिरोह ने निशांक के मोबाइल का जरुरी डाटा जिसमें गर्ल फ्रेंड की फोटो, चेट और पर्सनल कई जानकारी अपने नियंत्रण में ले ली हो। उसके बाद इंस्टेंट लोन देने वाली कंपनी का कर्मचारी बताकर कुछ लोग उसे ब्लेक मेल भी कर रहे हो।

पिता को पुलिस की दलीलों से इत्तफाक नहीं

पिता को पुलिस की दलीलों से इत्तफाक नहीं

इधर मृतक के पिता रमाशंकर राठौर अब तक हुई पुलिस जांच से संतुष्ट होने राजी नहीं है। वह निशांक की मौत को ख़ुदकुशी के रूप किसी भी दलील को मानने तैयार नहीं। उनका अभी भी वही कहना है कि निशांक कितनी भी परेशानी में क्यों न रहा हो, वह सुसाइड जैसा बड़ा कदम नहीं उठा सकता। मीडिया के बीच दिए बयानों में वह यह भी कहते नजर आए कि शेयर मार्केट में निवेश करने की उनको जानकारी थी। उसमें जो नुकसान हुआ, निशांक ने इसकी हलकी-फुल्की चर्चा परिवार के बीच में की थी। लेकिन कर्ज की वजह से सुसाइड की बात को वह सिरे से खारिज कर रहे है।

ये भी पढ़े-Jabalpur News: पुरानी रंजिश के चलते युवक की हत्या, आधा दर्जन युवकों ने घेरकर किया हमला

Comments
English summary
Nishank Rathore Case New twist in SIT investigation taken instant loan with girl friend
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X