• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

आतंकी मसूद अजहर के खिलाफ जल्द ही कड़ी कार्रवाई कर सकता है पाकिस्तान

|

नई दिल्ली। पुलवामा हमले के बाद से लगातार भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव देखने को मिल रहा है। ऐसे में जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान की इमरान खान सरकार इस कोशिश में है कि भारत के साथ जारी तनाव को कम किया जा सके। इसी के मद्देनजर पाकिस्तान ने जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर पर कड़ी कार्रवाई करने का फैसला किया है। ये जानकारी शीर्ष सरकारी सूत्रों के हवाले से मिली है। वहीं रविवार को कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में आया कि पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के आतंकवादियों की सूची में मसूद अजहर को शामिल करने के प्रस्ताव पर अपने विरोध को वापस भी ले सकता है।

क्या नजरबंद होगा अजहर मसूद

क्या नजरबंद होगा अजहर मसूद

न्यूज एजेंसी पीटीआई ने सूत्र के हवाले से बताया है कि पाकिस्तान की सरकार ने सैद्धांतिक रूप से जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर के खिलाफ कार्रवाई का फैसला कर लिया है। जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ ये कार्रवाई जल्द से जल्द और किसी भी समय हो सकती है। सूत्र ने ये भी कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव कम करने की कोशिश में इमरान खान सरकार ने जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ कार्रवाई की योजना बनाई है। पहले भारतीय पायलट को उनके देश वापस भेजने के बाद अब तनाव कम करने की कोशिश में इमरान सरकार ने ये अहम कदम उठाया है।

इसे भी पढ़ें:- नहीं बाज आया पाकिस्तान, बिना छुए ही विंग कमांडर अभिनंदन का किया मानसिक उत्पीड़न

जैश सरगना पर कार्रवाई का इमरान सरकार बना रही प्लान: सूत्र

जैश सरगना पर कार्रवाई का इमरान सरकार बना रही प्लान: सूत्र

आतंकी मसूद अजहर के भविष्य को लेकर पूछे गए सवाल पर सूत्र ने बताया कि ये अभी स्पष्ट नहीं हैै कि आतंकी मसूद अजहर को उसके घर में नजरबंद किया जाएगा या फिर हिरासत में लिया जाएगा। हालांकि ऐसी मीडिया रिपोर्ट्स आ रही हैं कि पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) के आतंकवादियों की सूची में जैश के सरगना मसूद अजहर को शामिल करने के प्रस्ताव पर अपना समर्थन दे सकता है।

भारत से तनाव टालने की कवायद में पाकिस्तान सरकार

भारत से तनाव टालने की कवायद में पाकिस्तान सरकार

अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने बुधवार को मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में नये सिरे से प्रस्ताव रखा था। इस प्रस्ताव के बाद जैश सरगना मसूद अजहर के वैश्विक रूप से यात्रा करने पर पाबंदी लग जाएगी और उसकी संपत्तियां कुर्क हो जाएंगी। सुरक्षा परिषद के प्रतिबंध के बारे में फैसला लेने वाली समिति 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद के वीटो अधिकार प्राप्त तीन स्थाई सदस्य देशों के ताजा प्रस्ताव पर 10 दिन के अंदर विचार करेगी।

रविवार को आई थी मसूद अजहर के मारे जाने की खबर

रविवार को आई थी मसूद अजहर के मारे जाने की खबर

बता दें कि रविवार को खबर आई थी कि लगातार बीमार चल रहे मसूद अजहर की पाकिस्तान के अस्पताल में मौत हो गई, लेकिन पाकिस्तान की मीडिया ने इस खबर को गलत बताया है। भारत के मोस्ट वाडेंट आतंकी और संसद हमले के मुख्य आरोपी आतंकी मसूद के जिंदा होने की या मरने की कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। पाकिस्तानी मीडिया ने मसूद अजहर के परिवार के करीबी अज्ञात सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि मसूद अजहर जिंदा है। वहीं पाकिस्तान सरकार भी मसूद अजहर की मौत की खबर पर चुप है। पाकिस्तान सरकार के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने भी अजहर की मौत के दावों वाली मीडिया रिपोर्टों के बारे में पूछे जाने पर कुछ भी बताने से इंकार किया।

इसे भी पढ़ें:- 'नरेंद्र मोदी के पास ब्रिटेन का प्रधानमंत्री बनने का उतना ही मौका है जितना मेरे पास'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pakistan may soon take action against JeM chief Masood Azhar: Report
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X