राजपूतों पर ये क्या कह दिया परेश रावल ने, प्रेस कांफ्रेंस करके मांगनी पड़ी माफी

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

राजकोट। गुजरात चुनाव में लगातार एक के बाद एक विवादित बयानों को लेकर नेता चर्चा में हैं। इस बार भाजपा सांसद परेश रावल अपने बयान को लेकर चर्चा में हैं। शनिवार को एक रैली को संबोधित करते हुए परेश रावल ने कुछ ऐसा कह दिया जिसकी वजह से उन्हें अपने बयान को बदलान पड़ा। यही नहीं परेश रावल को बाकायदा एक प्रेस कांफ्रेंस करके अपने इस बयान पर सफाई तक देनी पड़ी। परेश रावल राजकोट स्थित रिंग रोड पर शनिवार को शाम को जब चुनावी कार्यक्रम के दौरान लोगों को संबोधित कर रहे थे तो उन्होंने कहा कि सरदार पटेल ने देश को एक किया था, ये राजा-रजवाड़े, जो बंदर थे, उनको सही किया था, सीधा किया था। उन्होंने कहा कि पटेल के बारे में बहुत कुछ नहीं लिखा गया है लेकिन जेआरडी टाटा ने कहा था कि अगर सरदार पटेल देश के प्रधानमंत्री होते तो देश कहां पहुंच गया होता।

paresh rawal

सरदार पटेल का हुआ अपमान
परेश रावल ने कहा कि सरदार पटेल का अपमान करने वालों के पास सरदार पटेल का बैनर नहीं है, कांग्रेस ने सरदार पटेल की मृत्यु के 30 साल बाद उन्हें भारत रत्न दिया था, लेकिन राजीव गांधी को उनकी मृत्यु के तुरंत बाद भारत रत्न दे दिया गया था। राजा-रजवाड़ों को बंदर कहे जाने पर उनका विरोध शुरू हो गया था, जिसके बाद परेश रावल ने अपने बयान पर सफाई देने के लिए मीडिया के सामने आना पड़ा।

सरदार पटेल की भूमिका निभाई है मैंने
राजा-रजवाड़ों पर दिए अपने बयान पर सफाई देते हुए परेश रावल ने कहा कि मैं सरदार पटेल की बात इसलिए कर रहा हूं क्योंकि मैंने उनका रोल किया था, मैंने उनके हावभाव का अभ्यास किया था, उनके बारे में काफी जानकारी हासिल की थी। परेश रावल ने कहा कि यह ब्राह्मण का बेटा जितना पटेल के बारे में जानता है उतना तो पटेल का बेटा भी उनके बारे में नहीं जानता होगा।

बयान को पलटा, मागी मांफी
सोशल मीडिया पर जब परेश रावल का विरोध होना शुरू हुआ और क्षत्रिया समुदाय ने उनका विरोध करा शुरू कर दिया, उनके पुतले जलाने का ऐलान कर दिया गया। जिसके बाद परेश रावल ने प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर अपने बयान पर माफी मांगी। उन्होंने कहा कि मैंने जो बात कही थी वह हैदराबाद के निजाम को ध्यान में रखते हुए कही थी, मैने राजपूतों के बारे में नहीं कहा है। राजपूतों की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि राजपूत देश का गौरव हैं, ऐसे लोगों के खिलाफ मेरे मुंह से कभी गलत शब्द नहीं निकल सकते, लेकिन इसके बाद भी अगर किसी की भावना आहत हुई है तो उसके लिए मैं माफी मांगना चाहता हूं।

इसे भी पढ़ें- गुजरात चुनाव: बीजेपी के लिए कैंपेन कर रहे हैं NRI पटेल

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Paresh Rawal in controversy for commenting against Rajputs. Later he apologize for his statement in media.
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.