• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Shani or Saturn Effect: शनि हुए अस्त, 36 दिन राहत में रहेंगे सभी राशि वाले

By Pt. Gajendra Sharma
|

नई दिल्ली। नवग्रहों में शनि को न्यायाधिपति यानी कर्मफलदाता का पद प्राप्त है। वे मनुष्य को उसके कर्मों के हिसाब से दंड देते हैं। वहीं अच्छे कर्म करने वालों को पुरस्कार भी प्रदान करते हैं। किसी जातक के जीवन पर सूर्य के बाद सबसे ज्यादा प्रभाव शनि का ही होता है। इसलिए शनि से लोग भयभीत रहते हैं। शनि की साढ़ेसाती और ढैया के दौरान जातक विभिन्न प्रकार की परेशानियों से घिर जाता है, लेकिन अभी साढ़ेसाती और ढैया वालों के लिए कुछ राहतभरे दिन आ रहे हैं।

शनि हुए अस्त

शनि हुए अस्त

शनि पौष शुक्ल प्रतिपदा शुक्रवार दिनांक 27 दिसंबर को मध्य रात्रि के बाद 2.17 बजे अस्त हो गए हैं। शनि के अस्त होते ही वे लोग परेशानियों से राहत महसूस करेंगे जिन पर साढ़ेसाती या ढैया चल रहा है। साथ ही उन्हें भी राहत मिलेगी जिनकी कुंडली में शनि की महादशा चल रही है या शनि खराब स्थिति में है। शनि के अस्त हो जाने से उसका प्रकोप कम होगा। शनि माघ शुक्ल षष्ठी 31 जनवरी 2020 शुक्रवार को दोपहर 3.08 बजे उदय होंगे।

यह पढ़ें: मेष प्रेम राशिफल 2020 (Aries Love Horoscope): परवान चढ़ेगा प्यार, होगी हर इच्छा पूरी

 24 जनवरी 2020 से शनि करेगा मकर राशि में प्रवेश

24 जनवरी 2020 से शनि करेगा मकर राशि में प्रवेश

वर्तमान में शनि धनु राशि पर चल रहे हैं। इसलिए वृश्चिक, धनु और मकर राशि पर साढ़ेसाती चल रही है। जिसमें से वृश्चिक पर साढ़ेसाती का अंतिम चरण, धनु पर द्वितीय चरण और मकर राशि पर पहला चरण चल रहा है। इसी प्रकार वृषभ और कन्या राशि पर शनि का लघु कल्याणी ढैया चल रहा है। अतः इन पांच राशि वालों को अभी किसी न किसी रूप में परेशानियों, संकटों, मानसिक तनाव, आर्थिक अभावों का सामना करना पड़ रहा है। शनि के अस्त होने से उनका प्रभाव इन राशियों पर कम हो जाएगा इसलिए राहत महसूस होगी। हालांकि 24 जनवरी 2020 से शनि के मकर राशि में प्रवेश करने के साथ ही उपरोक्त राशियों पर से शनि की साढ़ेसाती और लघु कल्याणी ढैया परिवर्तित हो जाएगा।

शनि अस्त होने से ये होंगे लाभ

शनि अस्त होने से ये होंगे लाभ

  • शनि के अस्त हो जाने से समस्त राशि वाले जातकों को कष्टों से राहत मिलेगी।
  • जिनके आर्थिक कार्य अटके हुए थे वे पूरे हो जाएंगे।
  • शनि वाहन और भवन सुख का दाता है। जो लोग नया भवन या वाहन खरीदना चाहते हैं वे इस दौरान खरीद लें तो शुभ होगा।
  • आर्थिक परेशानियों से काफी हद तक राहत मिलेगी। धन आने का मार्ग खुलेगा। इस लगभग 36 दिन की अवधि में आय के नए स्रोत मिलेंगे।
  • ढैया और साढ़ेसाती वालों को शारीरिक कष्टों से मुक्ति मिलेगी। बीमारियों पर हो रहे खर्च में कमी आएगी।

अधिक लाभ के लिए ये उपाय करें

भगवान शिव और हनुमानजी की आराधना शनि के कष्टों से मुक्ति दिलाती है। शनि के अस्त होने से वैसे तो संकट कम हो जाएंगे, लेकिन इस समय का अधिक से अधिक लाभ लेने के लिए इन 36 दिनों में शिव और हनुमान की आराधना करें। भगवान शिव को नियमित रूप से जल और कच्चा दूध अर्पित करें। हनुमान चालीसा का नियमित पाठ करें। गरीबों को अन्न, वस्त्र दान करें। गर्म कपड़ों का दान करें।

यह पढ़ें: साल 2020 का वार्षिक राशिफल

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Shani Tara Asta starts on the 27th of December and ends on the 31st of January 2020.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X