• search
महोबा न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

Manilal Patidar : कौन है भगौड़ा IPS मणिलाल पाटीदार, जानें कितने लाख रुपए मिलेंगे इसे ढूंढने वाले को?

|

महोबा, 4 जून। भगौड़ा आईपीएस मणिलाल पाटीदार फिर सुर्खियों में हैं। वजह इनाम की राशि दोगुना हो जाना है। पहले जहां मणिलाल पाटीदार को ढूंढने वाले को 50 हजार रुपए मिलने थे। वहीं, अब एक लाख रुपए मिलेंगे। यह इनाम उत्तर प्रदेश में एडीजी जोन प्रयागराज ने घोषित किया है।

आईपीएस ​मणिलाल पाटीदार कौन हैं?

आईपीएस ​मणिलाल पाटीदार कौन हैं?

बता दें कि मणिलाल पाटीदार उत्तर प्रदेश कैडर का आईपीएस है। फिलहाल ये निलंबित चल रहा है। मूलरूप से राजस्थान के डूंगरपुर का रहने वाला है। डूंगरपुर के रामजी पाटीदार के घर 25 नवंबर 1989 को जन्मे मणिलाल पाटीदार की यूपी पुलिस बीते आठ माह से तलाश कर रही है।

 इंद्रकांत त्रिपाठी आत्महत्या केस

इंद्रकांत त्रिपाठी आत्महत्या केस

भगौड़ा आईपीएस मणिलाल पाटीदार उत्तर प्रदेश के महोबा में इंद्रकांत त्रिपाठी आत्महत्या केस में आरोपी है। सितंबर 2020 में मणिलाल पाटीदार महोबा में एसपी था। तब क्रेशर कारोबारी इंद्रकांत की मौत से पहले के उनके कई वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुए थे। उनमें एसपी मणिलाल पाटिदार पर छह लाख रुपए प्रति माह रिश्वत मांगने का आरोप लगाया गया था।

Ruma Devi : कभी पैसे के अभाव में बेटे को खोया, अब दूसरों की जान बचाने में रूमा देवी ने खर्च किए ₹ 2 करोड़Ruma Devi : कभी पैसे के अभाव में बेटे को खोया, अब दूसरों की जान बचाने में रूमा देवी ने खर्च किए ₹ 2 करोड़

 हाईकोर्ट की सख्ती के बाद तलाश तेज

हाईकोर्ट की सख्ती के बाद तलाश तेज

इधर, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आईपीएस मणिलाल पाटीदार की फरारी के मामले में संज्ञान लेते हुए सख्ती दिखाई है। हाईकोर्ट ने यूपी सरकार से पाटीदार की तलाश में उठाए गए कदमों के बारे में पूछा है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जांच एजेंसी को 14 जून तक हलफनामा दाखिल करने को भी कहा है।

 24 साल की उम्र में पास की यूपीएससी

24 साल की उम्र में पास की यूपीएससी

बता दें कि साल 2013 में मणिलाल पाटीदार ने महज 24 साल की उम्र 188वीं रैंक हासिल करते हुए यूपीएससी परीक्षा पास कर ली थी। इलेक्ट्रॉनिक टेलीकम्यूनिकेशन से बीटेक के बाद ​ही मणिलाल सिविल सेवा परीक्षा की तैयारियों में जुट गया था। इन्हें लखनऊ में रहने के बाद महोबा में एसपी बनाया गया था।

Riya Chaudhary : 2 सरकारी नौकरी छोड़कर चुनी 'खाकी', फिर बन गईं राजस्थान पुलिस की लेडी सिंघमRiya Chaudhary : 2 सरकारी नौकरी छोड़कर चुनी 'खाकी', फिर बन गईं राजस्थान पुलिस की लेडी सिंघम

 रातों-रात अमीर बनना चाहता था मणिलाल

रातों-रात अमीर बनना चाहता था मणिलाल

महोबा में पुलिस अधीक्षक की कुर्सी संभालने के साथ ही मणिलाल पाटीदार रातों-रात अमीर बनने के ख्वाब देखने लगा था। आरोप है कि कबरई के क्रेशर व्यवसायी इन्द्रकांत त्रिपाठी से 6 लाख रुपए प्रति माह मांगे। त्रिपाठी ने रुपए देने से मना किया तो प्रताड़ित किया जाने लगा। व्यापार ठप कराने की कोशिश हुई। छापेमारी की गई। इससे परेशान त्रिपाठी ने सितंबर 2020 को खुद को गोली कर खुदकुशी कर ली।

 अन्य पुलिस अधिकारी भी आरोपी

अन्य पुलिस अधिकारी भी आरोपी

महोबा व्यापारी त्रिपाठी की मौत के मामले में एसपी रहे मणिलाल पाटीदार के अलावा कबरई के पूर्व एसएचओ देवेंद्र शुक्ला व कांस्टेबल अरुण कुमार यादव भी आरोपी थी। शुक्ला को गिरफ्तार कर जेल भिजवाया दिया गया जबकि अरुण कुमार यादव ने सरेंडर कर दिया। मणिलाल पाटीदार की तलाश जारी है। 25 हजार से शुरू हुआ इनाम 50 हजार होते हुए अब एक लाख तक पहुंच गया।

English summary
manilal patidar ips biography in hindi Story of reward up to one lakh rupees from Mahoba SP
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X