Pradyuman Murder Case:CBI के पास गया प्रद्युम्न का मामला, क्या मिल पाएंगे इन 15 सवालों के जवाब?

Subscribe to Oneindia Hindi

गुरुग्राम। हरियाणा की राज्य सरकार ने गुरुग्राम स्थित रायन इंटरनेशनल स्कूल में प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) को सौंप दी है। शनिवार को प्रद्युम्न के शरीर की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई और आरोपी अशोक ने कई खुलासे किए हैं। हालांकि अब ये मामला 8 सिंतबर के दिन सरीखा नहीं रहा। पहले दिन से ही इस में पेचीदगी शुरू हुई तो अब वो खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। पहले दिन से ही प्रद्युम्न के माता पिता को पुलिस और स्कूल की थ्योरी पर यकीन नहीं है। पुलिस की चार्जशीट में बस कंडक्टर अशोक को आरोपी बनाए जाने के बाद भी उनका कहना है कि मामले कोई और पेंच है।

ये भी पढ़ें: Pradyuman Murder Case: हत्यारोपी कंडक्टर की भाभी ने बताया, क्यों कबूला अशोक ने गुनाह?

अशोक ने 2 दिन में बदले बयान

अशोक ने 2 दिन में बदले बयान

वहीं आरोपी अशोक ने बीते 2 दिनों के भीतर कई बार बयान तो बदले ही इसके साथ ही उसके संग काम करने वाले बस ड्राइवर सौरव राघव और माली हरपाल ने भी उस पर शक ना करने की कई वाजिब वजहें बताई हैं। माली हरपाल ने तो यहां तक कह दिया है कि पुलिस ने उससे 5 घंटे की पूछताछ में मार पीट और उसका सिर पानी में डुबोया।

अशोक के वकील ने कहा...

अशोक के वकील ने कहा...

खुद आरोपी अशोक, उसके परिजन और वकील मोहित वर्मा ने भी कहा है कि करंट, नशे का इंजेक्शन और मारपीट के दम पर पुलिस ने यह आरोप अशोक से कबूल कराया है। अब जबकि यह मामला CBI के पास चला गया है ऐसे में कुछ सवाल उनके सामने भी आएंगे। आइए आपको बताते हैं कि वो कौन से संभावित सवाल हैं, जिससे CBI को मामले की जांच के दौरान दो चार होना पड़ेगा।

किसने और क्यों रुकवाई थी बस?

किसने और क्यों रुकवाई थी बस?

  • प्रद्युम्न की हत्या 8 सिंतबर को हुई थी। उसके ठीक 2 दिन पहले स्कूल में वो हुआ जो कभी नहीं हुआ था। दरअसल, 6 सितंबर को छुट्टी के बाद बस में बच्चे बैठ गए लेकिन बस के जाने से पहले ही उसे रोक दिया गया और फिर सभी बच्चों से कहा गया कि वापस क्लास में जाएं। इसके बाद ड्राइवर को बुलाकर कुछ देर बात की गई। फिर बस 1 घंटे बाद चली। आखिर ऐसा क्या हुआ कि सभी बसों को रोका गया और फिर ड्राइवर से पूछताछ की गई? सवाल यह भी है कि आखिर बस किसने और क्यों रुकवाई थी?
अशोक भी आरोप से मुकरा

अशोक भी आरोप से मुकरा

  • पुलिस की रिपोर्ट में कहा गया है कि जब प्रद्युम्न ने कंडक्टर अशोक आपत्तिजनक हालत में देखा। इतना ही नहीं पुलिस ने यह भी कहा कि प्रद्युम्न के साथ दुष्कर्म किया गया। खुद अशोक ने मीडिया के सामने यह बात स्वीकार की थी। लेकिन फॉरेसिंक रिपोर्ट में तो यह बात सामने आई कि ऐसा कुछ नहीं हुआ था। इतना ही नहीं खुद अशोक अपने ऊपर लगाए गए आरोपों से मुकर रहा है।

ये भी पढ़ें: Ryan School: प्रद्युम्न के हत्यारोपी कंडक्टर ने खोला काले चश्मे वाले शख्स का राज

चाकू पर भी आरोपी ने बदले बयान

चाकू पर भी आरोपी ने बदले बयान

  • जिस चाकू से प्रद्युम्न के हत्या की बात कही जा रही है उसे पहले अशोक ने बस के टूल किट का हिस्सा बताया लेकिन बस ड्राइवर ने इससे इनकार कर दिया कि बस में चाकू था। इतना ही अशोक ने भी पुलिस से पहले कहा कि चाकू बस से लिया और फिर कहा कि आगरा से खरीदा था। अशोक के बार-बार बयान बदलने से भी जांच में अड़चन आ सकती है।
किसने साफ कराई बोतल?

