• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Farmers Protest: सोनिया गांधी ने मोदी सरकार को बताया अहंकारी, कहा-50 किसानों की मौत पर भी नहीं पसीजा दिल

|

नई दिल्ली। Farmers Protest updates. केंद्र सरकार के तीन कृषि(farm laws) कानूनों के खिलाफ पिछले एक महीने से दिल्ली (delhi border) के अलग-अलग बॉर्डर पर किसान संगठनों का विरोध प्रदर्शन (farmers protest) जारी है। कांग्रेस(congress) अध्यक्ष सोनिया गांधी(Sonia Gandhi) ने रविवार को किसानों के समर्थन में बयान जारी कर केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि, देश की आजादी के बाद से पहली बार ऐसी अहंकारी सरकार सत्ता में आयी है, जिसे अन्नदाताओं की पीड़ा दिखाई नहीं दे रही है। सोनिया गांधी ने इसके अलावा किसानों की मौत का भी मामला उठाया है।

Congress Interim President Sonia Gandhi on farmers protest farm laws modi govt
    Farmer Protests: Sonia Gandhi ने कहा- 50 किसानों की गई जान, नहीं पसीजा सरकार का दिल | वनइंडिया हिंदी

    सोनिया गांधी ने अपने बयान में कहा, कंपकपाती ठंड और बरसात में दिल्ली की सीमाओं पर अपनी मांगों के समर्थन में 39 दिनों से संघर्ष कर रहे अन्नदाताओं की हालत देखकर देशवासियों सहित मेरा मन भी बहुत व्यथित है। आंदोलन को लेकर सरकार की बेरुखी के चलते अब तक 50 से अधिक किसान जान गंवा चुके हैं। कुछ ने तो सरकार की उपेक्षा के चलते आत्महत्या जैसा कदम भी उठा लिया, लेकिन बेरहम मोदी सरकार का न तो दिल पसीजा और न ही आज तक प्रधानमंत्री या किसी भी मंत्री के मुंह से सांत्वना का एक शब्द निकला।

    सोनिया ने कहा, मैं सभी दिवंगत किसान भाईयों के प्रति अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए प्रभु से उनके परिजनों को यह दुख सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना करती हू। उन्होंने कहा, आज़ादी के बाद देश में यह पहली ऐसी अहंकारी सरकार सत्ता में आई है जिसे देश का पेट भरने वाले अन्नदाताओं की पीड़ा और संघर्ष भी दिखाई नहीं दे रहा। उन्होंने आरोप लगाया, लगता है कि मुट्ठी भर उद्योगपति और उनका मुनाफ़ा सुनिश्चित करना ही इस सरकार का मुख्य एजेंडा बनकर रह गया है।

    सोनिया गांधी ने कहा कि, लोकतंत्र में जनभावनाओं की उपेक्षा करने वाली सरकारें और उनके नेता लंबे समय तक शासन नहीं कर सकते। अब यह बिल्कुल साफ है कि मौजूदा केंद्र सरकार की 'थकाओ और भगाओ की नीति के सामने आंदोलनकारी धरती पुत्र किसान मजदूर घुटने टेकने वाले नहीं हैं। सोनिया गांधी ने कहा, अब भी समय है कि (नरेंद्र) मोदी सरकार सत्ता के अहंकार को छोड़कर तत्काल बिना शर्त तीनों काले क़ानून वापस ले और ठंड एवं बारिश में दम तोड़ रहे किसानों का आंदोलन समाप्त कराए। यही राजधर्म है और दिवंगत किसानों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि भी। उन्होंने कहा कि (केंद्र की) मोदी सरकार को यह याद रखना चाहिए कि लोकतंत्र का अर्थ ही जनता एवं किसान-मज़दूरों के हितों की रक्षा करना है।

    मध्य प्रदेश में पत्थरबाजों पर नकेल कसने की तैयारी में शिवराज सरकार, लाएगी सख्त कानून

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Congress Interim President Sonia Gandhi on farmers protest farm laws modi govt
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X