• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

Ganesha Chaturthi 2022: सुख, शांति के लिए करें 'गणेशाष्टकम्' का पाठ

By ज्ञानेंद्र शास्त्री
Google Oneindia News

नई दिल्ली,24 अगस्त। गणेश चतुर्थी 31 अगस्त को है, जिसके लेकर पूरे देश में जोर-शोर से तैयारी हो रही है। गणेश उत्सव दस दिन चलेगा और 9 सितंबर को यानी कि अनंत चतुर्दशी के दिन खत्म होगा। आपको बता दें कि विध्नहर्ता का त्योहार खासकर के महाराष्ट्र, कर्नाटक, हैदराबाद में मनाया जाता है। बप्पा के उत्सव के लिए क्या बच्चे और क्या बूढ़े, सभी बहुत ज्यादा ही उत्साहित रहते हैं।

सुख, शांति के लिए करें गणेशाष्टकम् का पाठ

भगवान गणेश बुद्धि के देवता है, इनकी पूजा करने से लोगों के यश, बल और कौशल की वृ्द्धि होती है तो वहीं गणेश जी की पूजा करने से हर संकट का अंत हो जाता है। इस दिन गणेशाष्टकम् का विशेष रूप से पाठ करना चाहिए, ऐसा करने से घर में सुख, शांति और समृद्दि का वाश होता है।

Hartalika Teej 2022: हरितालिका तीज 30 अगस्त को, जानिए पूजा विधिHartalika Teej 2022: हरितालिका तीज 30 अगस्त को, जानिए पूजा विधि

सुख, शांति के लिए करें 'गणेशाष्टकम्' का पाठ

॥ श्रीगणेशाय नमः ॥

श्रीगणेश प्रार्थना

लम्बोदराय शिवपुत्रगणेश्वराय
बुद्धिप्रदाय भवदुःखविनाशकाय ।
त्रैलोक्यपूज्यपरमाद्भुतकारणाय
विघ्नान्तकाय सुखदाय नमो नमस्ते ॥

श्रीसरस्वती प्रार्थना

  • वन्दे श्रीजगदम्बिकां सरस्वतीं वन्दे जगद्व्यापिनीं
  • वन्दे पुस्तकधारिणीं च परमां वेदान्तसारांशकाम् ।
  • वन्दे ब्रह्मस्वरूपिणीं च विमलां वन्दे जगन्मातरं
  • वन्दे दुःख विनाशिनीं भगवतीं चैतन्यरूपां पराम् ॥

अथ श्रीगणेशाष्टकम्

  • अजं निर्मलं निर्गुणं ज्ञानरूपं
  • निराकारसंसारसारं परेशम् ।
  • जगन्मङ्गलं विश्ववन्द्यं पवित्रं
  • प्रभुं सिद्धिदं तं गणेशं नमामि ॥ १॥
  • प्रसन्नं सदा ब्रह्मरूपं तुरीयं
  • सदैकाश्रयं प्राणिनामेकमात्रम् ।
  • परं नित्यमानन्दकन्दं निरीहं
  • प्रभुं सिद्धिदं तं गणेशं नमामि ॥ २॥
  • गुरुं ज्ञानिनां योगिनां तत्वरूपं
  • तथा प्राणिनां विघ्ननाशं गणेशम् ।
  • सदा मङ्गलं पार्वतीपुत्रमेकं
  • प्रभुं सिद्धिदं तं गणेशं नमामि ॥ ३॥
  • सदूर्वादलं कुङ्कुमं रक्तपुष्पं
  • तथा चन्दनं सुन्दरं रक्तवस्त्रम् ।
  • सदा धारकं ज्ञानमूर्तिं ह्यखण्डं
  • प्रभुं सिद्धिदं तं गणेशं नमामि ॥ ४॥
  • सुसौम्यं निजं निर्विकल्पं वरेण्यं
  • सुज्ञानं सुखं सत्स्वरूपं सुगम्यम् ।
  • सुसिद्धं मुनीशं महेशस्य पुत्रं
  • प्रभुं सिद्धिदं तं गणेशं नमामि ॥ ५॥
  • सदा ध्यायमाना गणेशञ्च देवाः
  • तथा प्रार्थयन्तश्च वेदाः गणेशम् ।
  • गणेशाश्रये सन्ति जीवाः समस्ताः
  • प्रभुं सिद्धिदं तं गणेशं नमामि ॥ ६॥
  • प्रभुं धर्मकामार्थं मोक्षप्रदं तं
  • पुनः पुत्रदं ज्ञानदं सर्वदं च ।
  • तथा साधकं सर्वकामप्रदञ्च
  • प्रभुं सिद्धिदं तं गणेशं नमामि ॥ ७॥
  • अहं त्वां सदा प्रार्थये भो गणेश
  • प्रसन्नो भवन् सर्वदा बुद्धिनाथ ।
  • परं दर्शनं मां ददातु ह्यनन्त
  • प्रभुं सिद्धिदं तं गणेशं नमामि ॥ ८॥
  • प्रातःकाले शुचिर्भूत्वा ये पठन्ति नराः सदा ।
  • श्रीगणेशाष्टकं स्तोत्रं सुखदं मोक्षदं भवेत् ॥ ९॥

इति गायत्रीस्वरूप ब्रह्मचारीविरचितं श्रीगणेशाष्टकं सम्पूर्णम् ॥

Comments
English summary
Ganesha Chaturthi on 31st August. Chanting 'Ganeshashtakam' for happiness and peace on this holy day.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X