• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

संजीव बालियान के ऑफर का राकेश टिकैत ने दिया जवाब, कहा- सभी को पता है कि कौन किसानों का समर्थक है और कौन विरोधी

|
Google Oneindia News

लखनऊ, 6 सितम्बर: उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में पांच सितम्बर को हुई महापंचायत के बाद से ही पश्चिमी यूपी का माहौल गरमाया हुआ है। पंचायत से एक दिन पहले ही केंद्रीय मंत्री और पश्चिमी यूपी से बीजेपी के नेता संजीव बालियान ने भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत को राजनीति में आने की सलाह दी थी। टिकैत ने उनकी सलाह को ठुकराते हुए नसीहत दी है कि वो भी किसानों के पक्ष में आ जाएं क्योंकि जनता के वोट की वजह से ही वो सत्ता तक पहुंचे हैं।

राकेश

केंद्रीय मंत्री संजीव बाल्यान के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कि संयुक्त किसान मोर्चा राजनीति में प्रवेश करना चाहता है, तो भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) आपका स्वागत करेगी, भारतीय किसान संघ के नेता राकेश टिकैत ने सोमवार को कहा कि बाल्यान को ऐसा करना चाहिए। किसानों के पक्ष में आओ क्योंकि जनता ने उन्हें अपना वोट देकर सत्ता में भेजा है।

टिकैत ने राजनीति की संभावनाओं को खारिज किया
टिकैत ने राजनीति में शामिल होने की संभावना को खारिज करते हुए कहा कि "संजीव बाल्यान को किसानों के पक्ष में होना चाहिए क्योंकि जनता ने उन्हें सत्ता में वोट दिया है।" उन्होंने आगे कहा कि,

"भाजपा में ऐसे नेता हैं जो किसानों का समर्थन कर रहे हैं। लोग जानते हैं कि कौन नेता हैं जो किसानों का समर्थन नहीं करते हैं, वे उसी के अनुसार प्रतिक्रिया देंगे। बाल्यान को वरुण गांधी और सत्य पाल मलिक के रूप में किसानों का समर्थन करना चाहिए"।

किसान पंचायत

बालियान ने राजनीति में आने की सलाह दी थी

रविवार को बालियान ने टिप्पणी करते हुए कहा था कि यह कहा जा सकता है कि किसानों का आंदोलन राजनीतिक रूप ले रहा है। सभी को राजनीति करने का अधिकार है। अगर वे (संयुक्त किसान मोर्चा) राजनीति में आना चाहते हैं तो हम उन्हें राजनीति करने का अधिकार देंगे। स्वागत है।" टिकैत ने यह भी कहा कि, "सभी लोग जो सरकार का हिस्सा हैं और किसानों का समर्थन करते हैं, उन्हें आगे आना चाहिए और किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए बातचीत शुरू करनी चाहिए।"

सरकार के लिए मुसीबत का सबब बन सकती है किसान महापंचायत

केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए तीन कृषि कानूनों का किसान पिछले कई महीनों से विरोध कर रहे हैं और तीनों ही कानून को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। अपनी इसी मांग को लेकर लाखों किसानों ने उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में महापंचायत का आयोजन किया है। उत्तर प्रदेश में अब विधानसभा चुनाव को कुछ ही महीने का समय रह गया है। ऐसे में चुनाव से ठीक पहले जिस तरह से किसानों ने आक्रामक रुख अपनाना शुरू किया है वह भारतीय जनता पार्टी के लिए मुश्किल का सबब बन सकती है।

English summary
Rakesh Tikait replied to Sanjeev Baliyan's offer, said – everyone knows who is a supporter of farmers and opponents in BJP
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X