मकान पर लाउडस्पीकर लगाकर दी अजान, रोकने पहुंचा बजरंग दल, तनाव

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

शाहजहांपुर। यूपी के शाहजहांपुर में एक गांव में मकान पर नमाज लाउडस्पीकर लगाकर वहां नमाज पढ़ी जा रही थी। इस नई परंपरा का दूसरे समुदाय के लोगों ने विरोध किया। देखते ही देखते दोनो समुदाय आमने-सामने आ गए। समय रहते मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों को समझाने का प्रयास किया तो मुस्लिम समुदाय के लोग पहले मंदिर पर से लाउडस्पीकर उतारने पर अड़ गए। देखते ही देखते गांव मे बजरंग दल और बीजेपी के नेता पहुचे तो एक बार फिर माहौल गर्म हो गया और मंदिर पर लाउडस्पीकर उतारने का विरोध करने लगे। फिलहाल पुलिस ने मकान पर से लाउडस्पीकर उतरवा कर दोनो पक्षों को थाने बुलाकर समझौते का प्रयास किया जा रहा है।

क्या है मामला

क्या है मामला

दरअसल मामला खुटार थाना क्षेत्र के नगरा गांव का है। यहां के रहने वाले भूरे खान ने दो साल पहले मकान बनाया था। जिसके बाद मकान को मदरसे का रूप देकर उसमे बच्चे पढ़ने आने लगे। उस वक्त भी हिंदू समुदाये के लोगों ने विरोध किया था। लेकिन पुलिस ने समझौता करा दिया। आरोप है कि ईद पर भूरे खान ने मकान पर लाउडस्पीकर लगाकर अजान देना शुरू कर दी और मकान के अंदर ही मुस्लिम समुदाय के लोग इकट्ठा होकर नमाज पढ़ने की नई परम्परा डालने की कोशिश करने लगे। जिसका गांव मे रहने वाले हिंदू समुदाय के लोगो ने विरोध किया। उस वक्त भी पुलिस ने लाउडस्पीकर उतरवा कर मामले को सुलझा लिया था।

आज सुबह फिर लाउडस्पीकर लगाकर दी अजान

आज सुबह फिर लाउडस्पीकर लगाकर दी अजान

आज फिर भूरे खान ने जुमे नमाज पढ़ने से पहले मकान के ऊपर लाउडस्पीकर लगाकर अजान दी उसके बाद नमाज पढ़ी गई जिससे एक बार फिर गांव का माहौल गर्म हो गया। गांव मे हिंदू समुदाय के लोग इकट्ठा होकर विरोध करने लगे। तो वहीं मुस्लिम समुदाय के लोग भी इकट्ठा होने की खबर जब पुलिस को लगी उसके बाद हरकत मे आई पुलिस ने मौके पर पहुंचकर माहौल को बिगड़े से बचाने की कोशिश की। लेकिन एक बार फिर बिगड़ गया जब बीजेपी और बजरंग दल के नेता गांव पहुंचे। वहीं जब पुलिस मकान से लाउडस्पीकर उतारने के बाद मंदिर का लाउडस्पीकर उतारने पहुची तो मंदिर का पुजारी फांसी लगाने पर अमादा हो गयी जिसके बाद पुलिस ने मंदिर का लाउडस्पीकर नही उतरवाया और दोनों पक्षों को थाने बुला लिया।

थाने में समझौते का हो रहा प्रयास

थाने में समझौते का हो रहा प्रयास

एसओ इंद्र कुमार ने बताया कि जब वह गांव मे पहुंचे तो वहां पर भूरे खान के मकान पर लाउडस्पीकर लगा था और जुमे की नमाज मकान के अंदर पढ़ी गई थी। जिसका गांव के ही रहने वाले दिनेश वर्मा ने इसको नई परम्परा बताकर विरोध कर रहे थे साथ ही मकान पर लगे लाउडस्पीकर उतारने की मांग कर रहे थे। फिलहाल मकान पर से लाउडस्पीकर उतार दिया गया है अब दूसरा पक्ष मंदिर पर से लाउडस्पीकर उतारने कि जिद कर रहा है। इसलिए दोनो पक्षों को थाने बुलाया है। जहां दोनों पक्षों को आमने सामने बैठा कर समझौता कराने का प्रयास किया जाएगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
communal tension after reading azan in a loudspeaker in a shahjahanpur village
Please Wait while comments are loading...