• search
पंजाब न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

2 साल बाद मीडिया के सामने आए नवजोत सिंह सिद्धू , किसानों के मुद्दे पर अपनी सरकार को घेरा

|

चंडीगढ़: पंजाब के दमदार नेता नवजोत सिंह सिद्धू आज लंबे समय बाद मीडिया के सामने आए। सिद्धू ने इस दौरान कृषि कानून को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला। साथ ही पंजाब सरकार के मुखिया कैप्टन अमरिंद सिंह को भी आड़े हाथ लिया। उन्होंने पंजाब में तिलहन और दलहन की खरीद के लिए कैप्‍टन सरकार पर निशाना साधा। चंडीगढ़ के पंजाब भवन में मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि आखिर पंजाब सरकार दाल और तिलहन पर किसानों को न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य (एमएसपी) क्‍यों नहीं दे रही है।

navjot singh sidhu

अपनी सरकार के खिलाफ बोलने वाले सिद्धू ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने के लगभग दो साल बाद मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि वो सिर्फ केंद्रीय कृषि कानूनों और खेत किसानों की बात करने के लिए आए हैं। इस दौरान उन्होंने हरियाणा का नमूना पेश करते हुए कहा कि सरकार अनाज की खरीद पर मोटी रकम खर्च कर रही है। हरियाणा सरकार तिलहन खरीद रही है और उसमें से तेल बेच रही है। हम इस पर एमएसपी क्यों नहीं दे सकते है। उन्होंने कहा कि किसान जैविक खेती के लिए तैयार हैं, लेकिन कम से कम किसी को उनका समर्थन करने के लिए आगे आना चाहिए। सिद्धू ने कहा कि किसानों मनरेगा की तरह न्यूनतम समर्थन आय की भी जरूरत है।

देश में बना युद्धक विमान जैसा वाहन, आर्किटेक्ट ने नाम रखा 'पंजाब राफेल', जानिए विशेषताएं

वहीं पंजाब सहित देशभर में चल रहे किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए सिद्धू ने कहा कि तीनों कृषि कानूनों को किसानों के हित में रखकर केंद्र सरकार को वापस लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि लोगों ने केंद्र सरकार के काननू को नकार दिया है। आपको बता दें कि कैप्‍टन सरकार से इस्‍तीफा देने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू मीडिया से दूरी बना ली थी, आज करीब 2 साल बाद पहली बार वो मीडिया के सामने आए।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Congress leader Navjot Singh Sidhu on punjab government and farm laws
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X