UPSC के कठिन सवालों ने छात्रों के होश उड़ाए, कटऑफ रहेगी कम

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। यूपीएससी की परीक्षा ने एक बार फिर से छात्रों के लिए बड़ी मुश्किल खड़ी कर दी, पिछले वर्ष जहां यूपीएससी ने कई सवाल करेंट अफेयर से पूछे थे तो इस बार करेंट अफेयर के सवालों की संख्या काफी कम थी। इस बार रविवार को हुई परीक्षा में करेंट अफेयर की तुलना में तथ्यात्मक सवाल ज्यादा पूछे गए थे। एक बार फिर से यूपीएससी ने वैचारिक और व्यवहारिक सवाल काफी पूछे। सवाल कुछ इस तरह के थे ताकि छात्रों के हर क्षेत्र में ज्ञान को परखा जा सके। जिस तरह का इस बार का पेपर था उसके बाद माना जा रहा है कि कट ऑफ काफी कम रहने वाली है।

upsc

पर्यावरण से अधिक सवाल, आधुनिक इतिहास पर जोर

पर्यारवण के विषय पर इस बार भी यूपीएससी ने खास ध्यान दिया और 15 सवाल इस क्षेत्र से पूछे गए थे, ज्यादातर सवाल करेंट अफेयर पर थे, जिसमें मुख्य रूप से पर्यावरण का लोगों के स्वास्थ्य और वातावरण पर प्रभाव अहम थे, लिहाजा पर्यावरण की खबरे इस बार भी यूपीएससी के लिए हिट थी। वहीं इतिहास, कला और संस्कृति से इस बार कुल 12 सवाल पूछे गए थे। इस बार छह सवाल आधुनिक इतिहास और छह सवाल प्राचीन इतिहास, कला और संस्कृति से पूछे गए थे। इतिहास के सवाल अधिकतर तथ्यों पर निर्भर थे, हालांकि आधुनिक इतिहास की तुलना में प्राचीन इतिहास का पेपर अधिक कठिन नहीं था।

भूगोल में मानचित्र पर आधारित अधिक सवाल

भूगोल में 70 फीसदी सवाल मानचित्र पर आधारित थे, लिहाजा छात्रों के लिए यह बहुत मुश्किल नहीं रहा, हालांकि कुछ सवाल ऐसे थे जिनको लेकर छात्र भ्रमित हो सकते थे। कई सवाल मानसून, सिंचाई और कृषि क्षेत्र से थे, बहुत ही कम सवाल प्राकृति भूगोल से पूछे गए हैं। वहीं अगर अर्थशास्त्र पर नजर डालें तो ज्यादातर सवाल तथ्यात्मक थे। कुल मिलाकर 7-8 सवाल अर्थशास्त्र से पूछे गए थे, लेकिन यह सवाल आसान नहीं थे, इस बार सवाल विचारात्मक की बजाए तथ्यात्मक थे। एक बार फिर से यूपीएससी ने 2012-16 के करेंट अफेयर से अधिक से अधिक सवाल पूछे।

विज्ञान और तकनीक का बदला स्वरूप

विज्ञान और तकनीक से कुल चार सवाल इस बार पूछे गए थे और यह सभी सवाल प्रयोजनात्मक थे, ज्यादातर सवाल तकनीकी क्षेत्र से थे। करेंट अफेयर में अधिकतर सवाल पर्यावरण और जैव विविधता के क्षेत्र से थे। लेकिन जिस तरह के सवाल इस क्षेत्र से पूछे गए, उससे साफ हो गया है कि अलग से सामान्य विज्ञान पढ़ने की जरूरत नहीं है।

राजनीति अभी भी हिट

यूपीएससी ने सबसे अधिक सवाल राजनीति से पूछे थे, इस विषय से कुल 22 सवाल पूछे गए थे, यह ऐसा क्षेत्र है जहां छात्र सबसे अधिक अंक हासिल करते हैं। ज्यादातर सवाल विचारात्मक और तथ्यात्मक थे, लिहाजा एनसीईआरटी एक बार फिर से छात्रों के लिए सहायक साबित हुई। करेंट अफेयर से सरकार की योजनाओं, नए कानून और नीतियों पर कुछ सवाल पूछे गए थे और इसमें कुल 14 सवाल थे। ऐसे में अगर आप इसे मिला दें तो कुल 27 सवाल इस क्षेत्र से पूछे गए थे

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
UPSC come up with more tough paper cut off to go very low.Students factual as well as conceptual knowledge tested
Please Wait while comments are loading...