• search
बस्ती न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Basti : गर्लफ्रैंड के चक्कर में करोड़ों की ठगी करने वाला गिरफ्तार, एटीएम बदल कर देता था वारदात को अंजाम

Google Oneindia News

जितनी तेजी से देश में डेबिट कार्ड का इस्तेमाल बढ़ रहा है, उतनी ही तेजी से इनसे जुड़े फ्रॉड भी। अंतरराष्ट्रीय फर्म एसीआई वर्ल्डवाइड का ताजा सर्वे बताता है कि ऐसे फ्रॉड के मामलों में भारत दुनिया में दूसरे नंबर पर आ गया है। एक ताज़ा मामला उत्तर प्रदेश के जनपद बस्ती से सामने आया है, जिसमे पुलिस ने अन्तर्जनपदीय शातिर ठग के सरगना बजरंग बहादुर सिह को गिरफ्तार कर लिया है। दिलचस्प बात तो यह है कि इसने लगभग 1 करोड़ रुपए की ठगी केवल अपनी गर्लफ्रैंड की फरमाइशों को पूरा करने के लिए कर डाली।

1 करोड़ की ठगी करने वाला गिरफ्तार

1 करोड़ की ठगी करने वाला गिरफ्तार

दरअसल, उत्तर प्रदेश के जनपद बस्ती में पुलिस की नाक मे दम करने वाले अन्तर्जनपदीय शातिर ठग के सरगना बजरंग बहादुर सिह की तलाश काफी समय से कर रही थी। इसी प्रकरण में छावनी पुलिस व एसओजी की संयुक्त टीम ने मुखबिर की सूचना पर शातिर ठग बजरंग बहादुर को मय वाहन टाटा सफारी सहित हनुमान गंज के पास से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस इसके दो अन्य साथियों की भी तलाश कर रही है। गिरफ्तार अभियुक्त के पास से पुलिस ने एक टाटा सफारी एक तमंचा व 1950 रुपये नगद बरामद किया है।
क्षेत्राधिकारी हरैया शेषमणि उपाध्याय ने प्रेसवार्ता मे बताया कि इनकी एक गैग बस्ती जनपद मे सक्रिय था, जिसकी तलाश हम बहुत दिनो से कर रहे थे। आज जाकर इस शातिर ठंग को गिरफ्तार करने मे सफलता मिली है। इसके दो अन्य साथियों को भी अतिशीघ्र गिरफ्तार कर लिया जायेगा। विधिक कार्यावाही पूरी कर अभियुक्त को सुसंगति धाराओ मे जेल भेजा जा रहा है। इसके पास से एक टाटा सफारी गाडी व तंमचा एव कुछ रूपये बरामद हुए है।

अलग-अलग ज़िलों में 1 करोड़ की ठगी

अलग-अलग ज़िलों में 1 करोड़ की ठगी

गिरफ्तारी के बाद आरोपी बजरंग बहादुर ने बताया कि वह अपने साथी राजेश सिह व नरसिंह के साथ मिलकर कई राज्यों मे एटीएम बदल कर धोखाधड़ी करता था। उसकी एक गर्लफ्रेंड भी थी जो अक्सर उससे तरह-तरह की फरमाइशें करती थी। उसकी इन्ही फरमाइशों को पूरा करने के लिए उसने यह ठगी का रास्ता अपना लिया। एक दो बार घटना को अंजाम देने के बाद जब बजरंग कानून से बचने में सफल रहा। नतीजन उसके हौसले इतने बुलंद हो गए की उसने अलग-अलग ज़िलों में लगभग 1 करोड़ की ठगी कर डाली।

अक्सर ऐसे मामले आते है सामने

अक्सर ऐसे मामले आते है सामने

आपने अपने आस-पास कई लोगों को यह कहते सुना होगा कि उनके कार्ड से किसी ने पैसे निकाल लिए जबकि एटीएम कार्ड उनकी जेब में ही था। अब सवाल उठता है कि आखिर, इस तरह की धोखाधड़ी आखिर होती कैसे हैं। इस पर साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट बताते हैं कि मौजूदा समय में फ्राड करने वाले बैंक खातों से पैसे चुराने के लिए कई तरीकों का इस्तेमाल करते हैं। इसमें एटीएम क्लोनिंग, व्हाट्सऐप कॉल के जरिए फर्जीवाड़ा, कार्ड के डाटा की चोरी, यूपीआई के जरिए चोरी, लॉटरी के नाम पर ठगी, बैंक खातों की जांच के नाम पर ठगी प्रमुख है।
एटीएम में गोंद लगा देते थे
हाल ही में एक मामला उत्तर प्रदेश के मैनपुरी से सामने आया था जिसमे एटीएम से पैसे निकालने पहुंचे लोगों को ठगी का शिकार बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश हुआ था। आरोपी पहले एटीएम में गोंद लगाते थे ताकि एटीएम कार्ड मशीन में फंस जाए, दूसरा फर्जी हेल्पलाइन पर कॉल करता था और फिर जानकारी लेकर लोगों के खाते से पैसे निकाल लेता था। उन्होंने बताया था, "उन्होंने कई राज्यों में यह धोखाधड़ी की है। उनके पास से 75,000 रुपये नकद, 48 एटीएम कार्ड, 65 सिम कार्ड और 2 अवैध पिस्तौल, 6 मोबाइल फोन और एक कार भी बरामद की गई थी।"

