• search

बीवी की ऐसी याद आई कि विमान चुरा उड़ गया सैनिक

By Bbc Hindi
Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    बीवी की ऐसी याद आई कि विमान चुरा उड़ गया सैनिक

    1969 में शीत युद्ध अपने चरम पर था. 23 साल के एक मैकेनिक पॉल मेयर, यूनाइटेड स्टेट एयर फ़ोर्स यानी यूएसएएफ के इंग्लैंड स्थित बेस पर तैनात थे.

    पॉल ने बेस से एक हरक्यूलिस विमान चुराया और अपने देश के लिए निकल पड़े. उड़ान भरने के कुछ घंटों बाद ही वो विमान अचानक रडार से गायब हो गया.

    तो क्या ये विमान क्रैश हो गया था या उसे मार गिराया गया था?

    22 मई 1969 की रात पॉल के लिए बेचैनी भरी थी. वो अपनी पत्नी और सौतेले बच्चों को बहुत याद कर रहे थे. कुछ दिन पहले उन्होंने अपना ट्रांसफर अमरीका के वर्जीनिया करने की रिक्वेस्ट भी डाली थी, लेकिन उनकी इस अपील को ठुकरा दिया गया.

    मायूस युवा वियतनामी वेटरन अपने एक साथी की पार्टी में गए. वहां उन्होंने ख़ूब शराब पी ली. उनके साथियों के मुताबिक शराब पीने के बाद वो काफ़ी आक्रामक बर्ताव करने लगे.

    पॉल के साथियों ने उन्हें कहा कि अब वो जाकर सो जाएं, लेकिन पॉल खिड़की से निकलकर भाग गए.

    पुलिस को वो ए11 सड़क पर जाते हुए मिले. पुलिस ने उन्हें शराब पीने और ग़लत व्यव्हार करने की वजह गिरफ़्तार कर लिया.

    पुलिस पॉल को उनके बैरक में ले गई और सो जाने के लिए कहा.

    लेकिन पॉल मेयर के दिमाग़ में कुछ और ही चल रहा था.

    "हनी, मैं घर आ रहा हूं"

    पॉल एक कैप्टन के रूम में घूसे और उनके ट्रक की चाबी चुरा ली. "कैप्टन एपस्टन" का नाम लेकर पॉल मेयर ने एयरक्राफ्ट कॉर्डिनेटर को फ़ोन किया और कहा कि उन्हें विमान, हरक्यूलिस C-130 ट्रांसपोर्ट शिप चाहिए. उन्होंने कॉर्डिनेटर से कहा कि उन्हें अमरीका जाने तक का ईंधन भी विमान में चाहिए.

    क्रू ने अपने वरिष्ठ अधिकारी के आदेश का पालन किया और नक़ली कैप्टन शिप पर सवार होकर निकल गया.

    23 मई को सुबह 5 बजकर 10 बजे युवा सैनिक 60 टन वजनी जहाज को लेकर उड़ गया. पॉल ने विमान उड़ाने की कभी कोई ट्रनिंग नहीं ली थी.

    वर्जीनिया में आधी रात हो रही थी. तभी मैरी एन "जेन" मेयर का फ़ोन बजा.

    मैरी ने जैसे ही फोन उठाया, दूसरी ओर से उनके पति ने जोश भरी अवाज़ में कहा, "हाय हनी! गेस करो मैं कहां हूं. मैं घर आ रहा हूं, रास्ते में हूं."

    जेन अभी भी नींद में ही थीं. उन्होंने पॉल से पूछा कि वो अपनी टीम के साथ किस वक़्त यहां पहुंचेंगे.

    तभी पॉल ने तपाक से जवाब दिया, "मैं ख़ुद विमान उड़ाकर अकेला घर आ रहा हूं."

    ये सुनकर जेन सुन्न रही गईं, "तुम? तुम विमान उड़ा रहे हो? हे भगवान!"

    उस दिन के 50 साल बाद, मैरी एन जेन गुडसन (अब वो इस नाम से जानी जाती हैं) कहती हैं कि पॉल के साथ एक घंटे चली उस दिन की बातचीत उनके दिमाग़ में आज भी ताज़ा है.

