Tap to Read ➤

जानिए क्या है DIGI Yatra? हवाई सफर में Ticket और ID जरूरी नहीं

नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा दिल्ली, वाराणसी सहित देश के कई हवाई अड्डों पर DIGI Yatra सेवा प्रारंभ करने जा रहा है। आइए जानते हैं इसके फायदे
Pravin Kumar Yadav
DIGI Yatra एक ऐसी सुविधा है जिसके द्वारा हवाई सफर के दौरान यात्रियों को आईडी और टिकट साथ रखने की आवश्यकता नहीं होगी
वाराणसी और बेंगलुरु एयरपोर्ट पर इसका ट्रायल प्रारंभ हो चुका है। जबकि दिल्ली, हैदराबाद, कोलकाता, पुणे और विजयवाड़ा में इंस्टालेशन चल रहा है।
यह तकनीक फेसियल रिकॉग्निशन टेक्नोलॉजी (FRT) के तहत काम करेगी। इसके लिए एयरपोर्ट पर या DIGI Yatra के ऐप पर हवाई यात्री को एक बार रजिस्ट्रेशन करना पड़ेगा।
DIGI Yatra के रजिस्ट्रेशन के लिए गूगल के प्ले स्टोर पर DIGI Yatra का ऑफिशियल ऐप उपलब्ध है, जिसे कभी भी इंस्टाल किया जा सकता है।
पहली बार रजिस्ट्रेशन के दौरान आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस या अन्य दस्तावेज की आवश्यकता भी पड़ेगी।
रजिस्ट्रेशन के दौरान यात्रियों का फिंगरप्रिंट और आइरिस आधार के डेटाबेस से मैच कराया जाएगा। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद यात्री बगैर टिकट और पहचान पत्र के भी हवाई सफर कर सकते हैं।
एयरपोर्ट पर पहुंचने के बाद यात्रियों को DIGI Yatra यात्रा के लिए बनाए गए गेट पर पहुंचना होगा। गेट पर खड़ा होने के बाद यात्री की आइरिस और फिंगर स्कैन करने के बाद खुल जाएगा गेट।
इसी तरह की प्रक्रिया यात्रियों को सिक्योरिटी होल्ड एरिया में जाते समय भी दुहरानी पड़ेगी, उसके बाद सिक्योरिटी होल्ड एरिया में प्रवेश मिल जाएगा।
विमान के आ जाने पर अनाउंसमेंट होने के बाद जिस Way पर विमान खड़ा रहेगा वहां पहुंचकर यात्री विमान में बैठ जाएंगे।
इस तकनीक के आ जाने के बाद हवाई सफर करने वाले लोगों का काफी समय बच जाएगा और उनको अपना आईडी कार्ड और टिकट चेक नहीं कराना पड़ेगा।
इस तकनीक के आ जाने के बाद हवाई सफर करने वाले लोगों का काफी समय बच जाएगा और उनको अपना आईडी कार्ड और टिकट चेक नहीं कराना पड़ेगा।
इसे भी देखें