• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पाकिस्तान का दावा, भारतीय पनडुब्बी पहुंची उनके समुद्री क्षेत्र में, चेतावनी के बाद वापस लौटी

|

नई दिल्ली। भारत और पाकिस्तान के बीच पिछले कुछ दिनों से तनाव काफी बढ़ गया है। इन सबके बीच पाकिस्तान ने दावा किया है कि मंगलवार को भारतीय पनडुब्बी उनके समुद्री क्षेत्र में देखी गई। जब इस पनडुब्बी को चेतावनी दी गई तो वह वापस चली गई। गौर करने वाली बात यह है कि पाक की ओर से यह दावा ऐसे समय में आया जब भारतीय नौसेना के चीफ एडमिरल सुनील लांबा ने चेतावनी दी थी कि इस तरह की रिपोर्ट हैं कि आतंकियों को ट्रेनिंग दी जा रही है कि वह पानी के रास्ते हमला कर सके।

नौसेना चीफ ने दी थी चेतावनी

नौसेना चीफ ने दी थी चेतावनी

जिस तरह से भारतीय वायुसेना ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के ठिकानों पर हमला बोला था, उसके बाद अगले हफ्ते ही नौसेना की चीफ ने यह चेतावनी दी थी। बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला बोला था, जिसमे सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक की थी।

विंग कमांडर ने मार गिराया था एफ-16

विंग कमांडर ने मार गिराया था एफ-16

भारतीय वायुसेना की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान की वायुसेना ने भारत के एयरस्पेस का उल्लंघन करते हुए भारतीय रक्षा ठिकानों पर निशाना साधा, लेकिन चुस्त भारतीय वायुसेना ने इसका माकूल जवाब दिया। वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन ने पाक के एफ-16 को मिग-21 से मार गिराया था। लेकिन दुर्भाग्यववश उनका एयरक्राफ्ट इस दौरान क्रैश कर गया और उन्हें पाक की जमीन पर पैराशूट से लैंड करना पड़ा जहां पाक की सेना ने उन्हें बंधक बना लिया। जिन्हें बाद में इमरान खान ने पीस जेस्चर के तहत रिहा करने का ऐलान किया था।

300 आतंकियों के ढेर होने की रिपोर्ट

300 आतंकियों के ढेर होने की रिपोर्ट

गौरतलब है कि वायुसेना की एयरस्ट्राइक के बाद इस तरह की खबरें सामने आई थी कि सेना ने जैश के तकरीबन 300 आतंकियों को ढेर कर दिया है। जिसके बाद से लगातार विपक्ष सवाल खड़ा कर रहा है कि आखिरकार कितने आतंकी एयर स्ट्राइक में मारे गए हैं। सूत्रों के अनुसार एनटीआरओ ने इस बात की जानकारी दी है कि जिस जगह पर वायुसेना ने एयर स्ट्राइक की थी वहां पर उस वक्त 300 मोबाइल फोन एक्टिव थे, जिससे इस बात के साफ संकेत मिलते हैं कि मौके पर तकरीबन इतने ही लोग मौजूद थे। एनटीआरओ की रिपोर्ट के बाद ही वायुसेना ने बालाकोट स्थित जैश के ठिकानों पर एयरस्ट्राइक की थी। बता दें कि 26 फरवरी को 12 मिराज 2000 एयरक्राफ्ट ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयरस्ट्राइक की थी, जहां 1000 किलोग्राम के बम गिराए गए थे।

300 फोन थे एक्टिव

300 फोन थे एक्टिव

सूत्र के अनुसार टेक्निकल सर्विलांस के दौरान जिस जगह पर एयरस्ट्राइक की जानी थी वहां पर तकरीबन 300 मोबाइल फोन एक्टिव थे। जिसके बाद वायुसेना की एयरस्ट्राइक में जैश के इसी ठिकाने पर बमबारी की गई थी। हालांकि अभी तक सरकार की ओर से किसी भी तरह का कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है कि इस एयरस्ट्राइक में कितने आतंकी मारे गए थे। लेकिन वायुसेना के चीफ बीएस धनोवा ने बताया कि हमने तय टार्गेट पर निशाना बनाया और इसमे सफलता हासिल की, लेकिन वहां पर कितने लोग मारे गए इसकी जानकारी हमारे पास नहीं है, हमारा काम तय टार्गेट पर हमला करना होता है, लोगों की मौत की संख्या गिनना नहीं।

इसे भी पढ़ें- पाकिस्‍तान एयरफोर्स ने ऑफिसर्स से कहा, 'खतरा अभी टला नहीं हर पल रहें मुस्‍तैद'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pakistan claims Indian submarine returned after being warned in its water.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X