• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भाजपा ने CAA के विरोधियों को दिया चैलेंज, पूछा- बताएं कितने भारतीय होंगे प्रभावित?

|

बेंगलुरू। कर्नाटक की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार ने उन लोगों पर निशाना साधा है जो नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का विरोध कर रहे हैं। भाजपा ने इन लोगों से पूछा है कि बताओ इस कानून से कितने भारतीय प्रभावित होंगे। इसे लेकर भाजपा ने ट्वीट किया है और सीएए विरोधियों ये सवाल पूछते हुए उन्हें चुनौती दी है।

bjp, caa, citizenship amendment act, delhi, karnataka, karnataka bjp, challenge, caa opponents, caa protest, protest against caa, prime minister narendra modi, pm modi, narendra modi, home minister, amit shah, government, karnataka government, भाजपा, सीएए, नागरिकता संशोधन कानून, विरोध प्रदर्शन, प्रदर्शन, कर्नाटक, कर्नाटक भाजपा, चुनौती, सरकार, नरेंद्र मोदी, पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, अमित शाह

कर्नाटक भाजपा ने बुधवार को ट्वीट किया, 'प्रिय सीएए के विरोधियों, कृपया उन भारतीय नागरिकों की सूची दें जो इस मानवीय कानून से प्रभावित होंगे। इसके साथ ही कृपया ये भी बताएं कि वो कैसे प्रभावित होंगे। हम आपको चुनौती देते हैं कि आप एक भी नाम नहीं बता पाएंगे।'

बता दें भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार बीते साल दिसंबर माह में नागरिकता संशोधन कानून लेकर आई। इस कानून के तहत तीन पड़ोसी देश, पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आए उत्पीड़न के शिकार छह गैर मुस्लिम समुदाय के लोगों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है। इससे पहले इसका बिल भी संसद के दोनों सदनों में पास हुआ था।

हालांकि सीएए के आने के बाद से कई राजनीतिक पार्टियों समेत छात्रों ने देशभर में प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। दिल्ली के शाहीन बाग में बीते दिसंबर माह से अभी तक प्रदर्शन जारी है। इसके अलावा उत्तरपूर्वी पश्चिम बंगाल और दक्षिण भारत स्थित राज्यों में भी काफी हिंसक विरोध प्रदर्शन हुए हैं। हालांकि सरकार ने साफ तौर पर कह दिया है कि वह इस कानून को वापस नहीं लेगी।

केंद्रीय मंत्री और भाजपा के कई नेताओं ने तो सीएए के समर्थन में कई रैलियां भी की हैं। इनका कहना है कि विपक्षी पार्टियां गलत जानकारी देकर लोगों को गुमराह कर रही हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह भी कह चुके हैं कि ये कानून भारत के नागरिकों को किसी भी तरह प्रभावित नहीं करेगा। सरकार इस कानून को इसलिए लाई है ताकि पड़ोसी देशों से आए उत्पीड़न के शिकार अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता मिलना आसान हो जाए।

अयोध्या के मुस्लिमों ने राम मंदिर ट्रस्ट से पूछा, 'क्या कब्रिस्तान पर बनेगा राम मंदिर'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
karnataka bjp throws challenge to citizenship amendment opponents, said furnish the list of those Indian Citizens.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X