• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

17 मई के बाद भी जारी रह सकता है लॉकडाउन, लेकिन कुछ और छूट के साथ: सूत्र

|

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए देशभर में लागू लॉकडाउन को 17 मई के बाद भी बढ़ाया जा सकता है। हालांकि जिन क्षेत्रों में कोरोना वायरस के संक्रमण की समस्या ज्यादा गंभीर नहीं है, वहां लॉकडाउन के तहत कुछ छूट दी जा सकती हैं। सोमवार को अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक के बाद सरकार से जुड़े सूत्रों ने इस बात की जानकारी दी है। देश में फिलहाल लॉकडाउन का तीसरा चरण 17 मई तक के लिए लागू है।

15 मई तक राज्यों से सुझाव भेजने के लिए कहा

15 मई तक राज्यों से सुझाव भेजने के लिए कहा

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, जो राज्य या जिले रेड जोन में शामिल है, वहां रात्रि कर्फ्यू और सार्वजनिक परिवहन पर प्रतिबंध जारी रह सकते हैं। इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों से मौजूदा नियमों में बदलाव के लिए 15 मई तक अपने-अपने सुझाव भेजने के लिए कहा है। बैठक के बाद प्रधानमंत्री तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है, 'मेरा मजबूती के साथ ये मानना है कि लॉकडाउन के पहले चरण के दौरान जो उपाय अपनाए गए, दूसरे चरण में उनकी आवश्यकता नहीं थी और ठीक इसी तरह तीसरे चरण में जो उपाय अपनाए गए, अब चौथे चरण में उनकी जरूरत नहीं है।

    PM Modi ने Lockdown-4 को लेकर की चर्चा, CMs से बातचीत के बाद भी क्यों है सस्पेंस? | वनइंडिया हिंदी
    'कंटनेमेंट जोन के बाहर आर्थिक गतिविधियां शुरू की जाएं'

    'कंटनेमेंट जोन के बाहर आर्थिक गतिविधियां शुरू की जाएं'

    सरकार से जुड़े सूत्रों का कहना है कि कई राज्यों ने लॉकडाउन को बढ़ाने के लिए तो कहा है, लेकिन जो क्षेत्र सबसे ज्यादा संकट में हैं, लॉकडाउन को केवल वहीं तक सीमित रखने की बात भी कही है। इसके साथ ही राज्यों ने अनुरोध किया है कि रेड जोन को एक पूरे जिले के लिए केवल कंटेनमेंट जोन के तौर पर बदला जाए। छठे सप्ताह में जारी लॉकडाउन के बीच कई राज्यों ने सुझाव दिया कि कंटनेमेंट जोन के बाहर आर्थिक गतिविधियां शुरू की जाएं।

    हमारे पास एक दोहरी चुनौती- पीएम मोदी

    हमारे पास एक दोहरी चुनौती- पीएम मोदी

    मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'अब हमारे पास भारत में सबसे बुरी तरह प्रभावित इलाकों की रिपोर्ट समेत कोरोना वायरस महामारी के भौगोलिक प्रसार से संबंधित काफी स्पष्ट संकेत हैं। इसके अलावा पिछले कुछ हफ्तों में, अधिकारियों ने एक जिले के स्तर तक इस महामारी से लड़ने की प्रक्रिया को भी समझा है। इसलिए, अब हम कोरोनोवायरस के खिलाफ इस लड़ाई में अपनी रणनीति पर और आगे बढ़कर सोच सकते हैं, जैसा कि होना चाहिए। हमारे पास एक दोहरी चुनौती है- बीमारी के फैलने की दर को कम करना और सभी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए धीरे-धीरे सार्वजनिक गतिविधि को बढ़ाना। अब आगे हमें इन दोनों लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में काम करना होगा।'

    नहीं रुक रही कोरोना के संक्रमण की रफ्तार

    नहीं रुक रही कोरोना के संक्रमण की रफ्तार

    आपको बता दें कि कोरोना वायरस मामले रोज बढ़ रहे हैं। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने मंगलवार को जानकारी देते हुए बताया कि पिछले 24 घंटों के भीतर ही कोरोना वायरस के 3604 नए केस सामने आए हैं, जिसके बाद संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 70756 हो गई है। कोरोना वायरस के कारण पिछले 24 घंटों में 87 मरीजों की मौत भी हो चुकी है। हालांकि राहत की बात ये है कि इनमें से अभी तक 22454 मरीज ठीक हो गए हैं। इस तरह इस समय देश में कुल एक्टिव केस 46008 है।

    ये भी पढ़ें- कोरोना वायरस फैलाने वाले जमातियों के साथ आतंकी जैसा व्यवहार होना चाहिए: भाजपा सांसद

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Lockdown May Continue After May 17, But With Some Relaxation: Sources.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X