    मैरी को जब पता चला कि पॉल बिना इजाज़त लिए बेस से निकल गए हैं और उन्होंने एक हरक्यूलिस विमान भी चुराया है तो वो पॉल से वापस लौट जाने के लिए गिड़गिड़ाने लगी.

    उन्होंने पॉल को चेतावनी भी दी कि अगर वो नहीं लौटेगें तो सेना उन्हें कड़ी सज़ा देगी.

    पॉल को कहे उन्हें अपने आख़िरी शब्द तो याद नहीं हैं, लेकिन उन्हें ये ज़रूर याद है कि उनके पति ने उन्हें आख़िरी बार क्या कहा था.

    "बेबी, मैं तुम्हें पांच मिनट में फ़ोन करता हूं. यहां कुछ दिक्क़त हो गई है."

    इसके बाद फ़ोन कट गया. एक घंटे बाद पॉल का विमान क्रैश हो गया.

    क्या उन्हें मार गिराया गया था?

    घटना के कुछ दिन बाद ऑलडरनी द्वीप के तट से हरक्यूलिस विमान का कुछ मलबा मिला था. इस मलबे में एक लाइफबोट भी शामिल थी. लेकिन मैकेनिक का शव कभी बरामद नहीं हो सका.

    पॉल की पत्नी मैरी करती हैं, "एयरफ़ोर्स की ओर से मुझे कभी नहीं बताया गया कि विमान क्रैश हो गया था. मुझे एक टेलीग्राम मिला था कि विमान लापता हो गया है...जिस वक़्त मुझे पॉल ने कहा था कि वो दिक्क़त में हैं, तो मुझे लगा कि हो सकता है कि उन्हें सेना के कुछ दूसरे विमानों ने घेर लिया हो और मार गिराया हो. मुझे यक़ीन है कि उन्होंने मुझे पूरा सच नहीं बताया है."

    1969 में शीत युद्ध अपने चरम पर था. यूनाइटेड स्टेट एयर फ़ोर्स की आधिकारिक रिपोर्ट के मुताबिक़ पॉल मेयर के विमान लेकर जाने के कुछ देर बाद उनकी मदद के लिए आरएएफ के लेकनहीथ बेस से एक एफ-100 फाइटर प्लेन समेत दो विमानों को भेजा गया था.

    दोनों ही विमान "पॉल से कोई संपर्क नहीं कर पाए."

    लेकिन मैरी बताती हैं कि जब वो अपने पति से फ़ोन पर बात कर रहीं थी तो 20 मिनट बाद उन्हें लाइन पर किसी दूसरे आदमी की आवाज़ सुनाई दी. वो आदमी पॉल से बात जारी रखने के लिए कह रहा था, ताकि उनकी लोकेशन का पता लगाया जा सके.

    तत्कालीन ब्रिटिश डेप्युटी अधिकारी ने सेना से इस बात का जवाब भी मांगा था कि इतना बड़ा विमान सही समय पर ब्रिटिश और अमरीकन रडार की पकड़ में क्यों नहीं आया.

    इसके जबाव में मिनिस्ट्री ऑफ डिफेंस के जॉन मॉरिस ने कहा था कि पॉल के विमान ले जाने के कुछ मिनटों बाद ही अमरीका ने आरएएफ के एयर डिफेंस ऑपरेशन्स सेंटर को इसकी जानकारी दे दी थी.

    जॉन मॉरिस ने ब्रिटिश संसद में कहा था कि ब्रिटिश एयर ट्रैफिक कंट्रोलर ने अपने रडार पर तीन मिनट में प्लेन को डिटेक्ट कर दिया था.

    जेन ने बताया था कि उनके पति ने उन्हें फ़ोन पर बताया था कि वो रडार की पकड़ से बचने के लिए जानबूझ कर विमान कम ऊंचाई पर उड़ा रहे हैं.

    जब ये घटना हुई तब हेनरी सिर्फ़ सात साल के थे. उन्हें आज भी उस दिन की याद हिला देती है जब आर्मी का एक अधिकारी उनके सौतेले पिता के लापता हो जाने की ख़बर लेकर घर आया था.

    उस वक़्त उनकी मां और सौतेले पिता की शादी को महज़ 55 दिन हुए थे.

    हेनरी कहते हैं, "मुझे याद है कि ख़बर सुनकर मेरी मां एक गुड़िया की तरह ज़मीन पर गिर गई थीं."

