चुनाव आयोग ने भाजपा सांसद से कहा, आपसे ये उम्मीद तो नहीं थी

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के सांसद साक्षी महाराज के मुस्लिमों के लेकर दिए गए विवादास्पद बयान की चुनाव आयोग ने निंदा की है। आयोग ने आचार संहिता का उल्लंघन करने पर उन्हें फटकार लगाते हुए कहा है कि ये आचार संहिता के साथ-साथ सुप्रीम कोर्ट के चुनाव के दौरान सांप्रदायिकता का सहारा ना लेने के निर्देशों की भी अनदेखी है। चुनाव आयोग ने कहा कि आप एक बड़े राजनीतिक दल के सम्मानित नेता है। आपसे इस तरह के बयानों की उम्मीद नहीं की जाती है, आपको जनता के बीच ऐसी बयानबाजी से बचना चाहिए। आयोग ने ये फटकार महाराज के अपने बयान पर सफाई पेश करने के बाद लगाई है।

चुनाव आयोग ने भाजपा सासंद से कहा, आपसे ये उम्मीद तो नहीं थी

साक्षी महाराज ने यूपी के मेरठ में 6 जनवरी को एक संत सम्मेलन के दौरान मुस्लिम समुदाय को लेकर टिप्पणी की थी। उन्होंने कहा कि जनसंख्या वृद्धि के कारण देश में समस्याएं खड़ी हो रही हैं। उसके लिए हिंदू जिम्मेदार नहीं हैं। जिम्मेदार तो वो हैं जो चार बीवियों और चालीस बच्चों की बातें करते हैं। बीजेपी सांसद के बयान की शिकायत मिलने पर आयोग ने उन्हें नोटिस जारी किया था। जिस पर उन्होंनें कहा था कि उन्हें अंग्रेजी नहीं आती इसलिए हिन्दी में नोटिस दिया जाए।

11 जनवरी को उत्तर प्रदेश के उन्नाव से भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने चुनाव आयोग की ओर से दिए गए कारण बताओ नोटिस जवाब दिया है। बीजेपी सांसद ने माफी मांगने से इंकार करते हुए अपने जवाब में कहा कि मैंने कोई भी गलत बयान नहीं दिया है, मैंने किसी समुदाय का नाम भी नहीं लिया। उन्होंने कहा कि जनसंख्या वृद्धि पर नियंत्रण लगना चाहिए और महिलाएं बच्चा पैदा करने की मशीन नहीं हैं। उन्होंने अपने बयान को सही साबित करने के लिए कहा कि वो धार्मिक कार्यक्रम में बोल रहे थे। साक्षी महाराज के जवाब के बाद आयोग ने कड़े शब्दों में उनको फटकार लगाई है।

पढ़ें- यूपी विधानसभा चुनाव 2017: विवादित बयान देने पर भाजपा सांसद साक्षी महाराज के खिलाफ केस दर्ज

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Election Comission censures Sakshi Maharaj over 4 wives 40 children comment
Please Wait while comments are loading...