• search
वाराणसी न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

शिंजो आबे के निधन से काशी के लोग मर्माहत, दी गयी श्रद्धांजलि

वाराणसी रूद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर के बाहर झुकाया गया भारत और जापान का झंडा, शिंजो आबे को दी गयी श्रद्धांजलि
Google Oneindia News

वाराणसी, 9 जुलाई : जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की निधन के बाद वाराणसी के लोग भी मर्माहत हैं। शिंजो आबे द्वारा काशी को भेंट किये गये रूद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर के बाहर शनिवार को काशी के लोग एकत्र हुए और शिंजो आबे की तस्वीरों को लोंगों ने रूद्राक्ष की माला पहनाकर उनके आत्मा की शांति के लिये प्रार्थना किया। वहीं रूद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर के बाहर फहराये गये भारत और जापान के राष्ट्रीय ध्वजों को भी झुका दिया गया।

Recommended Video

    PM Narendra Modi और Shinzo Abe ने की थी Varanasi में Ganga Aarti | वनइंडिया हिंदी | *International
    Varanasi shinzo abea

    अंतरराष्ट्रीय जगत में भारत ने अपना एक अच्छा दोस्त खो दिया

    रुद्राक्ष इंटरनेशल कन्वेंशन सेंटर के बाहर आज काशीवासियों ने जहां शिंजो आबे की आत्मा की शांत्रि के लिये प्रार्थना किया वहीं प्रणाम वंदे मातरम समिति के अध्यक्ष अनूप जायसवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के करीबी मित्र शिंजो आबे की हत्या से हम सभी काफी दुखी हैं। शिंजो आबे काशी से विशेष स्नेह रखते थे। यही कारण है कि वर्ष 2015 में जब वे काशी आए थे तो दशाश्वमेंध घाट पर आयोजित होने वाली गंगा आरती में शामिल हुए और पूजापाठ किये। इतना ही नहीं उन्होंने काशी​वासियों के लिये रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर उपहार स्वरूप दिया। अंतरराष्ट्रीय जगत में भारत ने अपना एक बहुत अच्छा दोस्त खो दिया है और उसकी भरपाई निकट भविष्य में संभव नहीं है। रूद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर के बाहर लोगों ने प्रार्थना करने के साथ ही मांग किया कि शिंजो आबे की हत्या करने वाले को कड़ी से कड़ी सजा मिले।

    Varanasi ganga arti

    नमामि गंगे संस्था द्वारा भी दी गई श्रद्धांजलि

    नमामि गंगे संस्था के संयोजक राजेश शुक्ला ने कहा कि काशी समेत भारत की प्र​गति के लिये उनके द्वारा किये गये सहयोग को कभी भुलाया नहीं जा सकता है। नमामी गंगे की टीम द्वारा दशाश्वमेध घाट पर गंगा आरती कर जापान के पूर्व पीएम शिंजो आबे को श्रद्धांजलि दे गयी।

    शुक्रवार को 501 दीपों से लिखा गया था नमन
    शुक्रवार को सायंकाल दशाश्वमेध घाट पर होने वाली गंगा आरती में भी जापान के पूर्व पीएम को श्र​द्धांजलि दी गयी थी। इस दौरान काशी के आगमन के समय दशाश्वमेध घाट पर जिस स्थान पर बैठकर शिंजो आबे ने गंगा आरती देखा था वहीं गंगा सेवा निधि द्वारा 501 दीपों से नमन लिख कर शिंजो आबे को श्रद्धांजलि दी गयी थी।

    ये भी पढ़ें - शिवपाल ने अखिलेश के खिलाफ जाकर क्यों दिया द्रौपदी मुर्मू को समर्थन? बताई बगावत की वजह

    Comments
    English summary
    the people of kashi mourn the death of shinzo abea
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X