    "पॉल एक बहुत अच्छे इंसान थे. उन्होंने हमारे परिवार को स्थिरता दी. वो अपनी उम्र से कहीं ज़्यादा परिपक्व इंसान थे. हमने उनके साथ कई सारे ख़ास पल बिताए हैं."

    लेकिन अमरीका की आधिकारिक रिपोर्ट के मुताबिक़ मेयर इससे कुछ अलग तरह के इंसान थे. रिपोर्ट के अनुसार वो भावनात्मक रूप से काफ़ी परेशान थे. वो ग़ुस्से में थे क्योंकि उन्हें लग रहा था कि उन्हें प्रमोशन नहीं दिया गया.

    हेनरी ने कुछ दिन पहले दोबारा अमरीकी अधिकारियों से संपर्क किया और घटना से जुड़ी और जानकारी हासिल करने की कोशिश की.

    वो कहते हैं कि यूएसएएफ के वक़ील को दो बार दिए गए सबूत गुम हो चुके हैं और उन्होंने फ्रीडम ऑफ इन्फ़ॉर्मेशन एक्ट के तहत यूएसएएफ से जानकारी भी मांगी, लेकिन उनकी इस रिक्वेस्ट को सीआईए ट्रांसफर कर दिया गया.

    सीआईए ने इन रिक्वेस्ट को नज़रअंदाज़ कर दिया.

    मैरी कहती हैं कि पॉल के पास हरक्यूलिस विमान उड़ाने की कोई ट्रेनिंग नहीं थी. तो अगर विमान किसी गांव, स्कूल या अस्पताल में गिर जाता तो एक भयानक हादसा हो सकता था.

    हो सकता है कि यूएसएएफ ने नुक़सान को कम करने के इरादे से पॉल के प्लेन को मार गिराने का ऑर्डर दे दिया हो.

    मैरी के बेटे कहते हैं कि जो भी हुआ सरकार को हमें सच-सच बता देना चाहिए.

    भले ही पॉल को हरक्यूलिस विमान उड़ाने की कोई ट्रेनिंग नहीं मिली थी, लेकिन वो एक मैकेनिक थे. इसलिए प्लेन के बारे में बहुत कुछ जानते थे.

    क्रैश के पीछ तर्क दिया गया कि अगर कोई इंसान नशे में और नींद में हो तो विमान से कंट्रोल खो सकता है.

    इस बात पर उनके बेटे कहते हैं कि, "हां, बिल्कुल ऐसा हो सकता है. हो सकता है कि नशे में ठीक से दिखाई ना दे पाने की वजह से उन्होंने विमान से काबू खो दिया हो और विमान पानी में गिरकर फट गया हो."

    "लेकिन जिस आदमी ने 90 मिनट तक विमान उड़ाया हो, फिर आप कैसे ये कह सकते हैं. मैं नहीं कहता कि उन्होंने बहुत अच्छा काम किया, लेकिन उन्होंने दिखा दिया कि वो एक पायलट हैं जो विमान उड़ा सकता है."

    इस तरह की हैरान कर देने वाली घटनाओं के साथ इंटरनेट पर कई तरह की अफ़वाहें और षड्यंत्र की आशंका होने की बातें जोड़ दी जाती हैं.

    कुछ थिअरी में ये दावा किया गया कि विमान को इसलिए मार गिराया गया क्योंकि ये विमान सीआईए का था और इसमें कई तरह के गुप्त दस्तावेज़ भी थे.

    कुछ अफ़वाहें ऐसी भी थी कि पॉल घटना में बच गए और सालों तक पूर्वी यूरोपियन देशों में रहे.

    उस दिन असल में क्या हुआ था आज भी ये बात कई लोगों ख़ासकर पॉल की पत्नी के लिए एक पहेली है. मैरी आज भी पूरी सच्चाई जानने की कोशिश कर रही हैं.

    ये भी पढ़ें...

    घायल अमरीकी सैनिक को दोबारा ऐसे बनाया गया मर्द

    देश से बाहर किस मिशन पर हैं दो लाख अमरीकी सैनिक

    प्रशांत महासागर के 'रणक्षेत्र' में अमरीका को चीन की चुनौती

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    A wife remembered that the plane crashed

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X