• search
पीलीभीत न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कोरोना वारियर्स के सम्मान के चक्कर में सड़कों पर भीड़ के साथ घूमते नजर आए पीलीभीत और कानपुर के डीएम

|

पीलीभीत। बीते रविवार को जनता कर्फ्यू के वक्त उत्तर प्रदेश के कानपुर और पीलीभीत शहर से जिलाधिकारियों की लापरवाही सामने आई है। दोनों शहरों के जिलाधिकारियों ने रविवार की शाम को पांच बजे के बाद कोरोना वारियर्स के सम्मान में ताली और घंटी बजाने के लिए पुलिस फोर्स और आम जनता के साथ सड़कों पर घूमते हुए नजर आए।

janta curfew dm of kanpur and pilibhit did march in honours of corona warriors

पीलीभीत के जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव लोगों के साथ सड़कों पर मार्च करते हुए घंटी बजाते हुए नजर आए। जबकि कानपुर के जिलाधिकारी डॉक्टर ब्रह्मदेव राम तिवारी और एसएसपी अनंतदेव तिवारी पुलिसबल के साथ घंटी और ताली बजाते हुए नजर आए।

हालांकि अब दोनों ही जिलाधिकारियों का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। दोनों ही जिलाधिकारियों ने जनता कर्फ्यू के स उद्देश्य की अनदेखी की, जिसमें लोगों के जमावड़े को रोकते हुए सामाजिक तौर पर दूरी बनानी थी। वायरल हो रहे वीडियो में दोनों डीएम अपने मातहतों व आमजनों के साथ सड़कों पर तालियां और घंटियां बजाते नजर आए।

वायरल हो रहे वीडियो से एक बात तो साफ है कि कानपुर व पीलीभीत के जिलाधिकारी ने जनता कर्फ्यू के दौरान जिस नियमों और निर्देशों का पालन करना था उसे नहीं किया। वो भी उस वक्त जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस बात को लेकर बेहद गंभीर हैं कि कोरोनावायरस को किसी भी स्थिति में हलके में नहीं लेना है।

जनता कर्फ्यू के अगले दिन पीएम मोदी ने किया ट्वीट, कहा- 'कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे...'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
janta curfew dm of kanpur and pilibhit did march in honours of corona warriors
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X