किसने साफ कराई बोतल?

  • बता दें कि स्कूल के जिस टॉयलेट में प्रद्युम्न की हत्या हुई थी उसकी एक खिड़की का सरिया कटा था। हालांकि ये सरिया काटा गया था। लेकिन पुलिस ने इसकी जांच करने की जरूरत नहीं समझी।
  • सवाल यह भी है कि जब जिस जगह पर हत्या हुई थी उसे साफ क्यों करा दिया गया? क्या स्कूल प्रशासन और पुलिस ने सबूत मिटाने के लिए उस जगह को साफ करवाया गया।
  • सवाल ये है कि हत्या के बाद प्रद्युम्न की पानी की बोतल आखिर किसने और क्यों साफ कराया?
वो स्कूल जहां थे इतने सारे लोग...

वो स्कूल जहां थे इतने सारे लोग...

  • इतना ही नहीं प्रद्युम्न की हत्या में जो चाकू इस्तेमाल किया गया था वो इतना साफ कैसे था? क्या उसे इसलिए साफ किया गया ताकि चाकू पर उंगलियों के निशान हटाए जा सकें?
  • वो स्कूल जहां तमाम लोग सुबह से ही मौजूद रहते हो, जहां प्रद्युम्न की हत्या हुई वहां पास में ही क्लासरूम्स थे, किसी ने भी उसकी चीख क्यों नहीं सुनी?
कैसे खराब हुआ CCTV?

कैसे खराब हुआ CCTV?

  • लोगों के जहन में ये सवाल भी है कि आखिर अचानक से स्कूल के सीसीटीवी कैसे खराब हो गए? क्या असली आरोपी को बचाने के लिए ऐसा किया गया?
  • अशोक ने कहा कि उसने 5 मिनट के भीतर उसने ये सब किया, सवाल ये है कि आखिर कैसे पांच मिनट के भीतर एक भी बच्चा नहीं आया?
  • इतना ही नहीं जहां प्रद्युम्न की हत्या हुई उस बाथरूम के दरवााजे के ठीक सामने कॉरिडोर है, जहां से लोग आते जाते हैं, क्या किसी ने इतना ध्यान नहीं दिया?
अपनी भाभी से अशोक ने कहा...

अपनी भाभी से अशोक ने कहा...

  • अशोक ने शनिवार को अपनी भाभी अनुराधा से कहा कि जब प्रद्युम्न घायल हालत में वहां था तो वहां प्रिंसिपल, एक टीचर और करीब 6 फुट लंबा शख्स खड़ा था,जिसने काला चश्मा पहन रखा था। अभी तक पुलिस ने उसके बारे में कुछ पता नहीं किया।
  • इतना ही नहीं अशोक ने दावा किया कि उसने जो आरोप कबूल किए हैं वो पुलिस की ओर से मारपीट की वजह से हैं। उसका दावा है कि उसे नशे का इंजेक्शन और करंट के झटके देकर आरोप कबूलवाया गया।
डरा क्यों है अशोक?

डरा क्यों है अशोक?

  • अशोक की पत्नी ममता ने कहा कि मैं उनसे 14 सिंतबर को मिलने गई थी। मुझे देखते ही वो रोने लगे और सबसे पहले बच्चों का हालचाल पूछा। ममता का दावा है कि अशोक के साथ मारपीट की गई जिसके चलते वो दबाव में आ गए।
  • ममता का कहना है कि अशोक पर दबाव बनाकर आरोप कबूल कराया गया है। ममता का कहना है कि उसके पति काफी डरे हुए हैं।

बता दें कि 8 सितंबर को सुबह ही यह खबर आई थी कि प्रद्युम्न की हत्या कर दी गई है। पुलिस ने सोमवार (11 सितंबर) को रायन ग्रुप के नॉर्दन जोन के प्रमुख फ्रांसिस थॉमस और भोंडसी की शाखा को-ऑर्डिनेटर जे ईथ को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने यह गिरफ्तारियां जुवेनाइल जस्टिस एक्ट के तहत की है। राज्य सरकार ने मामले की CBI जांच के आदेश भी दे दिए हैं।

ये भी पढ़ें: Pradyuman Murder Case: कैसे हुई प्रद्युम्न की मौत, पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुला रहस्य

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
pradyuman murder case: Question raises ahead of cbi investigation haryana gurugram ryan school
Please Wait while comments are loading...