• search
जौनपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

Jaunpur: अपहरण के बाद मासूम अभिषेक की हत्या, मैसेज कर पिता से मांगी थी 7 लाख रुपए की फिरौती

|

Jaunpur News, जौनपुर। खबर उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के जौनपुर (Jaunpur) से है, यहां पैथोलाजी संचालक के (7) वर्षीय बेटे अभिषेक की अपहरण (Kidnapped) के बाद हत्या कर दी गई। सात वर्षीय अभिषेक का शव जमुनिया के पानी टंकी के पास से पुलिस ने बरामद किया है। मासूम के शव को कब्जे में लेकर पुलिस ने पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा दिया। वहीं, शव मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया है। तो वहीं, पुलिस अधीक्षक जौनपुर की मानें तो दोनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों अभियुक्त के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएंगी।

Seven year old Abhishek life lost after kidnapping in Jaunpur

जानकारी के मुताबिक, अयोध्या मार्ग स्थित गोशाला के समीप दीपचंद यादव रहते हैं और बीबीगंज में पैथोलाजी का संचालन करते हैं। उनका पुत्र अभिषेक (7) इसी मार्ग पर स्थित साउथ इंडियन स्कूल में यूकेजी का छात्र है। लाकडाउन में विद्यालय बंद होने की वजह से पढ़ाई के लिए अभिषेक समीप के यादव कालोनी में रह रहे एक शिक्षक के पास कोचिंग के लिए रोजाना जाता था। अभिषेक अपने घर से कोचिंग के लिए निकला, लेकिन वहां नहीं पहुंच पाया। जौनपुर के पुलिस अधीक्षक राज करन नय्यर ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि शिवम कुमार श्रीवास्तव व आकाश जो आईटीआई का छात्र हैं। शिवम का दीपचंद यादव के घर पर आना-जाना था और दीचंद का सात वर्षीय बेटा अभिषेक उसे अच्छी तरह जानता था।

पुलिस अधीक्षक, जौनपुर ने बताया कि दीपचंद का पुत्र पहले शिवम कुमार से ट्यूशन पढ़ता था। बता दें कि शिवम कुमार श्रीवास्तव से ट्यूशन छोड़कर अभिषेक कही दूसरी जगह अपनी कोचिंग शुरू कर दी थी। बताया कि दोनों अभियुक्तों को गिरफ्तार करने के बाद पूछताछ की गई तो इन्होंने बताया कि शनिवार सुबह 10 बजे अभिषेक कोचिंग पढ़ने के लिए घर से निकाल था। लेकिन शिवम ने उसे बाइक से घुमाने ले जाने के बहाने बाइक पर बैठा लिया। अभिषेक उनको पहचानता था, इसलिए साथ चला गया। दोनों युवक बच्चे को लेकर जमुनिया के पानी टंकी पर पहुंचे लेकिन जब बच्चे ने शोर मचाया तो दोनों ने गला घोंट कर मासूम को मौत की नींद सुला दिया।

घटना को अंजाम देने के बाद दोनों आरोपियों ने एक युवक का मोबाइल फोन छीने लिया और उसे बेच कर एक नई मोबाइल भी खरीदी। खरीदी गई नए मोबाइल फोन से दोनों अभिषेक पिता को मैसेज कर 7 लाख रुपए की फिरौती मांगी थी। उसी मोबाइल को सर्विलांस पर लगा कर पुलिस हत्यारों तक पहुंचीं और दोनों को पकड़ लिया। पुलिस अधीक्षक ने बताया है कि घटना की जानकारी मिलते ही 6 टीमें गठित की गई थी। लेकिन दुख है कि हम बच्चे को नहीं बचा सके। आरोपितों के खिलाफ शाहगंज कोतवाली में अपहरण व फिरौती का मुकदमा दर्ज किया गया है। मासूम के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है।

ये भी पढ़ें:- सब-इंस्पेक्टर आरजू पंवार सुसाइड केस: नववर्ष पर मेस में बनवाई थी स्पेशल डिश, बाजार से की थी शॉपिंग

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Seven year old Abhishek life lost after kidnapping in Jaunpur
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X