• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Shani Amavasya ( 4rth may 2019) :शनैश्चरी अमावस्या पर राशि के अनुसार करें उपाय

By Pt. Gajendra Sharma
|

नई दिल्ली। अमावस्या हर माह आती है, लेकिन शनिवार को आए तो इसका महत्व कई गुना बढ़ जाता है। इस बार शनैश्चरी अमावस्यसा 4 मई को आ रही है। इस दिन शनिवार होने के कारण यह अमावस्या विशेष फलदायी हो गई है। शनि ग्रह कुंडली के 12 भावों पर अलग-अलग प्रकार से प्रभाव डालता है। इसका प्रभाव प्रत्यक्ष रूप से मनुष्य के जीवन पर पड़ता है। वैदिक ज्योतिष में शनि को एक क्रूर ग्रह माना गया है लेकिन जिन जातकों की जन्म कुंडली में शानि मजबूत होता है उनको यह अच्छे परिणाम देता है। आइए जानते हैं इस शनैश्चरी अमावस्या पर अपनी राशि के अनुसार क्या उपाय करें ताकि आपके जीवन से भी शनिदेव समस्याओं को खत्म कर दें। इन उपायों से आपके जीवन से आर्थिक संकट समाप्त होंगे, जीवन में तरक्की होगी। वैवाहिक, दांपत्य जीवन, प्रेम प्रसंग में लाभ होता है। भूमि, भवन, वाहन संपत्ति सुख प्राप्त होता है।

शनैश्चरी अमावस्या

शनैश्चरी अमावस्या

  • मेष: इस राशि के जातक शनैश्चरी अमावस्या पर प्रातः स्नान के बाद सवा किलो बाजरा मिट्टी के बर्तन में भरकर उसके उपर सरसो के तेल का चार बत्ती वाला दीपक जलाएं। इसके बाद शनि के मंत्र ऊं प्रां प्रीं प्रौं सः शनयै नमः मंत्र की पाच माला जाप करें। मंत्र पूर्ण होने के बाद यह पात्र किसी जरूरतमंद को दान करें।
  • वृषभ: शनि अमावस्या पर वृषभ राशि के जातक बरगद या पीपल के वृक्ष के नीचे सूर्योदय से पूर्व सरसो के तेल का दीपक जलाएं। जल में कच्चा दूध मिलाकर पीपल की जड़ों में डालें। ऊं नमो भगवते वासुदेवाय मंत्र का जाप करें और पीपल की जड़ की मिट्टी से तिलक करें।
  • मिथुन: मिथुन राशि के जातक शनि अमावस्या के दिन एक मिट्टी के कलश में सवा किलो साबुत मूंग हरे कपड़े में बांधकर रखें। इसके ऊपर सरसो के तेल का दीपक जलाएं। ऊं शं शनैश्चराय नमः की पांच माला जाप करें। यह कलश किसी गणेश या शनि मंदिर में रख आएं। शनि अमावस्या के दिन अपने वजन के बराबर अन्न दान करें।
  • कर्क: इस राशि के जातक शनि अमावस्या पर मिट्टी के घड़े में सवा किलो चावल भरकर इसके ऊपर सरसो के तेल का चौमुखा दीपक जलाएं। शनि के मंत्रों का जाप करें और इस पात्र को गरीब को भेंट करें।

यह पढ़ें: कृष्ण भक्तों का सबसे बड़ा पर्व चंदन यात्रा महोत्सव 7 मई से

शनि मंदिर में शनि शांति हवन करवाएं

शनि मंदिर में शनि शांति हवन करवाएं

  • सिंह: सिंह राशि के जातक शनि अमावस्या के दिन शनि मंदिर के बाहर बैठे कुष्ठ रोगियों या गरीबों को सिक्के दान करें। किसी गरीब को सवा किलो गेहूं और लाल वस्त्र दान दें। गौशाला में सरसो की खली दान करें।
  • कन्या: कन्या राशि के जातक शनैश्चरी अमावस्या के दिन काले चने, काली उड़द, काले कपड़े या कंबल का दान करें। शनि देव के निमित्त किन्नर को नीले वस्त्र पर दक्षिणा रखकर दान दें और चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लें। शनि अमावस्या पर केला, मीठी खीर, गुड़ व देसी चने मजदूरों को बांटें।
  • तुला: शनि अमावस्या पर तुला राशि के जातक सवा किलो जौ का दान करें। शनि मंदिर में शनि शांति हवन करवाएं। अपने वजन के बराबर गेहूं मंदिर में दान करें।
  • वृश्चिक: इस राशि के जातक शनैश्चरी अमावस्या के दिन सवा किलो साबूत मसूर या काले तिल शनि मंदिर में दान करें। किसी सफाईकर्मी को भोजन करवाएं या दक्षिणा भेंट करें।
  • पीले फल गाय को खिलाएं

    पीले फल गाय को खिलाएं

    • धनु: धनु राशि के जातक शनि अमावस्या पर सूर्योदय से पूर्व उठकर स्नान करके सवा पांच किलो चने की दाल नए पीले कपड़े में बांधकर अपने पूजा स्थान में रखें। शनिदेव का पूजन करें और उनके सामने सरसो के तेल का चौमुखा दीपक जलाएं।
    • मकर: इस राशि का स्वामी शनि है। शनैश्चरी अमावस्या पर शनि के निमित्त व्रत रखें। शनि व्रत की कथा पढ़े-सुनें। किसी सफाईकर्मी या मजदूरों को नीले या काले कपड़े दान दें। गरीब-भूखे को दही बड़े या उड़द के लड्डू खिलाएं।
    • कुंभ: कुंभ राशि के जातक शनि अमावस्या पर भिखारियों को भोजन करवाएं। चप्पल भेंट करें। शनि मंदिर में सवा लीटर सरसो का तेल दान करें। शनि अमावस्या पर सात सूखे नारियल और 700 ग्राम बादाम किसी मंदिर में दान करें।
    • मीन: मीन राशि के जातक अमावस्या के दिन अपने वजन के बराबर गेहूं या चने की दाल लेकर गरीबों में बांट दें। गरीबों को भोजन व वस्त्र भेंट करें। पीले फल गाय को खिलाएं।

यह पढ़ें: Vaishakha Amavasya: पितरों को मोक्ष दिलाती है वैशाख अमावस्या

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Shani Amavasya is a very sacred and religious day in Hinduism,It is also called Shani Jayanti, in some states such as Maharashtra, Gujarat, Andhra Pradesh and Karnataka.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more