Tap to Read ➤

कहां से भारत में आया था बाबर, कौन-कौन रहे उसकी मुगल सल्तनत के बादशाह?

बाबर वो हमलावर था, जिसने भारत में मुगल सल्तनत की नींव रखी। उसका मूल नाम- ज़हीरुद्दीन मुहम्मद था। वह तैमूर एवं चंगेज़ ख़ान का वंशज था। क्या आप जानते हैं कि बाबर कहां से आया था, और भारत में उसके वंश के शासक कौन कौन रहे?
vijay ram
ज़हीरुद्दीन मुहम्मद उर्फ बाबर भारत में मुग़ल साम्राज्य का संस्थापक था। उसका जन्म मध्य एशिया के देश उज़्बेकिस्तान में अन्दीझ़ान नामक शहर में हुआ था। उसने 1504 ई॰ में काबुल, 1507 ई॰ में कन्धार को जीता था। इस तरह वह बादशाह बन गया।
बाबर ने भारत पर पहला आक्रमण 1519 में किया, और 1526 ई॰ तक भारत पर 5 बार हमला किया। 1526 में उसने पानीपत के मैदान में दिल्ली सल्तनत के अंतिम सुल्तान इब्राहिम लोदी को हराकर मुग़ल साम्राज्य की नींव रखी।
बाबर ने 1527 में ख़ानवा, 1528 में चंदेरी तथा 1529 में घग्गर को जीत लिया। उसने भारत में राणा सांगा को भी हराया। इस तरह मुगलों का शासन शुरू हुआ। 1530 ई० में बाबर की मृत्यु हो गयी।
ज़हीरुद्दीन मुहम्मद उर्फ बाबर भारत में मुग़ल साम्राज्य के संस्थापक और प्रथम शासक था। उसकी बीवी ने 6 मार्च 1508 में हुमायूँ को जन्मा। वह दूसरा शासक बना।
हुमायूँ ने भारत में 1556 तक शासन किया। 15 अक्टूबर 1542 में उसका जलालुद्दीन मुहम्मद नामक बेटा हुआ। उसे ही अकबर-ए-आज़म और जहांपनाह कहा गया। अकबर के शासन में आधा भारत मुगलों के आधीन हो गया।
अकबर की रानी से 31 अगस्त 1569 में नूरुद्दीन मुहम्मद सलीम नामक बेटा हुआ। जिसे जहांगीर कहा गया। उसका 5 जनवरी 1592 में शहाबुद्दीन मुहम्मद ख़ुर्रम नामक बेटा हुआ। जिसे शाहजहाँ कहा गया।
शाहजहाँ ने ही भारत में ताजमहल बनवाया। 22 जनवरी 1666 (आयु 74) को उसकी मौत हो गई। कहा जाता है कि, बेटे ने ही कैद करवा दिया था।
शाहजहाँ की बीवी ने औरंगज़ेब को जन्म दिया था। औरंगज़ेब को ही अलामगीर कहा गया। यह 88 साल जिया। इसे सबसे कट्टर मुगल शासक माना गया।
औरंगज़ेब के बाद मुगल सल्तनत को क़ुतुबुद्दीन मुहम्मद मुआज्ज़म यानी कि बहादुर शाह ने संभाला। बहादुर शाह का जन्म 14 अक्टूबर 1643 में हुआ था। वह 68 साल जिया।
बहादुर शाह के बाद मुगल सल्तनत माज़ुद्दीन जहंदर शाह बहादुर यानी कि जहांदार शाह के हाथ में आ गई। वह 51 साल तक जिंदा रहे।
जहांदार शाह के बाद भारत में मुगल सल्तनत को फर्रुख्शियार ने संभाला। इसी बादशाह ने 1717 में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कम्पनी को बंगाल में शुल्क मुक्त व्यापार करने का अधिकार दिया। 19 अप्रैल 1719 में मौत हो गई।
फर्रुख्शियार के बाद रफी उल-दर्जत, फिर उसके बाद 6 जून 1719 – 17 सितम्बर 1719 तक शाहजहां द्वितीय के हाथ में मुगल शासन की बागडोर रही।
1719 से 1806 तक मुगल शासन सिकुड़ने लगा। अंग्रेज भारत को अधिकार में लेते रहे। 1806 में मिर्ज़ा अकबर उर्फ अकबर शाह सानी ने शासन संभाला। जिसे अकबर शाह द्वितीय कहा गया।
अकबर शाह द्वितीय के बाद सितम्बर 1837 में अबू ज़फर सिराजुद्दीन मुहम्मद बहादुर शाह ज़फर या बहादुर शाह ज़फर आ गए। जिन्हें बहादुर शाह द्वितीय कहा गया। ये आखिरी मुगल शासक थे। 1862 में मौत हो गई।
घूमें गुजरात के ये Places
TOP 10: ये हैं भारत में सर्वाधिक कमाई करने वाली फिल्में, 5 साल में भी नहीं टूटा बाहुबली 2 का रिकॉर्ड
See More