• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कोरोना का असर : भीलवाड़ा में पेट्रोल-डीजल की खपत 90 फीसदी तक​ गिरी

|

भीलवाड़ा। राजस्थान का भीलवाड़ा शहर कोरोना वायरस का हॉट स्पॉट बना हुआ है। 1 अप्रैल 2020 तक भीलवाड़ा में कोरोना पॉजिटिव के 26 केस सामने आ चुके हैं। दो मरीजों की मौत भी हो गई है।

पेट्रोल पम्प पर स्टाफ एक तिहाई

पेट्रोल पम्प पर स्टाफ एक तिहाई

राजस्थान की टेक्सटाइल सिटी भीलवाड़ा में कोरोना के बढ़ते खौफ का खासा असर पड़ रहा है। पूरे शहर में कर्फ्यू लगा हुआ है। जिलेभर में भी लॉकडाउन है। आवश्यक सेवाओं में शामिल पेट्रोल पंप खुले हुए, लेकिन पेट्रोल डीजल की खपत करीब 90 फीसदी तक गिर गई। इन पर स्टाफ भी महज एक ही तिहाई है।

 भीलवाड़ा शहर में 12 दिन से कर्फ्यू

भीलवाड़ा शहर में 12 दिन से कर्फ्यू

कोरोना वायरस के चलते शहर में 12 दिन से कर्फ्यू लगा हुआ है। 3 से 13 अप्रैल तक महा कर्फ्यू लगना है। ऐसे में खपत और भी कम हो सकती है। जिले के सभी 180 पेट्रोल पंप पर कोरोना के खौफ का असर दिख रहा है। भीलवाड़ा के पेट्रोल पंपों पर डीजल की बिक्री सवा चार करोड़ रुपए से गिरकर सिर्फ चालीस लाख रुपए रह गई है।

 पहले 47 करोड़ की होती थी ​बिक्री

पहले 47 करोड़ की होती थी ​बिक्री

पहले रोजाना औसतन 5.50 लाख लीटर डीजल की खपत भीलवाड़ा जिले में होती थी। डीजल के साथ-साथ पेट्रोल की खपत भी गिर गई है। औसतन रोजाना 2 लाख लीटर और मासिक 61 लाख लीटर डीजल की खपत जिले में होती है। 47 करोड़ रुपए की बिक्री हर महीने होती है। लेकिन अब खपत दस प्रतिशत रह गई है।

 पेट्रोल पंप कर्मचारियों को जारी हो पास

पेट्रोल पंप कर्मचारियों को जारी हो पास

भीलवाड़ा पेट्रोलियम डीलर सोसायटी के अध्यक्ष जाकिर मोहम्मद ने बताया कि पेट्रोल-डीजल की खपत बिल्कुल गिर गई है। कर्मचारी भी मुश्किल से पेट्रोल पंप पर पहुंच रहे हैं। पेट्रोल पंपों पर काम करने वालों को पास जारी किए जाए या कोई अन्य व्यवस्था की जाए। ताकि ये बेरोकटोक आ सकें।

 आपातकालीन सेवाओं की गाड़ियां ही पहुंच रही

आपातकालीन सेवाओं की गाड़ियां ही पहुंच रही

भीलवाड़ा पेट्रोलियम डीलर सोसायटी के सचिव अमित जायसवाल का कहना है कि पेट्रोल पंप पर आने वाले लोगों में अधिकांश आपातकालीन सेवाओं से जुड़े व्यक्ति ही हैं। खाद्य पदार्थ, भंडार, एंबुलेंस की गाड़ियों में ईंधन भरा जा रहा है।

 महा कर्फ्यू की तैयारियां शुरू

महा कर्फ्यू की तैयारियां शुरू

भीलवाड़ा में तीन अप्रैल से दस दिन के लिए लगने वाले महा कर्फ्यू को लेकर प्रशासन ने शहर के हर गली मोहल्ले को बास-बल्ली लगा कर सील कर दिया है। ऐसे में इमरजेंसी सेवा पेट्रोल वितरण के लिए भी सख्त निर्देश जारी किए गए हैं। महा कर्फ्यू के दस दिन पेट्रोल पम्प पर पर्याप्त कर्मचारियों को ही ड्यूटी देना होगी। इस अवधि के दौरान कर्मचारियों के भी कही आने जाने पर रोक रहेगी।

निजामुद्दीन का राजस्थान कनेक्शन : 5 जिलों से पकड़े तब्लीगी जमात के 42 लोग, बढ़ा कोरोना का खतरा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Corona effect: consumption of petrol and diesel in Bhilwara falls by 90%
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X