• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

महाराष्ट्र: शपथ ग्रहण के अगले ही दिन कांग्रेस ने एनसीपी-शिवसेना के सामने रख दी 'नई डिमांड'

|
Google Oneindia News
    Maharashtra: tussle for top fortfolios contiues between Shiv Sena, NCP and Congress। वनइंडिया हिंदी

    मुंबई। महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना ने उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में मिलकर सरकार बनाई है। गुरुवार को उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली जबकि तीनों दलों के दो-दो नेताओं ने भी मंत्रीपद की शपथ ली। समझौते के मुताबिक, डिप्टी सीएम का पद एनसीपी के पास रहेगा जिसके लिए किसी नाम पर अभी मुहर नहीं लग पाई है। लेकिन इस बीच खबर आ रही है कि गठंबधन सरकार में तीसरी पार्टी कांग्रेस ने अब डिप्टी सीएम पद पर अपना दावा ठोक दिया है। इसके अलावा कांग्रेस ने एनसीपी-शिवसेना के सामने एक और मांग रखी है।

    कांग्रेस ने डिप्टी सीएम के पद पर ठोका दावा

    कांग्रेस ने डिप्टी सीएम के पद पर ठोका दावा

    शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस सरकार में सभी सहयोगियों को संतुष्ट करना मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के लिए बड़ी चुनौती हो सकती है। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, कई दौर की बैठकों के बावजूद नए कैबिनेट में विभागों के बंटवारे पर बात नहीं बन पाई है। एक कांग्रेस नेता के मुताबिक, 'सभी दलों ने गृह मंत्रालय, वित्त, शहरी विकास, राजस्व, हाउसिंग और को-ऑपरेशन मंत्रालय पर अपना दावा किया है। इस कारण अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया जा सका है।'

    ये भी पढ़ें:गिरिराज सिंह का शिवसेना पर तीखा हमला, 'अब शिवसैनिक को प्रभु राम का नाम लेने के लिए भी 10 जनपथ पर नाक रगड़नी पड़ेगी'ये भी पढ़ें:गिरिराज सिंह का शिवसेना पर तीखा हमला, 'अब शिवसैनिक को प्रभु राम का नाम लेने के लिए भी 10 जनपथ पर नाक रगड़नी पड़ेगी'

    मांगा एक और अतिरिक्त कैबिनेट बर्थ- सूत्र

    मांगा एक और अतिरिक्त कैबिनेट बर्थ- सूत्र

    कांग्रेस नेता ने उम्मीद जताई कि शरद पवार इस मामले में दखल देंगे। कांग्रेस नेता ने कहा, पार्टी चाहती है कि सभी मुद्दों का समयबद्ध तरीके से हल निकाला जाए, ताकि नई सरकार में जल्द से जल्द काम शुरू हो सके। सूत्रों के मुताबिक, पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण के स्पीकर का पद लेने से इनकार करने के बाद, कांग्रेस ने डिप्टी सीएम के पद पर अपना दावा ठोका है और साथ ही एक अतिरिक्त कैबिनेट बर्थ की मांग भी की है। पृथ्वीराज चव्हाण ने भी पुष्टि की है कि वे स्पीकर ना बनने की अपनी इच्छा के बारे में प्रदेश अध्यक्ष बालासाहेब थोराट को सूचित कर चुके हैं।

    अशोक चव्हाण को कैबिनेट में ना शामिल करने पर भी सवाल

    अशोक चव्हाण को कैबिनेट में ना शामिल करने पर भी सवाल

    वहीं, चव्हाण के करीबी सूत्रों का कहना है कि उनका मानना है पूर्व सीएम को स्पीकर का पद नहीं लेना चाहिए जोकि सीएम पोस्ट के बराबर नहीं है। वे इस ऑफर को स्वीकार नहीं करेंगे। जबकि अशोक चव्हाण को कैबिनेट में शामिल ना करने पर भी कांग्रेस नेता ने सवाल उठाए। नाम ना बताने की शर्त पर इस कांग्रेस नेता ने कहा कि हमारा मानना है कि पृथ्वीराज चव्हाण और अशोक चव्हाण को कैबिनेट में शामिल किया जाना चाहिए था। इस कांग्रेस नेता ने कहा कि पार्टी ने एनसीपी और शिवसेना को साफ कर दिया है कि स्पीकर के पद पर दावा छोड़ने के बाद अब उनको डिप्टी सीएम का पद और कैबिनेट में अतिरिक्त बर्थ दिया जाए।

    स्पीकर का पद लेने से पृथ्वीराज चव्हाण का इनकार

    स्पीकर का पद लेने से पृथ्वीराज चव्हाण का इनकार

    उन्होंने कहा, 'जब मंत्रिमंडल के स्वरूप को लेकर बातचीत चल रही थी, तब यह फैसला लिया गया कि दो डिप्टी सीएम होंगे, जिनमें से एक कांग्रेस का और दूसरा एनसीपी से होगा, जबकि स्पीकर का पद कांग्रेस को दिया जाएगा। लेकिन एनसीपी के कहने पर कांग्रेस ने स्पीकर पद पर दावा छोड़ दिया है। कांग्रेस नेता ने कहा, 'बदली परिस्थितियों में थोराट को डिप्टी सीएम नामित किया जा सकता है और चव्हाण को एआईसीसी में समायोजित किया जा सकता है या फिर कैबिनेट में शामिल किया जा सकता है, बशर्ते उन्हें एक प्रमुख पोर्टफोलियो दिया जाए।'

    English summary
    just after uddhav thackeray's swearing-in congress demands deputy cm and more cabinet berth
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X