• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Bhai Dooj 2020: जानिए क्यों मनाते हैं भाई-दूज का त्योहार, क्या है इसके पीछे की कहानी?

|

नई दिल्ली। दिवाली का पर्व 5 दिनों का होता है, धनतेरस से शुरू हुआ त्योहार भाई-दूज पर खत्म हो गया। बहन-भाई के प्रेम के प्रतीक इस त्योहार का सबसे ज्यादा इंतजार भाई और बहनों को ही होता है। इस दिन जो भाई अपनी बहन से मिलने उसके घर जाता है और टीका करवाता है, उसकी आयु में वृद्धि होती है। भाईदूज में हर बहन रोली एवं अक्षत से अपने भाई का तिलक कर उसके उज्ज्वल भविष्य के लिए आशीष देती हैं।

 Bhai Dooj 2020: क्यों मनाया जाता है भाई-दूज का त्योहार?
    Bhai Dooj 2020: Bhai Dooj पर भूलकर भी न करें ये काम Bhai को हो सकता है भारी नुकसान | वनइंडिया हिंदी

    भाई अपनी बहन को कुछ उपहार या दक्षिणा देता है। भाईदूज दिवाली के दो दिन बाद आने वाला ऐसा पर्व है, जो भाई के प्रति बहन के स्नेह को अभिव्यक्त करता है एवं बहनें अपने भाई की खुशहाली के लिए कामना करती हैं। इस त्योहार के पीछे एक किंवदंती यह है कि यम देवता ने अपनी बहन यमी (यमुना) को इसी दिन दर्शन दिया था, जो बहुत समय से उससे मिलने के लिए व्याकुल थी।यमी (यमुना) से यमराज काफी प्रेम व स्नेह रखते हैं। कार्तिक शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को एक बार जब यमराज यमी के पास पहुंचे तो यमी ने अपने भाई यमराज की खूब सेवा सत्कार की।

    बहन के सत्कार से यमराज काफी प्रसन्न हुए

    बहन के सत्कार से यमराज काफी प्रसन्न हुए और उनसे कहा कि बोलो बहन क्या वरदान चाहिए? भाई के ऐसा कहने पर यमी बोली की जो प्राणी यमुना नदी के जल में स्नान करे वह यमपुरी न जाए। यमी की मांग को सुनकर यमराज चिंतित हो गये। यमी भाई की मनोदशा को समझकर यमराज से बोली अगर आप इस वरदान को देने में सक्षम नहीं हैं तो यह वरदान दीजिए कि आज के दिन जो भाई बहन के घर भोजन करे और मथुरा के विश्राम घट पर यमुना के जल में स्नान करे उस व्यक्ति को यमलोक नहीं जाना पड़े। तब से ही यह प्रथा बन गई कि आज के दिन भाई अपनी बहनों के घर जाते हैं और उनसे टिका कराते हैं ताकि उनकी आयु बढ़े। प्रेम और त्याग का यह पर्व उत्तर भारत में बहुत ज्यादा लोकप्रिय है। आज हर भाई के मस्तक पर बहनें टीका करती हैं और उनकी लंबी आयु और तरक्की की कामना करती हैं।

    जानिए भाई-दूज के प्यार भरे संदेश

    • बहनें लगाती तिलक... बहनें लगाती तिलक, मिठाई है खिलाती भाई देता पैसे बहन है मुस्कुराती हैप्पी भईया दूज।
    • बहन चाहे भाई का प्यार नहीं चाहिए महंगा उपहार रिश्ता अटूट रहे सदियों तक मिले मेरे भाई को खुशियां हजार भाई दूज की शुभकामनाएं।
    • खुशनसीब होती है वो बहन, जिसके सिर पर भाई का हाथ होता है; हर परेशानी में उसके साथ होता है, लड़ना-झगडना फिर प्यार से मनाना, तभी तो इस रिश्ते में इतना प्यार होता है। भाई दूज की शुभकामनाएं।!
    • भाई दूज का है आया है शुभ त्यौहार; बहनों की दुआएं भाइयों के लिए हज़ार; भाई बहन का यह अनमोल रिश्ता है बहुत अटूट; बना रहे यह बंधन हमेशा खूब। भाई दूज की शुभ कामनाएं।!

    यह पढ़ें:Yama Dwitiya or Bhai Dooj 2020: भाई-दूज आज, जानिए तिलक करने का शुभ मुहूर्त और 'यमी' की कथा'

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Shubh Muhurat to perform Bhai Dooj rituals will start at 1.10 PM and it will stay till 3.18 pm.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X