• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

प्रियंका ने बताया- दादी इंदिरा को पसंद था फुटबॉल का खेल, इस टीम को करती थीं सपोर्ट

|

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव और पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को केरल के एरिकोड में एक रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने जहां एक और पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा, तो वहीं दूसरी ओर उन्होंने अपनी दादी इंदिरा गांधी के साथ की मीठी यादें लोगों के साथ साझा कीं। प्रियंका ने लोगों को बताया कि, बहुत कम लोग ही जानते हैं, कि मेरी दादी वर्ल्ड कप फुटबॉल देखा करती थीं। उन्हें फुटबॉल देखना पसंद था। प्रियंका गांधी वाड्रा इस रैली में अपने बेटे रेहान और बेटी मिराया के साथ गईं थीं। रैली के खत्म होने पर प्रियंका के बच्चों ने भी लोगों का अभिवादन भी किया।

 उन्होंने मेरे साथ सॉकर (फुटबॉल) का वर्ल्ड कप भी देखा था।

उन्होंने मेरे साथ सॉकर (फुटबॉल) का वर्ल्ड कप भी देखा था।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने रैली में कहा कि बहुत लोग नहीं जानते होंगे कि मेरी दादी इंदिरा गांधी फुटबॉल की बड़ी प्रसंशक थीं। उन्होंने मेरे साथ सॉकर (फुटबॉल) का वर्ल्ड कप भी देखा था। प्रियंका ने बताया कि, 1982 में जब हम वर्ल्ड कप का फाइनल मैच देख रहे थे तो मैंने उनसे पूछा था कि आप किस टीम का समर्थन कर रही हैं? इस सवाल पर उन्होंने कहा था कि भारत इसमें नहीं खेल रहा है, तो मैं इटली का समर्थन कर रही हूं। उन्होंने कहा कि मेरा बेटा और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी फुटबॉल के बड़े फैन हैं।

मोदी ने पांच सालों में देश बांटने का काम किया

मोदी ने पांच सालों में देश बांटने का काम किया

वहीं इस रैली में पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि, यह मेरा देश है, ये पहाड़ियां मेरा देश है, उत्तर प्रदेश में गेहूं के खेत मेरा देश हैं। तमिलनाडु, गुजरात, पूर्वोत्तर मेरा देश है लेकिन, भाजपा सरकार ने पिछले पांच बरसों में देश को सिर्फ बांटने का काम किया है। पांच साल पहले एक सरकार सत्ता में आई थी जिसे एक बड़े बहुमत से वोट दिया गया था। हमारे देश के लोगों ने बीजेपी सरकार में अपना विश्वास और आशाएं रखीं। इस सरकार ने सत्ता में आने के बाद से उस विश्वास को धोखा देना शुरू कर दिया।

जानिए कौन हैं कांग्रेस MLC दीपक सिंह, जिन्होंने प्रियंका के वाराणसी से चुनाव लड़ने का किया दावा

वे यह मानने लगे हैं कि सत्ता उनकी है लोगों की नहीं

वे यह मानने लगे हैं कि सत्ता उनकी है लोगों की नहीं

उन्होंने बीजेपी के 15 लाख रुपए देने के वादे पर भी निशाना साधा, प्रियंका ने कहा, 'वे यह मानने लगे कि सत्ता उनकी है लोगों की नहीं। इस गलतफहमी का पहला संकेत तब मिला जब उनके अपने अध्यक्ष ने चुनाव के तुरंत बाद घोषणा की कि हर बैंक खाते में 15 लाख रुपए आएंगे। यह वादा सिर्फ चुनावों के लिए था, जिसे उन्होंने जुमला कहा था।' उन्होंने किसानों से उनकी आय दोगुनी करने का वादा किया। वह भी जुमला साबित हुआ। प्रियंका ने कहा कि, पीएम मोदी ने युवाओं से वादा किया कि वे हर साल रोजगार के दो करोड़ अवसर पैदा करेंगे। लेकिन सत्ता में आने के बाद, वे भूल गए कि उन्हें सत्ता में लेकर कौन आया है। उन्होंने आरोप लगाया कि वह (भाजपा) यह मानने लगी कि सत्ता उसके पास है और यह लोगों के पास नहीं है।

अपने राज्य की विस्तृत चुनावी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Priyanka Gandhi says her grandmother Indira cheered for Italy during football World Cup in 1982
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X