महिला आयोग ने भी बवाल के लिए वीसी और BHU प्रशासन को ठहराया जिम्मेदार

Subscribe to Oneindia Hindi

वाराणासी। उत्तर प्रदेश स्थित  वाराणसी पहुंची महिला आयोग की टीम ने काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में बवाल के लिए  वाइस चांसलर जीसी त्रिपाठी को दोषी ठहराया है। यहां पत्रकारों से बात करते हुए कार्यकारी अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा कि ये घटना वीसी के संवादहीनता के कारण हुई। बता दे कि मुख्यमंंत्री आदित्यनाथ के आदेश पर कमिश्नर वाराणसी नितिन रमेश गोकर्ण ने भी अपनी रिपोर्ट में वीसी और विश्वविद्यालय प्रशासन को दोषी बताया था। इसके अलावा रेखा शर्मा ने कहा कि लड़कियों पर लाठीचार्ज पुरुष पुलिसकर्मियों ने किया था इसकी पुष्टि हो चुकी है। यही नहीं बवाल में बाहरी लोग भी शामिल थे जिन्होंने माहौल को बिगाड़ा। आयोग अपनी रिपोर्ट एक हफ्ते के अंदर मानव संसाधन और विकास मंत्रालय के साथ-साथ उत्तर प्रदेश सरकार को भी भेजेगा। रेखा शर्मा ने कहा कि कुलपति ना तो मुझसे मिले और न ही फोन उठाया। उन्हें दिल्ली में बुलाया जाएगा

महिला आयोग ने भी बवाल के लिए वीसी और BHU प्रशासन को ठहराया जिम्मेदार

महिला आयोग का तीन सदस्यीय जांच दल बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी के लक्ष्मण दास अतिथि गृह 5 अक्टूबर को पहुंचा। इस टीम में कार्यकारी अध्यक्ष रेखा शर्मा, इलाहाबाद हाईकोर्ट की वकील प्रियंका मेढ़ा और राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य गीता राठी हैं जो दो दिनों के वाराणसी दौरे पर पहुंची थीं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
national commission for woman team in banaras hindu university

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.