• search
जोधपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

VIDEO : अभिनंदन की रिहाई पर क्या चाहती थी पाक जनता, पाकिस्तान से लौटे लोगों ने बताया कड़वा सच

|
    IAF Pilot Abhinandan Varthaman की Pakistan से रिहाई नहीं चाहते थे ये लोग | वनइंडिया हिंदी

    जितेन्द्र डूडी

    Jodhpur News, जोधपुर। भारतीय ​विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान (IAF wing commander abhinandan varthaman) को पाकिस्तान ने भले ही रिहा कर दिया हो, मगर रिहाई के दो दिन बाद पाकिस्तान की जनता की सबसे कड़वी हकीकत सामने आई है। दरअसल, पाकिस्तान की जनता भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई नहीं चाहती थी। यह हम नहीं बल्कि वो लोग कह रहे हैं, जो हाल ही पाकिस्तान से भारत लौटे हैं।

    Pakistan citizens do not wanted abhinanda vartman to be released

    बता दें कि भारत और पाकिस्तान (Pakistan) के बीच थार लिंक एक्सप्रेस चलती हैं, जो शुक्रवार रात को राजस्थान के जोधपुर के भगत की कोठी रेलवे स्टेशन से रवाना होकर पाकिस्तान के कराची तक जाती है और फिर रविवार रात को वापस जोधपुर आती है। Thar Link Express ट्रेन का भारत की सीमा में आखिरी रेलवे स्टेशन मुनाबाव और पाकिस्तान की सीमा में पहले स्टेशन खोखरापार है। भारत-पाकिस्तान के बीच तनावपूर्ण माहौल के चलते कड़ी सुरक्षा के बीच थार एक्सप्रेस रविवार रात को जोधपुर के भगत की कोठी रेलवे स्टेशन पहुंची है। इसमें तीन सौ से अधिक यात्री भारत आए हैं।

    केन्द्रीय मंत्री राठौड़ ने कपिल सिब्बल को Twitter पर बताई वो जगह, जहां मिलेंगे Air Strike के सबूत

    पाक से लौटकर बताया वहां का हाल

    पाक से लौटकर बताया वहां का हाल

    पाक से लौटे जाहिदा, गफ्फार खान और निसार अहमद आदि मीडिया से बातचीत में बताया कि भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान के पकड़े जाने की पाकिस्तान में हर जगह चर्चा होती थी। होटल, रेस्टेरेंट से लेकर चाय की थड़ियों पर लोग अभिनंदन की चर्चा करते देखे जाते थे। जब पता चला कि पाकिस्तान की ओर से अभिनंदन को रिहा किया जाएगा तब पाकिस्तान की जनता में इस फैसले को लेकर विरोध भी देखा गया। पाकिस्तान के लोग नहीं चाहते थे कि अभिनंदन की सकुशल वतन वापसी हो।

    अपनों से गले मिलकर रो पड़े

    अपनों से गले मिलकर रो पड़े

    बता दें कि भारत-पाकिस्तान के बीच जंग जैसे हालात बनने के बाद से थार एक्सप्रेस के जरिए पाकिस्तान से हिन्दुस्तान आने वालों की संख्या में इजाफा हुआ। वहीं, रविवार रात को जब पाकिस्तान से भारत आए यात्री रेलवे स्टेशन पर अपनों से मिले तो गले मिलकर रो दिए। यात्री का कहना था कि पाकिस्तान की बजाय वो हिन्दुस्तान में ज्यादा सुरक्षित महसूस करते हैं।

    सरकार ने मैसेज करके कहा-सतर्क रहो

    सरकार ने मैसेज करके कहा-सतर्क रहो

    पाक से लौटे यात्रियों ने बताया कि 14 फरवरी को पुलवामा हमला होने के बाद से पाकिस्तान में दिनोंदिन दहशत बढ़ती जा रही थी। 18 फरवरी को जम्मू कश्मीर में पुलवामा हमले (Pulwama Attack) में शामिल आतंकी को मार गिराने और 26 फरवरी को इंडियन एयरफोर्स द्वारा एलओसी पार करके आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक किए जाने के बाद तो पूरे पाकिस्तान में भयंकर खौफ और दहशत का माहौल हो गया था। पाकिस्तान सरकार ने जनता मोबाइलों पर मैसेज करके 48 घंटे सतर्क रहने को कहा था।

    घरों के लगाकर रखते थे ताले

    घरों के लगाकर रखते थे ताले

    बता दें कि राजस्थान का 1037 किलोमीटर इलाका पाकिस्तान सीमा से लगता हुआ है। राजस्थान और पाकिस्तान के अनेक परिवारों के बीच रिश्तेदारियां हैं। अब्दुल गफ्फार खान पाकिस्तान के कराची में अपने पोते की शादी में शरीक होने गए थे। अब्दुल की मानें तो भारत-पाक के बीच बढ़े तनाव के दौरान पाक में हमें घरों के बाहर ताले लगाकर रहना पड़ा। ताले की चाबी घर के हर सदस्य के पास रहती थी। लोगों में भारत के प्रति जबरदस्त नफरत है, मगर वे लोग भारत की ताकत से डरते भी हैं। पाक के घरों ही नहीं बल्कि मस्जिदों में भी तनाव का माहौल है। लोगों से नमाज के दौरान की पाकिस्तान की सलामती की दुआ मांगने को कहा जाता है।

    शनिवार को 250 यात्री गए थे पाक

    शनिवार को 250 यात्री गए थे पाक

    बाड़मेर। पुलवामा हमले व भारतीय वायुसेना द्वारा की गई एयर स्ट्राइक के बाद भारत-पाक में तनावपूर्ण स्थिति बरकरार है। भारत-पाक में तनाव के बीच दूसरे शनिवार को भी थार एक्सप्रेस पाक गई। लेकिन यात्रियों में इस बार कमी आई और मात्र 250 यात्री ही पाक गए। जिसमे 65 भारतीय और 185 पाक यात्री शामिल थे। वहीं पाक से 588 यात्री भारत आए। इनमें 138 भारतीय व 440 पाक नागरिक थे। मुनाबाव अंतरराष्ट्रीय रेलवे स्टेशन पर जांच के दौरान तीन पाक यात्रियों की वीजा में गड़बड़ी होने पर वापस लौटा दिया गया।

    Abhinandan Vardhman की कैद से रिहाई तक का सफर

    Abhinandan Vardhman की कैद से रिहाई तक का सफर

    14 फरवरी को जम्मू कश्मीर में हुए आतंकी हमले का बदला लेते हुए भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को एलओसी पार करके एयर स्ट्राइक की। इसके दूसरे ही दिन पाकिस्तान सेना के लड़ाकू विमानों ने भारतीय सीमा में घुसने का प्रयास कर रहे थे। उसी दौरान इंडियन एयरफोर्स के पायलट विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने पाकिस्तान के लड़ाकू विमान F16 को मार गिराते हुए पाक सीमा में चले गए थे, जिन्हें पाक सेना में कैद कर लिया। भारत के दबाव और हमले के डर से पाकिस्तान ने महज 60 घंटे की कैद के बाद तीसरे दिन अभिनंदन वर्तमान को सकुशल रिहा कर दिया। उन्हें 01 मार्च को वाघा-अटारी बॉर्डर पर रात नौ बजकर 20 मिनट पर भारत को सौंपा गया।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Pakistan citizens do not wanted abhinanda vartman to be released
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X