• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

नये रिसर्च ने बताया भोजन करन का सही तरीका

By Ajay Mohan
|

लंदन। ब्रिस्टल विश्वविद्यालय में किये गये नये शोध ने दुनिया भर के लोगों को भोजन करने के सही तरीका सिखाया है। वह तरीका क्या है, यह बताने से पहले हम आपको बतायेंगे कि अध्ययन कैसे और किन पर किया गया।

Food

अगर इतिहास उठाकर देखें तो पहले के अध्ययनों से पता चला था कि धीरे-धीरे खाने वालों का बॉडी मास इंडेक्स तेज खाने वालों की अपेक्षा कम होता है, लेकिन यह नहीं पता चल पाया था कि ऐसा क्यों होता है।

समाचार पत्र डेली मेल में प्रकाश‍ित खबर के अनुसार ब्रिस्टल विश्वविद्यालय के शोधार्थियों ने लोगों को पाइप के जरिए सैंसबरीज टोमैटो सूप पिलाया। रिसर्च में शामिल लोगों को दो अलग-अलग गति से 400 मिलीलीटर सूप पिलाया गया।

  • पहली गति के तहत 11.8 मिलीलीटर सूप हर दो सैकेंड तक पिलाने के बाद चार सैंकेंड का विराम दिया गया।
  • दूसरी गति के तहत 5.4 मिलीलीटर सूप हर एक सैकेंड तक पिलाने के बाद 10 सैकेंड का विराम दिया गया।

उनसे सूप पीने के तुरंत बाद और दो घंटे के बाद पूछा गया कि उन्हें कितनी संतुष्टि मिली? धीमी गति से सूप पीने वालों ने कहा उन्हें अधिक संतुष्टि मिली, जबकि जिन्हें जल्दी-जल्दी सूप पिलाया गया था, वे असंतुष्ट दिखे।

क्या सिखाया रिसर्च ने

रिसर्च ने अपने अध्ययन के बाद एक वक्तव्य जारी किया और लोगों से धीरे-धीरे खाना खाने के लिये कहा। क्योंकि धीरे-धीरे खाने से अधिक संतुष्टि मिलती है।

English summary
A latest research done in Bristol University in London taught the people how to eat food.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X