• search

अब फ़ेसबुक पर कर सकेंगे पुरानी हिस्ट्री को डिलीट

By Bbc Hindi
Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    मार्क ज़करबर्ग
    Getty Images
    मार्क ज़करबर्ग

    आने वाले वक्त में फ़ेसबुक अपने यूजर्स को ब्राउसिंग हिस्ट्री डिलीट करने की सुविधा देने जा रहा है. फ़ेसबुक संस्थापक मार्क ज़करबर्ग ने मंगलवार देर रात इसकी घोषणा की.

    कैलिफॉर्निया में आयोजित कंपनी की सालाना एफ़8 कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए ज़करबर्ग ने कहा कि फ़ेसबुक पर पुरानी हिस्ट्री को डिलीट करने वाले टूल का नाम 'क्लियर हिस्ट्री' होगा.

    ज़करबर्ग ने कहा, "यह बहुत ही आसान सा कदम होगा जिसके ज़रिए आप अपनी ब्राउसिंग हिस्ट्री को डिलीट कर सकेंगे. आपने किन लिंक्स को क्लिक किया, कौन सी वेबसाइट को विज़िट किया आदि जानकारियां आप क्लियर हिस्ट्री के ज़रिए हटा सकेंगे."

    सालाना एफ़8 कॉन्फ्रेंस
    Getty Images
    सालाना एफ़8 कॉन्फ्रेंस

    ज़करबर्ग ने कहा कि बहुत से लोगों ने इस बारे में बात की थी. उनका कहना था, "फ़ेसबुक पर विज्ञापन और अन्य टूल्स के ज़रिए जिन वेबसाइट और एप्स को आप देखते हैं, उन्हें अपनी मर्जी के अनुसार डिलीट कर सकेगें, और अगर आप उन्हें सुरक्षित रखना चाहते हैं तो क्लियर हिस्ट्री को टर्न ऑफ करके सुरक्षित भी रख सकते हैं."

    हाल के दिनों में फ़ेसबुक पर अपने यूजर्स का डेटा किसी अन्य कंपनी को बेचने का मामला सामने आया था. फ़ेसबुक पर उसके करोड़ों यूज़र्स की निजी जानकारियां राजनीतिक लाभ के मद्देनज़र कैंब्रिज एनालिटिका नामक कंपनी को बेचने के आरोप लगे थे.

    ऑकुलस गो वर्चुअल रियलिटी हैडसेट
    Getty Images
    ऑकुलस गो वर्चुअल रियलिटी हैडसेट

    ज़करबर्ग ने मंगलवार को कहा कि आने वाले वक्त में इस तरह की गड़बड़ियां दोबारा ना हों, इसके लिए फ़ेसबुक बहुत से एहतियाती कदम उठाने जा रहा है.

    ज़करबर्ग ने कैंब्रिज एनालिटिका के साथ हुई घटना को विश्वास तोड़ने जैसा बताया. उन्होंने कहा "एक ऐप डेवेलपर लोगों के उस डेटा को बेच देता है जो लोगों ने उसके साथ साझा किया. हम इस बात को सुनिश्ति करना चाहते हैं कि भविष्य में दोबारा ऐसा कभी ना हो, इसलिए हम बहुत से कदम उठाने जा रहे हैं."

    "सबसे पहले जैसा कि आप जानते हैं हम डेवेलपर्स को लोगों से उनका डेटा मांगने पर रोक लगा रहे हैं, दूसरा, हम उन कमियों को तलाश रहे हैं जो डेटा सुरक्षा के लिए खतरा बनी हुई हैं."

    उन्होंने कहा कि इसके लिए वो अपने हर उस ऐप की जांच कर रहे हैं जिसके पास साल 2014 के दौरान लोगों की बहुत सी जानकारियां थीं. और अगर इनमें से किसी पर ज़रा सा भी शक़ हुआ तो इसकी स्वतंत्र जांच करवाई जाएगी.

    उनका कहना था कि अगर पाया गया कि किसी के डेटा का गलत इस्तेमाल हुआ तो उस ऐप डेवेलपर को बैन कर दिया जाएगा.

    मार्क ज़करबर्ग
    Getty Images
    मार्क ज़करबर्ग

    ज़करबर्ग ने इसके साथ ही फ़ेसबुक के कई नए उत्पादों के बारे में भी जानकारियां दी. उन्होंने बताया कि फेसबुक जल्दी ही डेटिंग सर्विस शुरू करने जा रहा है इस सेवा के ज़रिए के फ़ेसबुक यूज़र्स अपने लिए बेहतर साथी का चुनाव कर सकेंगे.

    ज़करबर्ग ने बताया कि "फ़ेसबुक पर लगभग 2 करोड़ लोगों ने अपना स्टेटस सिंगल लिखा हुआ है, अब मौका है कि वे अपने लिए बेहतर साथी का चुनाव कर सकेंगे."

    साथ ही ज़करबर्ग ने कहा कि इंस्टाग्राम पर अब वीडियो चैट और कुछ नए फिल्टर्स भी शामिल किए जाएंगे और वो उम्मीद करते हैं कि लोगों को ये पसंद आएंगे.

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Will now be able to delete old history on facebook

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X