• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

Ravi Pushya Nakshatra 2020: रवि पुष्य नक्षत्र का शुभ संयोग प्रारंभ, धन समृद्धि के लिए करें ये काम

By Pt. Gajendra Sharma
Google Oneindia News

नई दिल्ली। नक्षत्रों में सर्वश्रेष्ठ, शुभ और समृद्धिदायक माना जाने वाला नक्षत्र पुष्य 12 जनवरी 2020 को आ रहा है। इस अति उत्तम नक्षत्र के साथ रविवार का संयोग हो जाने से यह विशेष फलदायी, समृद्धिदायक और कार्यों में सिद्धि देने वाला बन जाता है। इस दिन किए गए कार्यों में सफलता मिलना निश्चित हो जाता है। यह खरीदी का महामुहूर्त भी होता है। इस नक्षत्र का स्वामी शनि और देवता बृहस्पति होते हैं।शनि का स्वभाव स्थायित्व वाला होता है, इसलिए इस नक्षत्र में खरीदी गई चीजें और किए गए कार्य स्थायी होते हैं। इस दिन नवीन भवन का भूमि पूजन, दुकान खोलना जैसे सभी कार्य किए जा सकते हैं।

रवि-पुष्य संयोग कब से कब तक

रवि-पुष्य संयोग कब से कब तक

पुष्य नक्षत्र 11 जनवरी शनिवार को दोपहर 1.29 बजे से प्रारंभ हो जाएगा, लेकिन रविवार का योग दूसरे दिन 12 जनवरी को बनेगा। 12 जनवरी को पुष्य नक्षत्र प्रात: 11.48 बजे तक ही रहेगा। इस दिन प्रात: 7.10 बजे सूर्योदय होगा, इसलिए रवि-पुष्य का संयोग प्रात: 7.10 से प्रात: 11.48 बजे तक रहेगा।

यह पढ़ें: मकर संक्रांति 15 जनवरी को, पूरे दिन रहेगा पुण्यकालयह पढ़ें: मकर संक्रांति 15 जनवरी को, पूरे दिन रहेगा पुण्यकाल

रवि-पुष्य संयोग के खास प्रयोग

रवि-पुष्य संयोग के खास प्रयोग

  • धन प्राप्ति के उपायों के लिए रवि-पुष्य उत्तम होता है। इस दिन पूजा में चांदी का एक सिक्का रखें और इसका पूजन करें। कमलगट्टे की माला से मां लक्ष्मी के बीज मंत्र श्रीं का जाप करें। इस सिक्के को अपने घर का दुकान की तिजोरी में रखने से धन लाभ होता है।
  • रवि पुष्य नक्षत्र के दिन मोती शंख में जल भरकर लक्ष्मी मां की मूर्ति के पास रातभर रखा रहने दें। अगले दिन इस जल को पूरे घर में छिड़कें और बचा हुआ जल तुलसी के पौधे में अर्पित कर दें। इससे घर में धन-धान्य के भंडार भरे रहते हैं।
  • रवि पुष्य नक्षत्र के दिन स्वर्ण को कोई आभूषण खरीदने से समृद्धि बनी रहती है। इस दिन नई जमीन, मकान खरीदना, वाहन खरीदना भी शुभ होता है।
अगर विवाह में बाधा हो तो...

अगर विवाह में बाधा हो तो...

  • यदि किसी युवक या युवती के विवाह में बाधा आ रही हो तो रवि पुष्य नक्षत्र से एक दिन पहले केले के पेड़ की जड़ को निमंत्रण दे आएं कि हम आपको कल लेने आएंगे। रवि पुष्य नक्षत्र में पूजन करके जड़ को निकाल लाएं।
  • घर लाकर इसे गंगाजल, फिर कच्चे दूध और फिर गंगाजल से धोकर हल्दी से पूजन करें और पीले कपड़े में बांधकर अपनी दाहिनी भुजा में बांध लें या चांदी के ताबीज में भरकर गले में पहन लें। इससे विवाह का मार्ग खुलता है।
  • रवि पुष्य नक्षत्र के दिन मोती शंख या दक्षिणावर्ती शंख को अपनी दुकान या प्रतिष्ठान में स्थापित करने से व्यापार में लाभ होने लगता है।
  • रवि पुष्य नक्षत्र में श्रीयंत्र की स्थापना करना अत्यंत शुभ होता है। इस दिन शुभ मुहूर्त में श्रीयंत्र लाकर घर में स्थापित करने से सुख-समृद्धि, आयु और आरोग्य प्राप्त होता है।
  • रवि पुष्य नक्षत्र में चांदी का छोटा सा एक चोकोर टुकड़ा खरीदकर लाएं और इसका पूजन कर श्रीसूक्त के पाठ करें। इससे मुश्किल आर्थिक संकट भी दूर हो जाता है।

यह पढ़ें: ईश्वर हर पल रखते हैं अपने भक्त के सुख-दुख का ध्यानयह पढ़ें: ईश्वर हर पल रखते हैं अपने भक्त के सुख-दुख का ध्यान

Comments
English summary
auspicious ravi pushya nakshatra, doing this will make you wealthy.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X