फ्रॉड जिनसे हमे सतर्क रहने की जरूरत

फ्रॉड जिनसे हमे सतर्क रहने की जरूरत

भारत में बढ़ती आधुनिकता के साथ-साथ बैंक खाते से जुड़े फ्रॉड भी लगातार बढ़ते जा रहे हैं। ठगी करने वाले इसलके लिए कई अलग-अलग तरीके इस्तेमाल करते हैं। आगे जानते है ऐसे ही कुछ फ्रॉड जिनसे हमे सतर्क रहने की जरूरत है।
कार्ड के डाटा की चोरी
एटीएम कार्ड के डाटा की चोरी के लिए जालसाज कार्ड स्कीमर का इस्तेमाल करते हैं। इसके जरिए जालसाज कार्ड रीडर स्लॉट में डाटा चोरी करने की डिवाइस लगा देते हैं और डाटा चुरा लेते हैं। इसके अलावा फर्जी की बोर्ड के जरिए भी डाटा चुराया जाता है. किसी दुकान या पेट्रोल पंप पर अगर आप अपना क्रेडिट कार्ड स्वाइप कर रहे हैं तो ध्यान रखें कि कर्मचारी कार्ड को आपकी नजरों से दूर ना ले जा रहा हो।

एटीएम कार्ड की क्लोनिंग

एटीएम कार्ड की क्लोनिंग

साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट बताते हैं कि पहले सामान्य कॉल के जरिए ठगी होती थी लेकिन अब डाटा चोरी कर पैसे खाते से निकाले जा रहे हैं। ठग हाईटेक होते हुए कार्ड क्लोनिंग करने लगे हैं। एटीएम कार्ड लोगों की जेब में ही रहता है और ठग पैसे निकाल लेते हैं। एटीएम क्लोनिंग के जरिए आपके कार्ड की पूरी जानकारी चुरा ली जाती है और उसका डुप्लीकेट कार्ड बना लिया जाता है. इसलिए एटीएम इस्तेमाल करते वक्त पिन को दूसरे हाथ से छिपाकर डालें।
शादी की वेबसाइट पर लोगों के साथ ठगी
अगर आप ऑनलाइन मैट्रिमोनियल साइट पर पार्टनर की तलाश कर रहे हैं तो जरा सावधान रहिए क्योंकि इसके जरिए भी ठगी हो रही है। चैटिंग के जरिए फ्राड करने वाले आपके बैंक खाते से जुड़ी जानकारियां मांगते हैं। ऐसे में बैंक खाते से रकम उड़ा ली जाती है। गृह मंत्रालय के साइबर सुरक्षा विभाग के मुताबिक ऑनलाइन वैवाहिक साइट पर चैट करते वक्त निजी जानकारी साझा ना करें और साइट के लिए अलग से ई-मेल आईडी बनाएं और बिना किसी पुख्ता जांच किए निजी जानकारी साझा करने से बचें।

यूपीआई के जरिए ठगी

यूपीआई के जरिए ठगी

यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस के जरिए किसी को भी आसानी से पैसे भेजे या मंगाए जा सकते हैं। यूपीआई के जरिए ठग किसी व्यक्ति को डेबिट लिंक भेज देता है और जैसे ही वह उस लिंक पर क्लिक कर अपना पिन डालता है तो उसके खाते से पैसे कट जाते हैं। इससे बचने के लिए अनजान डेबिट रिक्वेस्ट को तुरंत डिलीट कर देना चाहिए। अजनबियों के लिंक भेजने पर क्लिक ना करें।
व्हाट्सऐप कॉल के जरिए फर्जीवाड़ा
अगर व्हाट्सऐप पर किसी अनजान नंबर से वॉइस कॉल आती है तो आप सावधान हो जाइए क्योंकि फोन करने वाला आपको ठग सकता है। इस वारदात को अंजाम देने के बाद आपके नंबर को ब्लॉक कर सकता है। वॉइस कॉल करने वाला अपनी ट्रिक में फंसाकर आपके पैसे हड़प सकता है।

Rotomac Bank Fraud: पेन कंपनी रोटोमैक पर 750 करोड़ रुपए के बैंक फ्रॉड का आरोप, CBI ने केस किया दर्जRotomac Bank Fraud: पेन कंपनी रोटोमैक पर 750 करोड़ रुपए के बैंक फ्रॉड का आरोप, CBI ने केस किया दर्ज

Comments
English summary
Basti Fraudster of crores arrested for girlfriend's affair used to change the ATM to carry out the crime
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X