मोदी से बोली सेना- हमले के लिए हम तैयार, बस इशारे का इंतजार

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। कश्मीर के उरी सेक्टर में हुए आर्मी कैंप पर हमले का बदला लेने के लिए भारतीय सेना पूरी तरह से तैयार है, ये बात खुद सेना की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कही गई है।

army

भारतीय सेना ने प्रधानमंत्री को दिखाया प्रेजेंटेशन

भारतीय सेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा कि आप चिंता मत करिए हम पूरी तरह से तैयार हैं। हम आतंकी हमले का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार हैं और उन्हें निस्तेनाबूद कर सकते हैं।

उरी आतंकी हमले पर नवाज शरीफ के नापाक बोल, कहा- कश्मीर हिंसा का रिएक्शन है ये

बता दें कि उरी हमले में भारतीय सेना के 18 जवान शहीद हो गए थे वहीं इस कार्रवाई में 4 आतंकी भी मारे गए थे।

उरी आर्मी बेस कैंप पर हमले के खिलाफ देशभर में लोग गुस्से में हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद पूरे मामले को लेकर गंभीर हैं। उन्होंने हमले के बाद लगातार कई उच्चस्तरीय बैठक की।

प्रधानमंत्री और एनएसए के सामने सेना ने दिखाया दम

इसी दौरान प्रधानमंत्री मोदी से भारतीय सेना ने खास मुलाकात की। इस मुलाकात में भारतीय सेना की ओर से दो प्रेजेंटेशन पेश की गई। जिसमें दिखाया गया कि कैसे भारतीय सेना पाकिस्तान में घुसकर आतंकी कैंप को खत्म करेगी।

पाकिस्तान के साथ संयुक्त युद्ध अभ्यास पर रूस का बड़ा बयान, कहा- PoK से बनाए रखेंगे दूरी

ये प्रेजेंटेशन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के लिए तैयार की गई थी। इस प्रेजेंटेशन में सेना ने बताया कैसे खुफिया तौर पर आतंकी ठिकानों पर हमला किया जाएगा और उन्हें खत्म किया जाएगा।

भारतीय सेना की ओर से प्रेजेंटेशन के बताया गया कि भारतीय सेना इस पूरे ऑपरेशन के लिए तैयार है, बस इंतजार है तो सरकार के आदेश का।

आतंकियों से निपटने के लिए सेना का खुफिया प्लान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे प्रेजेंटेशन को देखने के बाद एनएसए अजित डोभाल से कहा कि वो भारतीय सेना के संपर्क में रहें और आतंकी ठिकानों पर कैसे कार्रवाई की जाए इस पर विचार करें। वनइंडिया के सूत्रों के मुताबिक ये पूरी बैठक बेहद खुफिया तरीके से हुई।

अकेले किसान और खाट नहीं हर धर्म का वोटर है राहुल के रडार पर

सेना ने कहा कि हमारे पास आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन की दो योजनाएं हैं। इसमें एक टीम उन आतंकियों की तलाश करेगी जो घुसपैठ की कोशिश में हैं, वहीं दूसरी टीम भारतीय सीमा में एंट्री कर चुके आतंकियों का खात्मा करेगी। इसको लेकर भारतीय सेना का आला अधिकारियों को जानकारी दी जा चुकी है।

एलओसी पर सेना को किया गया तैनात

हालांकि भारतीय सेना और सरकार दोनों ही सीधे हमले के पक्ष में नहीं हैं। इसलिए इस पर फैसला लिया गया है कि पहले विशेष ठिकानों को निशाना बनाया जाए, वो भी गुपचुप तरीके से।

ALERT: पंजाब में घुसा पाकिस्तानी जासूस कबूतर, पुलिस ने किया गिरफ्तार

इस बीच भारतीय सेना को एलओसी पर पूरी तरह से मुस्तैद कर दिया गया है। भारतीय सेना ने उरी हमले के बाद पहला फैसला यही किया कि घुसपैठ की कोशिश करने वालों को सीधा निशाना बनाया जाए।

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक उरी हमले के बाद 5 बार घुसपैठ की कोशिश की गई, जिसे सेना के जवानों ने फेल कर दिया। इस कार्रवाई में 14 आतंकी भी मारे गए हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Revenge for Uri, Indian army says Don't worry PM we are ready.
Please Wait while comments are loading...