• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

केजीएमयू को मिली कामयाबी, अब सीने का X-Ray बताएगा मरीज कोविड-19 संक्रमित है या नहीं

|

लखनऊ। कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी की जांच में आ रही परेशानी की समस्या से अब निजात मिल सकती है। दरअसल, लखनऊ के केजीएमयू (KGMU) और अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी ने मिलकर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की बदौलत एक प्रोग्राम तैयार किया है। इस प्रोग्राम के तहत केवल सीने के एक्स-रे से पता चल जाएगा कि मरीज कोरोना संक्रमित है या नहीं।

    Coronavirus: सीने के एक्स-रे को देखकर हो सकेगी मरीज की पहचान KGMU को मिली कामयाबी | वनइंडिया हिंदी

    Coronavirus patients will be identified with chest X-rays

    दरअसल, कोरोना संक्रमित मरीजों की कई जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई और बाद में पता चला कि उसे कोरोना संक्रमण है। ऐसे कई केस सामने आए हैं जिनमें कोरोना जांच किट ने कई बार गलत रिपोर्ट दी है। इन समस्याओं को ध्यान में रखते हुए लखनऊ के केजीएमयू और अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी जांच को और मजबूत बनाने के क्रम में काफी दिनों से शोध कर रहे थे। अब दोनों संस्थानों ने मिलकर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की बदौलत एक प्रोग्राम तैयार किया है। जिससे सिर्फ सीने यानी छाती का एक्स-रे (X-Ray ) देखकर यह पता चल पाएगा कि मरीज कोरोना संक्रमित है या नहीं।

    Coronavirus patients will be identified with chest X-rays

    KGMU ने कोरोना मरीजों का मंगवाया एक्स-रे

    किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी ने प्रदेश के कई जिलों से कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की छाती का एक्स-रे मंगाकर इस पर काम शुरू कर दिया है। अब ये जल्द ही क्लीनिकल ट्रायल में जाएगा। लखनऊ के केजीएमयू हॉस्पिटल ने बकायदा एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इस बात की जानकारी दी है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा गया कि चीन और अमेरिका के बाद केजीएमयू जल्द ही एक्स-रे देखकर कोविड मरीजों की पहचान करेगा।

    इन देशों में भी हो रहा इस मॉडल पर काम

    एक्स-रे से ना सिर्फ कोविड मरीजों का पता चलेगा बल्कि फेफड़े के संक्रमण से यह भी पता लग पाएगा कि मरीज कब और कितनी जल्दी ठीक हो सकता है। बता दें कि जब चीन में रैपिड टेस्ट कम हो रहे थे तो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का यह तरीका कारगर साबित हुआ था। इस मॉडल में कोविड-19 रोगियों की पहचान करने का काम अमेरिका, ब्रिटेन, चीन और कुछ अन्य देशों भी कर रहे हैं। अब जल्दी भारत में केजीएमयू में यह शुरू होने जा रहा है।

    लखनऊ में प्रवासी श्रमिकों के ऊपर छिड़का गया केमिकल, VIDEO वायरल होने के बाद दो कर्मचारियों को किया सस्पेंड

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Coronavirus patients will be identified with chest X-rays
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X